Hindi News »Madhya Pradesh »Kailaras» 10 से 20 मीटर नीचे उतरा जलस्तर, अफसरों ने पानी संकट से निपटनेे नहीं किए इंतजाम

10 से 20 मीटर नीचे उतरा जलस्तर, अफसरों ने पानी संकट से निपटनेे नहीं किए इंतजाम

रामपुरकलां क्षेत्र में कुआं से पानी भरती महिलाएं। दो साल में 3 मीटर नीचे गया जलस्तर विकासखंड मई 2017 में मई 2016...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 08, 2018, 03:05 AM IST

10 से 20 मीटर नीचे उतरा जलस्तर, अफसरों ने पानी संकट से निपटनेे नहीं किए इंतजाम
रामपुरकलां क्षेत्र में कुआं से पानी भरती महिलाएं।

दो साल में 3 मीटर नीचे गया जलस्तर

विकासखंड मई 2017 में मई 2016 में पोरसा 36 मीटर 33मीटर

अंबाह 36मीटर 33मीटर

मुरैना 33मीटर 30मीटर

जौरा 36मीटर 33मीटर

पहाड़गढ़ 38मीटर 35मीटर

कैलारस 28मीटर 25मीटर

सबलगढ़ 28मीटर 25मीटर

79 में से चार नल-जल योजनाएं कर पाए चालू

मुरैना जिले की 79 नल-जल योजनाएं 20 साल से बंद हैं। बंद नल-जल योजनाओं को चालू कराने की कवायद बीते तीन साल से शासन व प्रशासन स्तर से की जा रही है। 2018 की अप्रैल बीत जाने तक लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अफसर 79 में से महज चार नल-जल योजनाओं को शुरू करा पाए हैं।

इनमें से एक पूर्व विधायक शिवमंगल सिंह तोमर के इलाके सिहौनियां की है। तीन नल-जल योजनाएं सबलगढ़ विधायक मेहरबान सिंह रावत के क्षेत्र के रूपा का तोर, गुरेमा व पहाड़ी की हैं। 75 नल-जल योजनाएं 15 जून तक पूर्णरूपेण चालू नहीं होने की स्थिति में हैं।

पेयजल संकट की भयावहता पर नजर डालें तो 2000 से अधिक हैंडपंपों ने पानी देना बंद कर दिया है। क्योंकि जलस्तर छह से आठ व 10 मीटर नीचे चला गया है। पीएचई के पास ना तो बढ़ाने के लिए राइजिंग पाइप पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं और ना ही हैंडपंपों में डालने के लिए सिंगल फेस मोटरें।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kailaras

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×