• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Jhabua News
  • बालसभा के मिलेंगे छात्रों को अंक, परीक्षा में भी जुड़ेंगे
--Advertisement--

बालसभा के मिलेंगे छात्रों को अंक, परीक्षा में भी जुड़ेंगे

हाई स्कूलों में एक बार फिर बाल सभाओं का दौर शुरू होने जा रहा है। शिक्षा विभाग ने कक्षा 9वीं व 10वीं के छात्रों को सतत...

Danik Bhaskar | Jul 26, 2018, 03:05 PM IST
हाई स्कूलों में एक बार फिर बाल सभाओं का दौर शुरू होने जा रहा है। शिक्षा विभाग ने कक्षा 9वीं व 10वीं के छात्रों को सतत एवं व्यापक मूल्यांकन के तहत माह के हर शनिवार को बाल सभाएं कराने के निर्देश जारी किए हैं। जुलाई से जनवरी तक होने वाली इन बाल सभाओं की गतिविधियों के अंक छात्रों को दिए जाएंगे। इन अंकों को परीक्षाओं में जोड़ा जाएगा। शासन की मंशा है कि छात्र थ्योरी के साथ गतिविधि पूर्ण शिक्षा भी लें। ताकि प्रतिभा निखर सके। वार्षिक परीक्षा में भी छात्रों को अच्छे अंक मिल सकें।

बता दें कि माध्यमिक शिक्षा मंडल ने नवीन शिक्षा सत्र से पहले प्रायोगिक ( प्रैक्टिकल) के अंक बढ़ा कर 25 से 30 कर दिए। अब गतिविधि आधारिक शिक्षा के भी अंक शामिल कर दिए हैं। हाई स्कूलों में 9वीं व 10वीं के छात्रों को स्कूल में आयोजित होने वाली बाल सभाओं में गतिविधि दिखानी होगी। हर बालसभा 10 अंक की होगी। यानी छात्र के एक बालसभा में 10 अंक अर्जित करने का मौका मिलेगा। जुलाई से जनवरी तक होने वाली बाल सभाओं में छात्र लगभग 280 अंक पा सकते हैं। गतिविधि आधारित इस परीक्षा में प्राप्त कुल अंकों के 20 फीसदी अंक वार्षिक परीक्षा परिणाम में जोड़े जाएंगे।

कैलेंडर भी किया जारी : शासन ने इसके लिए कैलेंडर भी जारी कर दिया है। छात्रों को निर्धारित विषय पर लेखन,आशुभाषण, प्रश्नोत्तरी, कला, लघु नाटक आदि गतिविधियां करनी होगी। जुलाई के लिए संबल भारत, अगस्त के लिए गौरवमयी भारत, सितंबर के लिए प्रखर भारत, अक्टूबर में प्रतिभाशाली भारत आदि विषय तय किए गए हैं। ईको क्लब, रेड क्रॉस, एनएसएस, एनसीसी, शाला स्तरीय खेल, बाल सांसद जैसे कार्यक्रमों को भी शामिल किया गया है।

सरकारी स्कूलों में माह के हर शनिवार को करानी होगी बाल सभा, प्रथम तीन कालखंड निर्धारित

ऐसे जुड़ेंगे अंक : 20 प्रतिशत का होगा लाभ

बता दें कि वर्तमान में छात्रों का वार्षिक परीक्षा परिणाम त्रैमासिक,अर्द्ध वार्षिक व वार्षिक परीक्षाओं के अंकों को शामिल किया जाता है। मसलन छात्र द्वारा त्रैमासिक व अर्द्ध वार्षिक परीक्षाओं में प्राप्त अंकों के 5- 5 प्रतिशत अंक वार्षिक परीक्षा में जोड़े जाते हैं। इसी प्रकार इन गतिविधियों में प्राप्त अंकों के 20 फीसदी अंक वार्षिक परीक्षा में जोड़े जाएंगे। मसलन किसी छात्र ने इन गतिविधियों में 150 अंक प्राप्त किए हैं तो वार्षिक परीक्षा परिणाम में उसके 20 प्रतिशत के हिसाब से 30 अंक इन गतिविधियों के जोड़े जाएंगे।

280 अंकों की होगी, वार्षिक में जुड़ेंगे 20 अंक

इस गतिविधियों के लिए शासन ने स्कूल के प्रथम तीन कालखंडों को तय किया है। यानी शुरू के तीन कालखंड में स्कूल को छात्रों की गतिविधियां आयोजित करानी हैं। हर सप्ताह की गतिविधि 10 अंकों की होगी। यह गतिविधियां हर शनिवार को हाई स्कूलों में आयोजित होनी है। यह लगभग 280 अंकों की होगी। इसमें प्राप्त अंकों के 20 फीसदी अंक वार्षिक परीक्षा में जुड़ेंगे।