--Advertisement--

उधारी के पैसे मांगने पर युवक को पीटा

उधारी के पैसे मांगने पर युवक को पीटा मुरैना| स्टेशन रोड पर उधारी के पैसे मांगने दो लोगों ने गुरुवार को युवक की...

Dainik Bhaskar

Jun 01, 2018, 04:00 AM IST
उधारी के पैसे मांगने पर युवक को पीटा

मुरैना| स्टेशन रोड पर उधारी के पैसे मांगने दो लोगों ने गुरुवार को युवक की मारपीट कर दी। पीड़ित युवक का कहना है कि मैं इस मामले की रिपोर्ट कराने स्टेशन रोड थाने पहुंचा। जहां पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने के बजाए अदमचैक काटकर चलता कर दिया। जीवाजी गंज में रहने वाले कृष्णा अग्रवाल ने बताया कि वह स्टेशन रोड पर स्वराज ट्रैक्टर की एजेंसी चला रहे हरिओम अग्रवाल एवं श्याम अग्रवाल के पास उधारी के पैसे लेने गया था। लेकिन उधारी मांगते ही दोनों लोग बौखला गए और उन्होंने लात-घूंसों से जमकर मारपीट कर दी।

वन कर्मचारी संघ की हड़ताल सातवें दिन भी चली, आज से भूख हड़ताल

मुरैना| वन कर्मचारी संघ की मुरैना इकाई द्वारा अनिश्चतकालीन हड़ताल गुरुवार को यानि सातवें दिन भी जारी रही। 19 सूत्रीय मांगें पूरी नहीं होने से असंतुष्ट कर्मचारी शुक्रवार 1 जून से कृमिक भूख हड़ताल पर बैठेंगे। यहां बता दें कि उन्नीस सूत्रीय मांगों को लेकर वन रक्षक से लेकर वनपाल, उप वन क्षेत्रपाल, रेंज ऑफिसर, स्थाईकर्मी प्रबंधक, कम्प्यूटर ऑपरेटर 24 मई से हड़ताल पर है। सरकारी के रवैये से खफा यह लोग आज से कृमिक भूख हड़ताल पर बैठकर प्रदर्शन करेंगे।

एक माह पहले सीवर के लिए खोदी सड़कें, लोग हो रहे चोटिल

मुरैना| गोपाल पुरा इलाके में एक माह पूर्व सीवर लाइन डलने के बाद भी ठेकेदार द्वारा सड़क निर्माण नहीं कराया जा रहा। इस हाल में सड़के खुदी होने से न केवल स्थानीय लोगों का आवागमन बाधित हो रहा है, बल्कि चोटिल हो रहे हैं। सोलंकी गली, दीक्षित गली आदि इलाके में स्कूल बस नहीं जाने से बच्चों व उनके अभिभावकों को काफ परेशानी उठानी पड़ रही है। सड़क निर्माण के लिए परेशान लोग नगर निगम कार्यालय के चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन वहां उनकी सुनवाई नहीं हो रहा।

घोषणावीर हैं प्रदेश के सीएम: यादव

मुरैना| प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 30 मई को अंबाह में आयोजित जनसभा में गरीबों को 200 रुपए प्रतिमाह बिजली देने की घोषणा कर गए हैं। इसके अलावा किसानों के लिए भी अनेक झूठी घोषणाएं कर गए हैं। इसलिए उन्हें प्रदेश में घोषणा वीर कहा जाता है। यह बात कांग्रेस प्रवक्ता राजेंद्र यादव द्वारा गुरुवार को जारी किए गए एक बयान में कही गई। यादव का कहना है कि मुरैना जिले में बिजली की हालत बदतर बनी हुई हैं, वहीं कैलारस, सबलगढ़, झुंडपुरा, रामपुरकलां, पहाड़गढ़ एवं सुमावली के लोग भीषण गर्मी के इस दौरान पानी की समस्या से जूझ रहे हैं। मुख्यमंत्री ने इससे पूर्व प्रदेश में 24 घंटे बिजली देने की घोषणा की जो झूठी साबित हुई।

कर्मचारी हड़ताल पर, किसानों को नहीं मिल रही उन्नत कृषि की जानकारी

मुरैना| किसान कल्याण विभाग मैदानी अमला हड़ताल पर चले जाने से किसानों को उन्नत कृषि संबंधी जानकारी नहीं मिल पा रही है। मालूम हो ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी तीन सूत्रीय मांगों को लेकर 28 मई से हड़ताल पर चले गए हैं। इनके द्वारा उप-संचालक कृषि कार्यालय के समक्ष टेंट लगाकर आंदोलन किया जा रहा है। आंदोलनरत ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारियों का कहना है कि उन्हें सर्वेयर से कम वेतनमान दिया जा रह है। जो न्याय संगत नहीं है। उन्होंने बताया कि उच्च न्यायालय द्वारा भी उनकी मांगों को उचित ठहराया गया है। अप्रैल महीने में भी कृषि विस्तार अधिकारियों द्वारा हड़ताल की गई थी। तब शासन द्वारा कोरा आश्वासन देकर हड़ताल को समाप्त करा दिया गया। इस कारण सभी ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारियों सरकार के खिलाफ आक्रोश व्याप्त है। हड़ताल पर बैठने वालों में राजेंद्र सिंह तोमर, सुरेश कुमार बरैया, श्याम सुंदर शर्मा, सोनेराम सिजरोलिया, श्रीनिवास शर्मा, रामकुमार पाल आदि शामिल हैं।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..