जिले में उच्च शिक्षा की स्थिति बदहाल

Jhabua News - भास्कर संवाददाताद | आलीराजपुर आदिवासी बाहुल्य पिछले जिले में उच्च शिक्षा की स्थिति दयनीय और बदहाल है। जिले की...

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 04:15 AM IST
Petlawad News - mp news higher education situation in the district is bad
भास्कर संवाददाताद | आलीराजपुर

आदिवासी बाहुल्य पिछले जिले में उच्च शिक्षा की स्थिति दयनीय और बदहाल है। जिले की पांच तहसीलों में से चार तहसील आलीराजपुर, जोबट, सोंडवा और चंद्रशेखर आजाद नगर में चार शासकीय महाविद्यालय शासन द्वारा संचालित हो रहे हैं। लेकिन सिर्फ जिला मुख्यालय को छोड़कर अन्य तीन कॉलेज में सिर्फ एक एक सहायक प्राध्यापक ही अध्यापन कार्य करवा रहे हैं। हालत ये है कि इन तीन कॉलेज के विद्यार्थियों की परीक्षाएं भी जिला मुख्यालय पर आयोजित होती है। ऐसे में विद्यार्थियों और स्टॉफ को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। बावजूद इसके शासन द्वारा कॉलेज में पर्याप्त स्टॉफ और सुविधाएं बढ़ाने के लिए कभी ठोस निर्णय नहीं लिया गया। जैसा चल रहा है वैसा ही चलने देने की नीति अपनाई जा रही है।

स्टॉफ की कमी के बावजूद कर दिए तबादले

गौरतलब है कि जिला मुख्यालय में स्टॉफ की कमी के बावजूद गत दिनों गणित के सहायक प्राध्यापक रमेश भिंडे का तबादला पेटलावद कर दिया गया। काॅलेज के ऑफिशियल, टेक्निकल काम हो या अध्यापन कार्य हो वे सभी का जिम्मा उठाते हैं। यहां तक कि विधानसभा से लेकर लोकसभा चुनाव तक के प्रशिक्षण के मुख्य मास्टर ट्रेनर का कार्य भी वे बखूबी निभाते हैं। इसके अलावा राजनीति विज्ञान के सहायक प्राध्यापक बीएस सोलंकी का कुक्षी और वाणिज्य के यूसी गुप्ता का तबादला शिवपुरी कर दिया गया।

चारों काॅलेजों के एक से हाल.... कक्षाओं में प्रोफेसर नहीं, कैसे पूरी होगी पढ़ाई

किसी कॉलेज में नहीं हैं प्राचार्य

आलीराजपुर कॉलेज

पद स्वीकृत रिक्त

प्राचार्य 1 1

प्राध्यापक 2 2

सहा. प्राध्यापक 29 15

क्रिड़ा अधिकारी 1 1

ग्रंथपाल 1 1

हॉस्टल मैनेजर 1 1

मुख्य लिपिक 1 1

लेखापाल 1 0

सहायक वर्ग -2 1 0

सहायक वर्ग-3 2 2

तकनीशियन 8 3

भृत्य 3 1

स्वीपर 1 0

महाविद्यालय में पर्याप्त स्टॉफ नहीं, सुविधाओं का भी अभाव

उलेखनीय है कि आलीराजपुर महाविद्यालय में प्राचार्य, प्राध्यापक के 2, सहायक प्राध्यापक 15, क्रीड़ा अधिकारी, ग्रंथपाल, हाेस्टल मैनेजर जैसे महत्वपूर्ण पद रिक्त हैं। जबकि चंद्रशेखर आजाद नगर, सोंडवा और जोबट महाविद्यालय में भी ऐसे ही हालात हैं। हालांकि कॉलजों में शिक्षण कार्य गेस्ट फेकल्टी के सहारे जैसे तैसे संपादित कर लिया जाता है। वहीं कॉलजों में फर्नीचर सहित अन्य सुविधाओं का भी अभाव बना हुआ है। जबकि आलीराजपुर महाविद्यालय में क्षमता से अधिक 3589 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं। यहां प्रथम वर्ष के 1-1 हजार विद्यार्थियों को दोपहर और शाम की शिफ्ट में अध्यापन कार्य करवाया जाता है।

सोंडवा कॉलेज

पद स्वीकृत रिक्त

प्राचार्य 1 1

सहा. प्राध्यापक 11 10

क्रिड़ा अधिकारी 1 1

ग्रंथपाल 1 1

मुख्य लिपिक 1 1

लेखापाल 1 1

सहायक वर्ग-2 1 1

सहायक वर्ग-3 1 1

तकनीशियन 4 4

चंद्रशेखर आजादनगर कॉलेज

पद स्वीकृत रिक्त

प्राचार्य 1 1

सहा. प्राध्यापक 12 11

क्रिड़ा अधिकारी 1 1

ग्रंथपाल 1 1

परीक्षा आयोजित करना भी बन जाता है चुनौती, बरामदों में बैठाना पड़ता है

वहीं दूसरी और जिला मुख्यालय के लिए परीक्षा आयोजित करना भी किसी चुनौती से कम नहीं होता है। कॉलेज की परीक्षाएं 28 मार्च से शुरू होकर मई के पहले पखवाड़े तक आयोजित होगी। जबकि 3589 नियमित विद्याथिर्यों के अलावा शेष तीनों कॉलेज के 500 से अधिक और करीब 500 से अधिक प्रायवेट परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल होंगे। ऐसे में कॉलेज प्रबंधन को व्यवस्था करने में पसीने छूट जाते हैं। कॉलेज ऑडिटोरियम से लेकर बरामदों तक में परीक्षार्थियों को बैठाया जाता है।

कन्या, कृषि और विधि महाविद्यालय की दरकार: उल्लेखनीय है कि जिला मुख्यालय पर कन्या, कृषि और विधि महाविद्यालय की मांग लंबे समय से विद्यार्थियों द्वारा की जा रही है। कई बार जनप्रतिनिधि इस संबंध में घोषणाएं भी कर चुके हैं और आश्वासन भी दे चुके हैं। यदि कन्या महाविद्यालय भी खुल जाए तो जिला मुख्यालय के कॉलेज पर दबाव कम होगा और छात्राओं को भी अध्यापन में सुविधा होगी।

जोबट कॉलेज

पद स्वीकृत रिक्त

प्राचार्य 1 1

सहा. प्राध्यापक 13 9

क्रिडा अधिकारी 1 1

ग्रंथपाल 1 1

मुख्य लिपिक 1 0

लेखापाल 1 1

सहायक वर्ग-2 1 0

भृत्य 2 1

चौकीदार 1 0

पद स्वीकृत रिक्त

मुख्य लिपिक 1 1

लेखापाल 1 1

सहायक वर्ग-3 1 0

बुक लिफ्टर 1 0

X
Petlawad News - mp news higher education situation in the district is bad
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना