Hindi News »Madhya Pradesh »Kailaras» प्राचार्य बोले- 12 दिन बाद रिटायरमंेट, बाबू से 64 सेवा पुस्तिकाएं दिलाओ, नहीं तो रुक जाएगी पेंशन

प्राचार्य बोले- 12 दिन बाद रिटायरमंेट, बाबू से 64 सेवा पुस्तिकाएं दिलाओ, नहीं तो रुक जाएगी पेंशन

पोरसा के हायर सेकंडरी स्कूल में सहायक संचालक शिक्षकों से चर्चा करते हुए। हाईकोर्ट व कमिश्नर का आदेश भी दरकिनार...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 19, 2018, 03:40 AM IST

प्राचार्य बोले- 12 दिन बाद रिटायरमंेट, बाबू से 64 सेवा पुस्तिकाएं दिलाओ, नहीं तो रुक जाएगी पेंशन
पोरसा के हायर सेकंडरी स्कूल में सहायक संचालक शिक्षकों से चर्चा करते हुए।

हाईकोर्ट व कमिश्नर का आदेश भी दरकिनार

मिडिल स्कूल बिचौली का पुरा के शिक्षक जयप्रकाश दंडौतिया ने शिकायत की कि तत्कालीन चंबल आयुक्त एसडी अग्रवाल ने स्कूल निरीक्षण के दौरान उन्हें अकारण गैरहाजिर दर्शाकर 15 दिन का वेतन राजसात करा दिया था। हाईकोर्ट ने चंबल आयुक्त के आदेश को अपास्त कर दिया। नए आयुक्त ने जिला शिक्षा अधिकारी को वेतन जारी करने के आदेश जारी किए लेकिन जिला शिक्षा अधिकारी कार्यकाल ने सात मार्च 2017 के आदेश के बाद भी उनका वेतन नहीं दिया है।

आठ साल में नहीं निपटाई विभागीय जांच: सुरजनपुर का पुरा प्राइमरी स्कूल के शिक्षक दामोदर शर्मा का कहना है कि आठ साल पहले उन्हें सस्पेंड कर दिया था। लेकिन विभागीय जांच तक अब तक कंपलीट नहीं की है। इस कारण उन्हें पूरा वेतन नहीं मिल पा रहा है।

शिविरों के लिए बनाई कार्ययोजना

परिवेदना शिविरों की सरकार ने एक समयबद्ध कार्ययोजना तैयार की है। इस पहल के माध्यम से स्कूल शिक्षा विभाग शिक्षकों को समस्या मुक्त रख काम के प्रति समर्पित रखना चाहता है। एके त्रिपाठी, सहा संचालक लोकशिक्षण भोपाल

250 शिक्षकों को बिना दस्तावेज के ही दिया जा रहा वेतन

कैलारस हायर सेकंडरी स्कूल के प्रभारी प्राचार्य संदीप शुक्ला ने बीईओ से शिकायत की कि 250 शिक्षकों का वेतन बिना किसी अभिलेख के वितरित हो रहा है क्योंकि पूर्व प्राचार्य एमएल रावत के कार्यकाल में 2007 में सेवा पुस्तिकाओं में पे-फिक्सेशन की कार्रवाई नहीं की गई है। भविष्य में यह बड़ी वित्तीय अनियमितताओं के रूप में सामने आ सकता है। शिविर में मिडिल स्कूल बृह्मबाजना के शिक्षक सरनाम सिंह यादव ने कहा कि उनके वेतन से जीपीएफ का कटोत्रा किया जा रहा है लेकिन एजी एकाउंट में उसे 2009-10 जमा नहीं किया गया है। वेतन से काटे गए जीपीएफ का पैसा कहां गया।

महिला शिक्षक बोली- प्राचार्य व बाबू कर रहे प्रताड़ित

सबलगढ़ बीटीआई कैम्पस में आयोजित शिविर में देवलाल का पुरा प्राइमरी स्कूल की महिला शिक्षक किताबी रावत ने शिकायत की कि उसका संविलियन आठ महीने देरी से किया गया जबकि जुलाई 2016 में संविलियन होना था। संविलियन के आदेश की प्रति दो मई 2017 को प्राचार्य श्याम सिंह भदौरिया व बाबू लक्ष्मण सिंह जादौन को प्रस्तुत करने के बाद भी उन्होंने मई 17 का वेतन 5750 रुपए दिया जबकि वेतन 15222 रुपए दिया जाना चाहिए था। तब से अब तक एरियर की राशि के 24200 रुपए का भुगतान प्राचार्य व बाबू नहीं कर रहे हैं। दोनों मिलकर मुझे आर्थिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहे हैं। मेरा सितंबर 16 से नवंबर 16 तक का वेतन भी अकारण रोक रखा है।

1250 शिक्षक 31 शिकायत, प्रचार क्यों नहीं किया आपने

शिक्षा विभाग के संयुक्त संचालक अरविंद सिंह व जिला शिक्षा अधिकारी आरजे सत्यार्थी शुक्रवार की दोपहर सबलगढ़ शिविर में पहुंचे तो शिकायत की संख्या 31 देखकर जेडी का पारा चढ़ गया। उन्होंने बीईओ टीआर शाक्य को तलब करते हुए सवाल किया कि शिविर में शिक्षक कम संख्या में क्यों आए हैं। 1250 शिक्षकों के बीच से मात्र 31 शिकायतें ही आई हैं। शिविर का प्रचार-प्रसार क्यों नहीं कराया आपने। बीईओ ने प्रचार के लिए संकुल प्राचार्यों को जिम्मेदार ठहरा दिया। जौरा में जेडी सिंह ने निर्देश दिए कि शिविरों में प्राप्त शिकायतों के निराकरण में जो भी लापरवाही करेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kailaras

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×