• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Khachrodh
  • प्रस्तावित रिंग रोड का बदला नक्शा, पश्चिम के बजाए अब दक्षिण से होगी सड़क की शुरुआत
--Advertisement--

प्रस्तावित रिंग रोड का बदला नक्शा, पश्चिम के बजाए अब दक्षिण से होगी सड़क की शुरुआत

शहर के नियोजित विकास के लिए प्रस्तावित सिटी डेवलपमेंट प्लान-2021 में एक बार फिर फेरबदल की तैयारी प्रदेश सरकार ने की...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 04:30 AM IST
शहर के नियोजित विकास के लिए प्रस्तावित सिटी डेवलपमेंट प्लान-2021 में एक बार फिर फेरबदल की तैयारी प्रदेश सरकार ने की है। शासन ने अधिसूचना जारी कर यह बताया है कि प्लान में प्रस्तावित साढ़े सात किमी लंबे और 30 मीटर चौड़े रिंग रोड की शुरुआत दक्षिण दिशा में चंबल से होगी। यहां से सड़क टकरावदा तालाब होते हुए औद्योगिक क्षेत्र के रास्ते पूर्व दिशा में उज्जैन रोड पर मिलेगी। साथ ही चंबल पार स्थित नायन ग्राम से खाचरौद पहुंच मार्ग से भी यह सड़क जुड़ेगी।

दरअसल 2012 के डेवलपमेंट प्लान में रिंग रोड को शहर के पश्चिम दिशा में खाचरौद रोड से प्रारंभ कर निवेश इकाई में औद्योगिक क्षेत्र से निकालते हुए शहर के पूर्व दिशा में उज्जैन रोड से मिलाने का प्रस्ताव था। इसी प्रस्ताव को विलोपित किया जा रहा है। शहर के किसी भी नागरिक को नए प्रस्ताव पर आपत्ति है तो वह 3 मार्च शनिवार तक भाेपाल स्थित कार्यालय पर लिखित आपत्ति लगा सकता है। गौरतलब है कि इससे पहले 11 जुलाई 2017 को भी राज्य शासन ने मास्टर प्लान में फेरबदल किया था। प्लान में परिवर्तन का प्रस्ताव www.mptownplan.nic पर उपलब्ध है। यहां निरीक्षण के बाद कोई सुझाव, दावे -आपत्ति है तो नागरिक शीघ्र संबंधित कार्यालय पर संपर्क करें।

योजना में संशोधन से पहले करना चाहिए था प्रचार

प्रदेश कांग्रेस महासचिव दिलीपसिंह गुर्जर ने बताया कि पूर्व में प्रस्तावित रिंग रोड चंबल किनारे से निकल रहा था। इससे यह क्षेत्र भोपाल तालाब किनारे जैसा नजर आता और एक बड़ा पिकनिक स्पॉट बनाया जा सकता था। लेकिन उद्योग प्रबंधन के दबाव में शासन ने गुपचुप संशोधन की तैयारी की है। समाचार पत्रों में भी इसकी सूचना प्रकाशित नहीं है। जिम्मेदार जनप्रतिनिधियों ने भी इसकी जानकारी सार्वजनिक नहीं की। कांग्रेस उचित मंच व

वैधानिक तरीके से संशोधन प्रस्ताव का विरोध करेगी।

सिटी डेवलपमेंट प्लान

इन कंडिकाओं में होगा फेरबदल

नगरीय विकास एवं आवास विभाग के उप सचिव सी.के. साधव द्वारा 2 फरवरी 2018 को जारी सूचना में सिटी डेवलपमेंट के प्रकाशित प्लान में दर्ज कंडिका 4.13, 5.5, 6.14 एवं सारणी क्रमांक 6 से 15 में संशोधन करने का प्रस्ताव है।

तालाब के फुल लेवल से 30 मीटर तक ग्रीन बेल्ट

कंडिका 4.13 में तालाब जब फुल टैंक लेवल पर हो तो इससे 30 मीटर की दूरी तक किसी भी तरह का निर्माण नहीं किया जा सकेगा। गौरतलब है कि बनबना तालाब के आसपास कई लोगों ने पक्के निर्माण किए हैं। संशोधन स्वीकार होने पर यह सभी अवैध घोषित हो जाएंगे।