पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Meghnagar News Mp News With 25 Years Of Hard Work The Woman Provided Employment To Husband Son And Daughter In Law With Herself

25 वर्षों की कड़ी मेहनत से महिला ने खुद के साथ पति, बेटे और बहुओं को दिलाया रोजगार

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

महिलाएं अगर ठान ले तो अपने घर और परिवार को संस्कारवान व समृद्धिशाली बना सकती है। इसी बात को नगर की अंगूरबाला झामर ने चरितार्थ किया है। उन्होंने 25 वर्षों की कड़ी मेहनत से खुद के साथ पति, दोनों पुत्र, दो बहुएं सहित आठ बालिकाओं को रोजगार से जोड़कर मिसाल कायम की है।

करीब 25 वर्ष पूर्व अंगूरबाला (60) ने साड़ियों की छोटी सी दुकान शुरू की थी। वे आर्थिक परेशानी से रही थी तो रिश्तेदारों ने भी मदद नहीं की।

अंगूरबाला बताती है तब मैं बहुत चिंतित थी। दोपहर में गुरुदेव उमेशमुनिजी के दर्शन करने गई। आंखों में आंसू थे, मैंने डरते-डरते गुरुदेव से कहा मेरे अच्छे दिन कब से आएंगे, तब गुरुदेव ने कहा आज से ही, पूछा कैसे तो गुरुदेव ने कहा सामायिक व धर्म आराधना करो और पूरे परिवार को भी करवाओ। उसी दिन से स्वयं व परिवारजनों को सामाजिक व धर्म आराधना से जोड़ा। धीरे-धीरे कपड़ा उधार मिलता गया। नगरवासी व रिश्तेदार जो मदद नहीं करते थे वह धीरे-धीरे मदद करने लगे। दोनों पुत्र सहयोगी बनते गए। कड़ी मेहनत का फल मिला। आज नगर के बस स्टैंड पर भव्य शोरूम है। इस व्यवसाय में पति सुभाष झामर, पुत्र जयेश, भावेश, पुत्रवधू सहित आठ बालिकाओं को रोजगार से जोड़ दिया है। अंगूरबाला प्रतिदिन रात्रि में दुकान का हिसाब लेती है। खरीदी-बिक्री की चर्चाएं करती है। अंगूरबाला ने कहा मैंने दुख के समय धैर्य रखा। आने वाले प्रत्येक ग्राहक का सम्मान किया। गलत चीज किसी भी ग्राहक को नहीं दी।

मेघनगर. नगर में अंगूरबाला चलाती हैं कपड़ों की बड़ी दुकान।
खबरें और भी हैं...