--Advertisement--

कर्मों के अनुसार ही मनुष्य को फल मिलता है: शास्त्री

जिसका जन्म हुआ है उसका मरण निश्चित है। इस सत्य को कभी नहीं भूलना चाहिए कि मनुष्य को अपने कर्मों के अनुसार यश और अपयश...

Dainik Bhaskar

May 25, 2018, 04:00 AM IST
कर्मों के अनुसार ही मनुष्य को फल मिलता है: शास्त्री
जिसका जन्म हुआ है उसका मरण निश्चित है। इस सत्य को कभी नहीं भूलना चाहिए कि मनुष्य को अपने कर्मों के अनुसार यश और अपयश मिलता है। हमें अपनी अंतर आत्मा से सोचना चाहिए कि मेरे द्वारा जो कुछ हुआ है उसका यह फल है। यह उपदेश गुरुवार को कैलारस से 14 किलोमीटर दूर स्थित मां बेहररा मंदिर पर चल रही भागवत कथा में राजस्थान से आए भागवताचार्य पंडित कृष्णानंद शास्त्री श्रद्धालुओं को दे रहे थे।

यहां भागवत कथा का आयोजन नगर पंचायत अध्यक्ष अंजना-ब्रजेश बंसल द्वारा कराया जा रहा है। प्रवचन में शास्त्रीजी ने बताया कि कर्मयोगी मनुष्य कभी दुखी नहीं रहता। मनुष्य के जीवन में सबसे बड़ा धर्म परोपकार है। उसी के आधार पर जीवन में सफलता तय होती है। उन्होंने कहा कि मनुष्य का जीव पानी के बुलबुले के समान है। व्यक्ति को हमेशा अपने हृदय में सत्य का भाव रखते हुए परमात्मा का भजन करना चाहिए। भगवान हमेशा भक्त के हृदय में निवास करते हैं। कलियुग में मनुष्य के लिए भागवत कथा ही सबसे उत्तम मोक्ष का साधन है। कथा वाचक ने कहा कि जो व्यक्ति भगवान की भक्ति का मार्ग अपनाता है वह अपने जीवन सफल रहता है। उन्होंने कहा भगवान शंकर भी अपने हृदय में भगवान राम स्मरण करते थे। शाम चार बजे भागवत आरती के बाद श्रद्धालुओं को प्रसाद वितरण किया गया।

बानमोर | करोला पंचायत में हुआ विशाल भंडारा:करोला पंचायत स्थित गोबरा कॉलोनी में चल रही भागवत कथा गुरुवार को सम्पन्न हो गई। इस अवसर पर यहां विशाल भंडारा किया गया। बताया गया है कि इस भंडारे में बानमोर के अलावा आसपास गांव के 10 हजार लोगों ने भागवत प्रसाद ग्रहण किया। मालूम हो यहां पिछले सात दिन से वृंदावन धाम से आए भागवताचार्य राघव शास्त्री भागवान श्रीकृष्‍ण की लीलाओं का वर्णन कर रहे थे, वहीं मथुरा के कलाकारों द्वारा रासलीला का आयोजन किया जा रहा था।

सुमावली |सुमावली के खिरी-खो की बगिया में चल रही भागवत: बालकदास महाराज के मार्गदर्शन में खिन्नी खो की बगिया में 12 मई से भागवत कथा चल रही है। यहां श्रद्धालुओं को कथा व्यास अंजली पाराशर के मुख से भगवान श्रीकृष्ण की लीलाओं का वर्णन सुनने मिल रहा है। गुरुवार को कथा व्यास ने मीरा बाई, गोवर्धन लीला एवं काली देह की कथा सुनाई। यहां राजा परीक्षित की भूमिका प्रहलाद महाराज निभा रहे हैं।

बेहरारा मंदिर, करोला पंचायत और सुमावली में खिन्नी खो बगिया में आयोजित हो रही है भागवत कथा

कथा सुनाते हुए कृष्णानंद शास्त्री।

कथावाचक अंजली पाराशर।

कर्मों के अनुसार ही मनुष्य को फल मिलता है: शास्त्री
X
कर्मों के अनुसार ही मनुष्य को फल मिलता है: शास्त्री
कर्मों के अनुसार ही मनुष्य को फल मिलता है: शास्त्री
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..