• Hindi News
  • Rajya
  • Madhya Pradesh
  • Jhabua
  • भरण पोषण अधिनियम के फ्लैक्स थाने व अस्पताल में लगवाएं : कलेक्टर

भरण-पोषण अधिनियम के फ्लैक्स थाने व अस्पताल में लगवाएं : कलेक्टर / भरण-पोषण अधिनियम के फ्लैक्स थाने व अस्पताल में लगवाएं : कलेक्टर

Jhabua News - भरण-पोषण अधिनियम के फ्लैक्स थाने व अस्पताल में लगवाएं : कलेक्टर झाबुुआ | भरण-पोषण अधिनियम की जिला स्तरीय समिति की...

Bhaskar News Network

Jul 26, 2018, 03:00 PM IST
भरण-पोषण अधिनियम के फ्लैक्स थाने व अस्पताल में लगवाएं : कलेक्टर
भरण-पोषण अधिनियम के फ्लैक्स थाने व अस्पताल में लगवाएं : कलेक्टर

झाबुुआ | भरण-पोषण अधिनियम की जिला स्तरीय समिति की बैठक की कलेक्टर आशीष सक्सेना ने ली। निर्देश दिए कि वरिष्ठ जन भरण-पोषण अधिनियम के व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए ग्रामीण क्षेत्र में सभी थानों, स्वास्थ्य संस्थाओं तथा अस्पतालों में फ्लैक्स लगवाएं। ऐसे बुजुर्ग जिनकी संतान माता-पिता का भरण-पोषण नहीं करते हैं, उनको बुलाकर समझाएं, फिर भी नही माने तो भरण-पोषण के लिए मासिक खर्च संतान से माता-पिता को दिलवाने के लिए आदेश करें।

सैन्य कॉलेज देहरादून में प्रवेश के लिए आवेदन 30 सितंबर तक

झाबुआ | राष्ट्रीय भारतीय सैन्य कॉलेज देहरादून (रक्षा मंत्रालय) में कक्षा 8वीं में प्रवेश के लिए केवल बालक विद्यार्थियों से 30 सितंबर 2018 तक आवेदन आमंत्रित किए जा रहे हैं। जुलाई 2019 के सत्र में प्रवेश के लिए परीक्षा देश के चुनिंदा स्थानों पर 1 और 2 दिसंबर 2018 को होगी। उम्मीदवार का जन्म 2 जुलाई 2006 से पहले और 1 जनवरी 2008 के बाद नहीं होना चाहिए। प्रवेश के समय उम्मीदवार किसी मान्यता प्राप्त विद्यालय में सातवीं कक्षा मे अध्ययनरत या सातवीं कक्षा पास कर चुका होना चाहिए।

इंटरनेट से डाउनलोड अंकसूची पर रजिस्ट्रार के साइन जरूरी

झाबुआ | बीएड समेत एनसीटीई से अप्रूव्ड अन्य कोर्स में एडमिशन लेने वाले छात्रों के पास ओरिजनल अंक सूची नहीं होने की समस्या आ रही है। एडमिशन प्रक्रिया में मूल अंकसूची मांगी जा रही है। इस बात को लेकर उच्च शिक्षा विभाग ने कॉलेज प्राचार्यों को निर्देश दिए हैं कि ऐसे स्टूडेंट्स जिनके पास ओरिजनल अंकसूची नहीं है, उन्हें इंटरनेट से ली गई अंकसूची को मान्य करें।

X
भरण-पोषण अधिनियम के फ्लैक्स थाने व अस्पताल में लगवाएं : कलेक्टर
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना