• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Kannod
  • किसान की हत्या करने के आरोप में पति-पत्नी व उनके 2 पुत्रों को उम्रकैद
--Advertisement--

किसान की हत्या करने के आरोप में पति-पत्नी व उनके 2 पुत्रों को उम्रकैद

जमीन विवाद में कन्नौद कोर्ट ने सुनाया फैसला भास्कर संवाददाता | कन्नौद अपर सत्र न्यायाधीश नीना आशापुरे ने...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 03:40 AM IST
किसान की हत्या करने के आरोप में पति-पत्नी व उनके 2 पुत्रों को उम्रकैद
जमीन विवाद में कन्नौद कोर्ट ने सुनाया फैसला

भास्कर संवाददाता | कन्नौद

अपर सत्र न्यायाधीश नीना आशापुरे ने पिता, पुत्र व प|ी को हत्या के आरोप में आजीवन कारावास की सजा सुनाई। अभियोजन पक्ष के अनुसार मृतक रामचंदर जगन्नाथ जाट निवासी खातेगांव ने गांव कणा बुजुर्ग में नर्मदा किनारे जमीन दीपक कीर से खरीदी थी। उसे ट्रैक्टर से बखरने के लिए गौरव तिवारी निवासी बरछा बुजुर्ग से बात की थी। 9 अप्रैल 2010 की सुबह 10 बजे गौरव के साथ ट्रैक्टर लेकर खेत बखरने गया था।

खेत बखरते समय आरोपी किशनलाल छीतर (50), उसके दो पुत्र सखाराम उर्फ बबलू (23), रेवाराम (30) व प|ी रामबाई (45) सभी निवासी कणा बुजुर्ग ने रामचंदर के खेत में आकर लाठियों से हमला कर दिया। रामचंदर से कहा कि यह खेत हमारा है, पीछा वाला तेरा है। तू हमारा खेत कैसे बखर रहा है। रामचंदर ने कहा यही मेरा खेत है जिसे बखर रहा हूं। इसके बाद रेवाराम ने एक पत्थर उठाकर रामचंदर की सीने पर दे मारा। आरोपी बबलू ने लाठी से सिर में मारा तथा किशनलाल, रामबाई ने भी लट्ठ से रामचंदर पर वार किए। रामचंदर की टांग पकड़कर घसीट दिया। बीचबचाव करने आए गौरव व उसके हाली को भी धमकाकर भगा दिया। इसके बाद गौरव ने रामचंदर के बेटे मनीष को घटना बताई। मनीष, मोहन खेत पर आए और घायल रामचंदर को खातेगांव अस्पताल ले जा रहे थे लेकिन उनकी रास्ते में ही मौत हो गई। अपर सत्र न्यायाधीश ने चारों आरोपियों को उम्रकैद के साथ तीन-तीन हजार रु. के जुर्माने की सजा दी। शासन की ओर से पैरवी अधिवक्ता दिनेशचंद्र तिवारी ने की। कोर्ट मोहर्रिर अशोक शर्मा का सहयोग रहा।

X
किसान की हत्या करने के आरोप में पति-पत्नी व उनके 2 पुत्रों को उम्रकैद
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..