Hindi News »Madhya Pradesh »Kailaras» संघर्षों के जरिए ही जल्द प्रमुख राजनीतिक विकल्प के रूप में उभरेगी माकपा: जसविंदर

संघर्षों के जरिए ही जल्द प्रमुख राजनीतिक विकल्प के रूप में उभरेगी माकपा: जसविंदर

पार्टी के राज्य सचिव मंडल सदस्य जसविंदर सिंह ने चर्चा में कहा भास्कर संवाददाता | मुरैना पूंजीवादी सरकारों के...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 04, 2018, 07:05 AM IST

पार्टी के राज्य सचिव मंडल सदस्य जसविंदर सिंह ने चर्चा में कहा

भास्कर संवाददाता | मुरैना

पूंजीवादी सरकारों के विकल्प के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं को संघर्ष तेज करना होगा संघर्ष ही प्रोटीन है इसलिए हमें बुनियादी मुद्दों को लेकर स्थानीय समस्याओं के लिए अनवरत संघर्ष करना होगा। यह बात माकपा के राज्य सचिव मंडल सदस्य जसविंदर सिंह ने कही।

राज्य सचिव मंडल सदस्य सिंह, गुरुवार को पार्टी कार्यालय पर मीडिया से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा संघर्षों के जरिए ही पार्टी राजनीतिक विकल्प के रूप में उभरेगी। उन्होंने भाजपा, आरएसएस की साम्प्रदायिक व फांसीवादी राजनीति का पर्दाफाश करते हुए कहा कि वैकल्पिक राजनीतिक व्यवस्था के लिए देश में सिर्फ माकपा ही संघर्ष चला रहीं है। इसे मजबूत किए जाने की जरूरत है। उन्होंने इसके लिए माकपा सहित उसके जनसंगठनों का जनाधार बढ़ाने का आह्वान किया। माकपा नेता सिंह ने कहा किसान समस्याओं के लिए संघर्ष तेज किया जाना चाहिए। दलित उत्पीड़न के खिलाफ लोगों को लामबंद करने की जरूरत है। अल्पसंख्यकों पर अत्याचार के खिलाफ आंदोलन किए जाएंगे।

मुख्यमंत्री ने पूरा नहीं किया वादा

माकपा के राज्य सचिव मंडल सदस्य जसविंदर सिंह ने कहा कि खुद को किसान पुत्र कहने वाले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विधानसभा चुनाव से पहले सबलगढ़, कैलारस व जौरा की सभाओं में जनता से वादा किया था कि तीसरी बार भाजपा की सरकार बनी तो छह साल से बंद कैलारस के शक्कर कारखाना को फिर से चालू कराया जाएगा। लेकिन सरकार बंद कारखाना को अब तक चालू नहीं करा सकी है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kailaras

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×