Hindi News »Madhya Pradesh »Kailaras» ब्रॉडगेज के लिए एक साल में भी रेलवे को नहीं मिली जमीन, Rs.50 कराेड़ लैप्स

ब्रॉडगेज के लिए एक साल में भी रेलवे को नहीं मिली जमीन, Rs.50 कराेड़ लैप्स

यात्री अभी भी नैरोगेज पैसेंजर में यात्रा करने को मजबूर हैं। अब तक पांच गांवों की जमीन अधिग्रहित प्रशासन...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 03, 2018, 03:45 AM IST

ब्रॉडगेज के लिए एक साल में भी रेलवे को नहीं मिली जमीन, Rs.50 कराेड़ लैप्स
यात्री अभी भी नैरोगेज पैसेंजर में यात्रा करने को मजबूर हैं।

अब तक पांच गांवों की जमीन अधिग्रहित

प्रशासन बीते एक साल में मुरैना ब्लॉक के जैतपुर, नूराबाद, नयागांव समेत सबलगढ़ क्षेत्र के टेंटरा, खरिका व पचेर की जमीन का अधिग्रहण ही कर सका है। इसके अलावा जौरा क्षेत्र में अगरौता, सिकरौदा व गैपरा की जमीन के अधिग्रहण की प्रक्रिया धीमी गति से चल रही है।

जौरा से बिरला नगर तक का सफर 45 मिनट का

रेलवे की निर्माण शाखा के इंजीनियरों का कहना है कि प्रशासन हमें जमीन जल्द उपलब्ध करा दे तो हम डेढ़ साल में जौरा तक ब्रॉडगेज रेल लाइन बिछा देंगे। इससे जौरा से बिरला नगर तक लोग 45 मिनट में सफर तय कर सकेंगे। फिर लोगों को छत पर बैठकर यात्रा नहीं करना पड़ेगी।

सर्वे नंबर के सत्यापन में समय लगा

रेलवे ने जमीन अधिग्रहण के लिए जो सर्वे नंबर उपलब्ध कराए, उनके सत्यापन में समय लगा। अधिग्रहण की प्रक्रिया भी कई चरणों में पूरी होती है। अभी तक पांच जमीनों के अवार्ड हो चुके हैं। शेष की कार्रवाई जारी है। उमेश शुक्ला, एसडीएम/भू-अर्जन अधिकारी, मुरैना

अधिग्रहण की कार्रवाई के लिए झांसी से आए बाबू

शुक्रवार को जौरा क्षेत्र की निजी जमीनों के अधिग्रहण की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए जौरा एसडीएम कार्यालय में झांसी से आए तीन बाबुओं ने नोटशीट लिखीं। इसकेे लिए रेलवे के कर्मचारी झांसी से अपने साथ तीन लैपटॉप भी लाए। रेलवे के पांच अधिकारी-कर्मचारियों की टीम प्रतिदिन ग्वालियर से मुरैना, जौरा, कैलारस व सबलगढ़ पहुंचती है और तहसील व एसडीएम कार्यालय के कर्मचारियों से जमीन अधिग्रहण की कार्रवाई को आगे बढ़वाती है। रेलवे कर्मचारियों की पहल के बिना राजस्व कर्मचारी इस काम को अपनी रुचि से निपटाने का प्रयास नहीं कर रहे हैं।

हमारी तैयारी पूरी, प्रशासन जमीन उपलब्ध करा दे

ब्रॉडगेज लाइन बिछाने के लिए रेलवे की तैयारी पूरी है। जमीन उपलब्ध कराने के लिए प्रशासन से दरकार है। पहले चरण में रायरू से सुमावली तक बड़ी लाइन बिछाने का काम पूरा किया जाएगा। कोशिश रहेगी कि यात्रियों को जौरा से ग्वालियर का सफर कम समय में पूरा करने की सुविधा मिले। मनोज सिंह, पीआरओ, उम रेलवे

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kailaras

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×