जाे माता-पिता का आदर नहीं करता उससे भगवान प्रसन्न नहीं होते: रामा महाराज

Jhabua News - भास्करन संवाददाता | राणापुर संत आश्रम पर एक दिवसीय भागवत सत्संग गीता ज्ञान गंगा बही। साथ ही मातृ-पितृ पूजन दिवस...

Bhaskar News Network

Feb 14, 2019, 04:17 AM IST
Ranapur News - mp news god does not respect parents who do not respect parents rama maharaj
भास्करन संवाददाता | राणापुर

संत आश्रम पर एक दिवसीय भागवत सत्संग गीता ज्ञान गंगा बही। साथ ही मातृ-पितृ पूजन दिवस मनाया गया। आयोजन में पहुंचे श्रद्धालुओं को दिल्ली (फरीदाबाद) से आए रामा महाराज ने संबोधित किया। उन्होंने कहा जो इंसान अपने माता-पिता का आदर नहीं करता, उससे भगवान भी प्रसन्न नहीं होते। हमारे वेदों और संस्कारों में भी सर्वप्रथम मां को प्रणाम किया है।

माता-पिता वास्तव में सबसे बड़े देवता हैं। संस्कारों के बिना मनुष्य सतगुरु की शरण में नहीं पहुंच सकता। संस्कारों की शुरुआत माता-पिता से होती है। सभी धार्मिक तीर्थों का वास मां और देवताओं का वास पिता में होता है। जो इंसान अपने माता-पिता का आदर व लगन से सेवा करता है। उसे सभी तीर्थों का फल प्राप्त हो जाता है। इस अवसर पर विधायक गुमानसिंह डामोर, भाजपा के जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश शर्मा, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष कैलाश डामोर, पूर्व नप अध्यक्ष गोविंद अजनार, योग वेदांत सेवा समिति के जमुनालाल सोनी, छगनलाल प्रजापति, मदन वसुनिया, दीवान भूरिया, गुलाब अमलियार, मुकेश मेड़ा, पिजुलाल मेड़ा, प्रतापसिंह चौहान, रामेश्वर नायक, सोमसिंह सोलंकी मौजूद थे। रामा महाराज ने भारतीय संस्कृति के महत्व के साथ माता-पिता और गुरु का महत्व बताया। 14 फरवरी को वैलेंटाइन-डे की जगह मातृ-पितृ पूजन दिवस मनाने का आह्वान उन्होंने किया। इस दौरान युवा सेवा संघ ने रामा महाराज को आदिवासी संस्कृति वेशभूषा व तीर कमान तथा साफा बांधकर सम्मानित किया।

मातृ-पितृ दिवस पर भागवत सुनती छात्राएं व अन्य।

X
Ranapur News - mp news god does not respect parents who do not respect parents rama maharaj
COMMENT