झाबुआ

--Advertisement--

संस्कार शाला में बच्चों को धोती बांधने का तरीका समझाया

गायत्री मंदिर बसंत कॉलोनी पर हर सप्ताह लगेगी शाला भास्कर संवाददाता | झाबुआ बसंत कॉलोनी स्थित गायत्री मंदिर...

Dainik Bhaskar

Aug 13, 2018, 04:30 AM IST
गायत्री मंदिर बसंत कॉलोनी पर हर सप्ताह लगेगी शाला

भास्कर संवाददाता | झाबुआ

बसंत कॉलोनी स्थित गायत्री मंदिर पर अब हर सप्ताह संस्कार शाला लगेगी। छह आचार्यों व सामाजिक संगठन के पदाधिकारियों ने रविवार से इसकी शुरुआत की। हर आयु वर्ग का व्यक्ति इसमें शामिल हो सकता है। प्रति रविवार एक घंटे तक वक्ताओं द्वारा विभिन्न जानकारियां दी जाएगी।

आयोजन संस्कार भारती इकाई झाबुआ आजाद संस्था द्वारा किया जा रहा है। शुभारंभ नगर के प्रतिष्ठित आचार्य विनोद जायसवाल, पं. जैमिनी शुक्ल, पं. कमलेश व्यास. पं. दीपक शर्मा, पं. एसएस पुरोहित, पं. द्विजेंद्र व्यास व शहर की वरिष्ठ मिथिलेश जायसवाल, पतंजलि योग समिति प्रमुख रुक्मिणी वर्मा ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। इस दौरान दीप मंत्र शारदा कुमावत व शशिकला त्रिवेदी ने किया। सरस्वती वंदना निराश्रित आश्रम महिला मंडल व झाबुआ पब्लिक शाला के सभी बच्चों ने सामूहिक रूप से की। पहले दिन आयोजन के मुख्य प्रकल्प पारंपरिक धोती को पहनना सिखाया गया। सभी बच्चों को आचार्यों ने बारी बारी से धोती पहनने का तरीका बताया। बच्चों ने कुछ ही देर में धोती पहनना सीख लिया। इसके साथ ही उन्हें गायत्री मंत्र व शांति पाठ कराया। राष्ट्रगीत का गायन किया गया। संस्था अध्यक्ष भारती सोनी ने बताया प्रति रविवार सुबह 10 बजे से 11 बजे तक इस शाला का आयोजन होगा। जिसमें सभी आयु वर्ग के लोगों को नैतिक मूल्यों, अध्यात्म व सकारात्मक ऊर्जा के लिए कार्य की शिक्षा निःशुल्क आचार्यों द्वारा दी जाएगी। संस्था के मंत्री वीरेंद्र ठाकुर ने भी विचार रखे। लीला त्रिवेदी, तिलोत्तमा ठाकुर, नेहा आचार्य, प्रदीप अरोरा, शबनम कादरी, प्रिया सारोलकर, आशा त्रिवेदी, निहारिका, श्रद्धा जैन, मुन्नी बेन सहित बच्चे मौजूद थे। संचालन प्रदीप ओएल जैन ने किया। आभार संस्था की ज्योति त्रिवेदी ने माना।

X
Click to listen..