--Advertisement--

मांगों को लेकर सड़क पर उतरे शिक्षक

जिलेभर से आए शिक्षक रैली के रूप में कलेक्टोरेट परिसर पहुंचे और कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। भास्कर संवाददाता |...

Dainik Bhaskar

Jul 19, 2018, 04:05 AM IST
मांगों को लेकर सड़क पर उतरे शिक्षक
जिलेभर से आए शिक्षक रैली के रूप में कलेक्टोरेट परिसर पहुंचे और कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा।

भास्कर संवाददाता | झाबुआ

अपनी मांगों और समस्याओं काे लेकर जिले के सैकड़ों शिक्षक बुधवार को सड़क पर उतर आए। पहले धरना दिया फिर रैली निकालकर कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणाएं भी याद दिलाई। इस दौरान एम शिक्षा मित्र एप का भी विरोध किया गया।

एम शिक्षा मित्र एप के विरोध में सभी शिक्षक एक हो गए हैं। राणापुर और रामा विकासखंड में पहले ही इसके लिए रखे गए प्रशिक्षण का बहिष्कार कर चुके हैं। बुधवार को दिए गए ज्ञापन में भी सभी इसके विरोध में एक नजर आए। करीब छह शिक्षक संगठनों के पदाधिकारियों ने भी इसके विरोध में आवाज उठाई। मप्र शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष अनिल कोठारी ने कहा कई ऐसी शालाएं है जहां नेटवर्क नहीं मिलता। इसलिए ई-अटेंडेंस लगाना मुश्किल है। संघ के सचिव कालूसिंह परमार ने बताया रामा विकासखंड के हायर सेकंडरी स्कूल पिथनपुर में नेटवर्क ही नहीं मिलता तो शिक्षक कैसे अटेंडेंस लगाएगा। इसके अलावा माध्यमिक व प्राथमिक विद्यालय बेहड़ी, प्राथमिक विद्यालय दात्याघाटी, प्राथमिक विद्यालय छापरी रणवास में भी यही हालत है। इसके अलावा संयुक्त शिक्षक मोर्चा ने भी अपनी मांगे रखी। उन्होंने कहा नियमानुसार सीनियर प्राचार्य को झाबुआ विकासखंड शिक्षा अधिकारी का प्रभार दिया जाए। एपीसी व बीआरसी क आदेश राज्य शिक्षा केंद्र विज्ञापन के अनुसार शीघ्र जारी किए जाएं। उन्होंने बताया सातवें वेतनमान के एरियर की प्रथम किस्त का भुगतान अब तक नहीं हुआ है। इसी विकासखंड के शिक्षकों को वेतन माह की 1 तारीख को मिल जाए।

नारेबाजी करते हुए पहुंचे कलेक्टोरेट कार्यालय

दोपहर करीब एक बजे मध्यप्रदेश शिक्षक संघ और संयुक्त शिक्षक मोर्चा के बैनर तले स्थानीय अम्बेडकर पार्क पर धरना दिया गया। इसके बाद यहां से नारेबाजी करते हुए रैली निकाली जो राजगढ़ नाके से पुन: कलेक्टर कार्याल पहुंची। यहां पहले जमकर नारेबाजी की गई इसके बाद कलेक्टर आशीष सक्सेना को मुख्यमंत्री के नाम मांगों का ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कहा मुख्यमंत्री की घोषणानुसार अब तक समस्याओं का निराकरण नहीं हो पाया है। शिक्षकों ने कहा अधिकारियों द्वारा समस्याओं को लंबित रखा जा रहा है। ज्ञापन देते वक्त मप्र शिक्षक संघ संविदा शाला शिक्षक संघ, आजाद अध्यापक संघ, शासकीय अध्यापक संघ, राज्य अध्यापक संघ आदि के पदाधिकारी मौजूद थे।

X
मांगों को लेकर सड़क पर उतरे शिक्षक
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..