Hindi News »Madhya Pradesh »Kailaras» ग्वालियर व जौरा रोड पर नहीं बनाए नए स्टैंड 300 बसों की आवाजाही से बिगड़ रहा ट्रैफिक

ग्वालियर व जौरा रोड पर नहीं बनाए नए स्टैंड 300 बसों की आवाजाही से बिगड़ रहा ट्रैफिक

ग्वालियर व जौरा रोड पर दो नए बस स्टैंड बनाए जाने का काम एक साल बाद भी शुरू नहीं हुआ है। कलेक्टर ने इसके लिए जमीन का...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 02, 2018, 03:40 AM IST

ग्वालियर व जौरा रोड पर नहीं बनाए नए स्टैंड 300 बसों की आवाजाही से बिगड़ रहा ट्रैफिक
ग्वालियर व जौरा रोड पर दो नए बस स्टैंड बनाए जाने का काम एक साल बाद भी शुरू नहीं हुआ है। कलेक्टर ने इसके लिए जमीन का सर्वे कराया लेकिन नगर निगम ने उस संदर्भ में काम को अब तक आगे नहीं बढ़ाया है। बस स्टैंड नहीं बनने से बैरियर क्षेत्र की ट्रैफिक व्यवस्था बिगड़ी हुई है।

बैरियर के 35 साल पुराने बस स्टैंड से इन दिनों ग्वालियर, धौलपुर, अंबाह,पोरसा, भिंड तथा जौरा, कैलारस, सबलगढ़ व विजयपुर के लिए प्रतिदिन 300 बसों का संचालन हो रहा है। बसों के परमिट में पांच-पांच मिनट के गैप होने के कारण बसों की आवाजाही द्रुत रहती है। इसलिए ड्राइवर व कंडक्टर बसों को गंतव्य पर ले जाने के लिए ट्रेफिक सिस्टम से खिलवाड़ करने में देर नहीं लगाते हैं। इस आलम में बैरियर चौराहे पर आए दिन जाम के हालात रहते हैं। जिनमें पुलिस व प्रशासन के अफसर भी फंस जाते हैं लेकिन व्यवस्था को सुधारने के लिए अगले दिन कोई कदम नहीं उठाते।

उपनगरीय बस स्टैंड न बनने से बैरियर क्षेत्र में वाहनों का जाम लगता है।

ये है बस संचालन की स्थिति

मुरैना से जौरा, कैलारस, सबलगढ़, विजयपुर व श्योपुर के लिए प्रतिदिन 150 से अधिक बसों का संचालन हो रहा है।

मुरैना से ग्वालियर रूट पर रोजाना 60 से 70 बसें संचालित हैं। यही आलम मुरैना-धौलपुर रूट का है। वहां भी प्रतिदिन 15 से 20 बसों का संचालन हो रहा है।

मुरैना से अंबाह, पोरसा व भिंड के लिए भी प्रतिदिन 50-60 बसों का संचालन हो रहा है। बसों की फास्ट आवाजाही से शहर की ट्रैफिक व्यवस्था बिगड़ रही है।

ये था प्रशासन का प्लान

जिला प्रशासन ने छह माह पहले प्लान तैयार किया था कि बैरियर क्षेत्र को जाम की समस्या से मुक्ति दिलाने के लिए बैरियर बस स्टैंड को तीन हिस्सों में विभाजित किया जाना बेहतर होगा।

जौरा साइड की बसों के संचालन के लिए मुरैना गांव के पास नया उपनगरीय बस स्टैंड बनाया जाए। ग्वालियर साइड की बसों के लिए ग्वालियर रोड पर नए स्टैंड को तैयार किया जाए।

धौलपुर के यात्रियों के लिए बैरियर बस स्टैंड से यात्री वाहनों का संचालन कराया जाए। अंबाह व पोरसा की बसों का संचालन फाटक बाहर के उपनगरीय स्टैंड से कराया जाना उचित होगा।

पांच माह पहले चिह्नित की जमीन

पूर्व कलेक्टर विनोद शर्मा के निर्देश पर नगर निगम के कार्यपालन यंत्री केके शर्मा व पटवारी बंटी शर्मा ने जौरा साइड के नए बस स्टैंड के लिए जौरा रोड पर दो जगहों को देखकर उन्हें बस स्टैंड के लिए चिह्नित किया लेकिन उन जगहों का आवंटन अब तक बस स्टैंड के लिए नहीं किया जा सका है।

मुरैना गांव के मोड से दाऊजी मंदिर को जाने वाले रास्ते के पास चार बीघा सरकारी जमीन खाली पड़ी है। उसे बस स्टैंड के लिए चिह्नित किया था। साथ महर्षि विद्या मंदिर से पहले बाई तरफ दो बीघा जमीन को भी बस स्टैंड के लिए पसंद किया गया था।

ग्वालियर रोड पर नए बस स्टैंड के लिए सरकारी जमीन को देखा गया लेकिन उसे अभी तक फायनल नहीं किया गया है।

ट्रैफिक पुलिस की रुचि नहीं

नेशनल हाईवे सहित शहर की ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारने के लिए परिवहन विभाग के पास अमला नहीं है। तो ट्रैफिक पुलिस के अफसर कार्रवाई में दिलचस्पी नहीं ले रहे हैं। इस हाल में बेलगाम ट्रैफिक व्यवस्था से आए दिन ग्वालियर, जौरा,अंबाह व धौलपुर रोड पर दुर्घटनाएं घटित हो रही हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Kailaras News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: ग्वालियर व जौरा रोड पर नहीं बनाए नए स्टैंड 300 बसों की आवाजाही से बिगड़ रहा ट्रैफिक
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Kailaras

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×