• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Jhabua
  • Jhabua News mp news the mp does not have the right to take a meeting before the oath different points from the officers the objection to the congress

शपथ के पहले सांसद को बैठक लेने का अधिकार नहीं, अफसरों से अलग-अलग की बात, कांग्रेस को आपत्ति

Jhabua News - कलेक्टर कक्ष में सांसद ने ली अधिकारियों की बैठक। ये औपचारिक बैठक नहीं थी। इसलिए बैठक के आदेश या निर्देश जारी...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:00 AM IST
Jhabua News - mp news the mp does not have the right to take a meeting before the oath different points from the officers the objection to the congress
कलेक्टर कक्ष में सांसद ने ली अधिकारियों की बैठक।

ये औपचारिक बैठक नहीं थी। इसलिए बैठक के आदेश या निर्देश जारी नहीं किए गए थे। सुबह 11 बजे का समय देकर अधिकारियों को बैठक में पहुंचने की अनौपचारिक सूचना फोन पर दी गई थी। 12 बजे से लेकर साढ़े तीन बजे तक एक-एक कर अधिकारियों को कलेक्टर कक्ष में बुलाया गया। अंदर किसी और को जाने की इजाजत नहीं थी। माना ये भी जा रहा है कि ये सांसद गुमानसिंह डामोर की गुरुवार को होने जा रही जिला योजना समिति की बैठक का होमवर्क था। उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों से योजनाओं और उनके क्रियान्वयन के संबंध में जानकारी ली। शुक्रवार की बैठक में सांसद सीधे तौर पर प्रभारी मंत्री सुरेंद्रसिंह बघेल से योजनाअों को लेकर सवाल करेंगे। भाजपा चाहती है कि जवाब नहीं मिले। ऐसा होता है तो पार्टी आगे चलकर कांग्रेस पर हावी हो सकती है।

बैठक लेते लेकिन तकनीकी पेंच है : ये सब अनौपचारिक इसलिए हुआ क्योंकि तकनीकी तौर पर गुमानसिंह डामोर अभी आधिकारिक तौर पर बैठक नहीं ले सकते। वो सांसद तो चुने जा चुके हैं लेकिन कार्यकाल सांसद के रूप में शपथ लेने के बाद से शुरू होगा। ये हो पाएगा लोकसभा सत्र शुरू होने पर। सांसद को सतर्कता एवं मूल्यांकन समिति यानि दीसा की बैठक लेने का अधिकार है। संभवत: बीच का रास्ता निकालते हुए औपचारिक बैठक नहीं रखी गई और कलेक्टर के कक्ष में अधिकारियों से मुलाकात कराई गई।

बैठक में आए अधिकारी अपनी बारी का इंतजार करते रहे।

आज योजना समिति की बैठक

तीन महीने बाद जिला योजना एवं समन्वय समिति की बैठक रखी गई है। शुक्रवार की बैठक में प्रभारी मंत्री शामिल होंगे। नई सरकार में अभी तक जो बैठकें हुई उनमें जनप्रतिनिधि सत्ताधारी दल के ही थे। इस बार सांसद भाजपा के रहेंगे। ऐसे में हंगामा और सवाल-जवाब कड़े होंगे। इसमें सबसे ज्यादा अधिकारियों को जवाब देना भारी पड़ेगा।

ये बोले सांसद और कलेक्टर

औपचारिक मुलाकात थी, योजनाओं के बारे में पूछा


कोई बैठक नहीं थी, मैंने ही अधिकारियों से चर्चा की


कलेक्टर ने एेसा किया ताे ये गलत है


Jhabua News - mp news the mp does not have the right to take a meeting before the oath different points from the officers the objection to the congress
X
Jhabua News - mp news the mp does not have the right to take a meeting before the oath different points from the officers the objection to the congress
Jhabua News - mp news the mp does not have the right to take a meeting before the oath different points from the officers the objection to the congress
COMMENT