Hindi News »Madhya Pradesh »Jhabua» बस स्टैंड मार्ग पर फल वालों का कब्जा, ऑटो चालकों की वजह से भी परेशानी

बस स्टैंड मार्ग पर फल वालों का कब्जा, ऑटो चालकों की वजह से भी परेशानी

शहर के बस स्टैंड पर आ रही समस्याओं को लेकर मप्र चालक-परिचालक कल्याण संघ के जिलाध्यक्ष राजेश तिवारी ने मंगलवार को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 04, 2018, 05:10 AM IST

बस स्टैंड मार्ग पर फल वालों का कब्जा, ऑटो चालकों की वजह से भी परेशानी
शहर के बस स्टैंड पर आ रही समस्याओं को लेकर मप्र चालक-परिचालक कल्याण संघ के जिलाध्यक्ष राजेश तिवारी ने मंगलवार को जनसुनवाई में आवेदन दिया। उन्होंने बताया बस स्टैंड तक आने वाला मार्ग काफी संकरा है, इसके बाद भी आसपास फल वाले दुकान लगा रहे हैं। इससे बस निकालने में परेशानी का सामना करना पड़ता है। उन्होंने फल विक्रेताओं को यहां से हटाने की मांग की। साथ ही बताया जैसे ही बस स्टैंड पर बस आती है यहां खड़े रहे वाले ऑटो चालक बस के आसपास पहुंच जाते हैं। इसके कारण यातायात बाधित होता है। तिवारी ने कलेक्टर से बस स्टैंड का मुआयना करने का भी आग्रह किया, ताकि वे भी परेशानियों रूबरू हो सके।

शांतिलाल पिता रामाजी सेन निवासी राणापुर ने बताया इसके नाम से ग्राम छायन सेमलखेड़ी के सर्वे क्रमांक 322 व रकबा 0.946 है। जिस पर वह चार वर्षों से खेती कर रहा है। उसने कलेक्टर बताया गांव के ही विपक्षी प्रेमसिंह पिता दल्ला नायक व पटोली बाई पति वरदीचंद नायक निवासी राणापुर मेरी भूमि हड़पने की कोशिश करते हैं। आए दिन मुझसे झगड़ा करते हैं। उसने बताया तहसील न्यायालय में प्रकरण भी चला था। जिसमें तहसीलदार ने शांतिलाल को खेत में जाने के लिए 10 फीट का रास्ता देने का आदेश दिया था। लेकिन विपक्षी आदेश का पालन नहीं कर रहे हैं। विपक्षियों ने रास्ते पर नाली खुदवाकर बंद कर दिया है। शांतिलाल ने मामले के निराकरण की मांग कलेक्टर से की। इसी तरह शहर के सरदार भगतसिंह मार्ग में रहने वाले भावेश सोलंकी ने राधाकृष्ण मार्ग स्थित स्टेशनरी संचालक की शिकायत की। उसने कहा जब वे दुकान पर पहुंचा तो संचालक ने उसे मांगी गई पुस्तकें नहीं दी। बल्कि पूरा कोर्स लेने का दबाव बनाया।

पड़ाेसियों ने प्रधानमंत्री आवास की छत तोड़ी

दिलीप पिता नानक अमलियार निवासी रातीतलाई का प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत हुआ था। वह अपनी पट्‌टे की जमीन पर मकान बना रहा था। गत मई माह में अनसिंह है ने मकान की छत डाली थी, लेकिन 16 मई को पड़ोस में रहने वाले अनसिंह मकवाना व छह अन्य लोग आए और गैंती और सब्बल से छत गिरा दी। मामले में कार्रवाई की मांग को लेकर उसने 29 मई को कलेक्टोरेट में आवेदन दिया था लेकिन निराकरण नहीं हो पाया। मंगलवार को वह पुन: जनसुनवाई में पहुंचा।

पिता ने लगाई प्रवेश की गुहार, कलेक्टर ने दी सहमति

नारेला निवासी वेस्ता ने पुत्रियों की पढ़ाई के लिए छात्रावास में प्रवेश के लिए आवेदन दिया। वेस्ता ने जनसुनवाई में बताया कि बच्चियों की मां उनके साथ नहीं रहती है। बच्चियों की पढ़ाई अच्छे से हो पाए इसलिए बेटी केंद्रा, निरमा एवं आरती को आश्रम मे प्रवेश दिलवाने के लिए आवेदन दिया। इस पर कलेक्टर ने डीपीसी को बच्चियों को कस्तूरबा गांधी कन्या आश्रम में प्रवेश दिलाने के आदेश दिए।

कलेक्टर को जनसुनवाई में समस्या बताते चालक-परिचालक संघ के जिलाध्यक्ष।

यह भी आए आवेदन

गडवाड़ा निवासी अंजु पिता सिंगु भूरिया ने शहर की एक निजी स्कूल की शिकायत की। उसने कहा पहले मुझे कक्षा 9वीं में एडमिशन देने के लिए फीस ले ली, लेकिन कुछ दिनों बाद फीस लौटाकर कहा एडमिशन नहीं मिलेगा। गोपालपुरा के पंचायत फलिये के निवासियों ने खराब हैंडपंप ठीक करवाने के लिए आवेदन दिया।

झितरा पिता कालू निवासी उकालाफलिया अलस्याखेड़ी (पेटलावद) ने विपक्षी के कब्जे से जमीन वापस दिलवाने के लिए आवेदन दिया। ग्राम पिपलिया ईशगढ़ के गंुडिया फलिये के ग्रामीणों ने पहुंच मार्ग के लिए रास्ता दिलवाने की मांग की।

हिमसिंह परमार निवासी खडकुई ने शासकीय कन्या आश्रम खडकुई में चौकीदार के रिक्त पद पर अंशकालीन मजदूरी कार्य के लिए नियुक्ति के लिए आवेदन दिया। सोनू पति गिरीश गुर्जर करडावद बडी ने बीपीएल का राशनकार्ड बनवाने के लिए आवेदन दिया।

सीनू पिता अरवन निवासी पिपलखूंटा ने आर्थिक सहायता स्वीकृत होने के बाद भी शैल्बी हॉस्पिटल इंदौर के द्वारा इलाज नहीं करने की शिकायत की। अमरसिंग निवासी बाछीखेड़ा ने पुत्री का प्राइवेट विद्यालय में पढ़ाई के लिए एडमिशन का आवेदन दिया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jhabua

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×