Hindi News »Madhya Pradesh »Khachrodh» दो घंटे देरी से आए अतिथि फिर की एक घंटे भाषणबाजी, प्रचार भी नहीं, परेशान हुए लोग

दो घंटे देरी से आए अतिथि फिर की एक घंटे भाषणबाजी, प्रचार भी नहीं, परेशान हुए लोग

ब्लॉक स्तरीय अंत्योदय मेले में अतिथियों की लेटलतीफी से शनिवार को हितग्राही काफी परेशान हुए। निर्धारित समय दोपहर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 04:55 AM IST

दो घंटे देरी से आए अतिथि फिर की एक घंटे भाषणबाजी, प्रचार भी नहीं, परेशान हुए लोग
ब्लॉक स्तरीय अंत्योदय मेले में अतिथियों की लेटलतीफी से शनिवार को हितग्राही काफी परेशान हुए। निर्धारित समय दोपहर 12 बजे के पहले आए हितग्राही तीन घंटे तक कार्यक्रम शुरू होने का इंतजार करते रहे। दोपहर दो बजे मेले के मुख्य अतिथि विधायक दिलीपसिंह शेखावत के मंच पर पहुंचने के बाद एक घंटे तक भाषणबाजी हुई। जिसके बाद करीब 3 बजे कार्यक्रम की शुरुआत हुई। कार्यक्रम की समाप्ति के बाद दोपहर 3.30 बजे बाद हितग्राहियों को भोजन के पैकेट बांटे गए।

शासकीय बालक उत्कृष्ट उमावि परिसर में शनिवार को मेला लगाया गया। मेले में विभिन्न योजनाओं के स्टॉल, कुर्सी और टेंट समय पर लग गए, लेकिन अतिथियों के देर से आने से 12 बजे की बजाए कार्यक्रम दोपहर 3 बजे शुरू हुआ। विधायक दिलीपसिंह शेखावत ने कार्यक्रम को संबोधित कर विधानसभा क्षेत्र में विकास व भाजपा सरकार की उपलब्धियों बताकर कांग्रेस पर तीखे प्रहार किए। अध्यक्षता जपं अध्यक्ष श्यामूबाई मालवीय ने की। मेले में शासन की विभिन्न योजनाओं के करीब 2000 हितग्राहियों को 10.98 करोड़ रुपए की राशि से लाभान्वित किया गया। विभिन्न विभागों के माध्यम से हितग्राही मूलक योजनाओं के तहत लाभांवित हितग्राहियों की जानकारी एसडीएम गोपालसिंह वर्मा ने देकर वित्तीय वर्ष 2017-18 में 1 लाख 21 हजार हितग्राहियों को विभिन्न विभागों के माध्यम से खाचरौद ब्लॉक में 11 करोड़ रुपए की सहायता पहुंचाई गई हैं। इस मौके पर नपाध्यक्ष कमलेश शर्मा, जनपद उपाध्यक्ष लालसिंह सिसौदिया, पूर्व नपाध्यक्ष विजय सेठी, किसान मोर्चा राष्ट्रीय सदस्य दयाराम धाकड़, भाजपा नगर महामंत्री विनोद चतुर्वेदी, ग्रामीण अध्यक्ष मांगीलाल पाटीदार, जिला पंचायत व जनपद पंचायत सदस्य आदि मौजूद थे। संचालन गुरुदत्त जोशी ने किया।

इन योजनाओं का लाभ मिला हितग्राहियों को- मेले में खाचरौद नपा द्वारा तीन ऑटो रिक्शा, एक लोडिंग गाड़ी, दो युवकों को स्वरोजगार सहायता के लिए अनुदान दिया गया। उज्जवला योजना के तहत शहरी व ग्रामीण क्षेत्र की 12 महिलाओं को गैस टंकी व किट दिए गए। पशु चिकित्सा विभाग द्वारा आचार्य विद्यासागर योजना, देशी गोवंश प्रोत्साहन योजना, पशु बीमा योजना के तहत 17 हितग्राहियों को सहायता राशि प्रदान की गई। नागदा नपा द्वारा 11 स्व सहायता समूह को 10-10 लाख रुपए की अनुग्रह राशि, मंदबुद्धि व बहु विकलांगों के 89 हितग्राहियों को 44 हजार 500 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की गई। उद्यानिकी विभाग द्वारा फलोद्यान रोपण व प्याज भंडारण गृह के लिए 15 हितग्राहियों को 13.73 लाख रुपए अनुदान राशि के स्वीकृति आदेश वितरित किए गए।महिला बाल विकास विभाग द्वारा लाडली लक्ष्मी योजना के प्रमाण पत्र एवं मातृवंदना योजना के 1275 हितग्राहियों को पहली किस्त की भुगतान राशि के आदेश प्रदान किए गए। कृषि विभाग द्वारा 24 हितग्राहियों को लाभांवित किया गया। दिव्यांगों को ट्रायसिकल वितरण एवं प्राकृतिक आपदा में मृत व्यक्ति के परिजन को चार-चार की सहायता राशि के स्वीकृति के आदेश बांटे गए।

महिलाएं निकालती रहीं नींद, कुर्सियां रहीं खाली

लेटलतीफी से परेशान हितग्राही बैठे-बैठे थक गए और कार्यक्रम के दौरान जब अतिथियों की भाषण चल रहे थे, उस दौरान कई महिलाएं सोती हुई नजर आईं। महिलाओं ने कहा सुबह 11 बजे से कार्यक्रम स्थल पर बैठी हैं, अतिथियों के देरी से आने और गर्मी के कारण परेशान हो रही है, वहीं पंखे की हवा लगने से उन्हें नींद आ गई। इधर व्यापक प्रचार प्रसार नहीं होने और शनिवार को हनुमान जन्मोत्सव के कारण भी अधिकांश हितग्राही नहीं पहुंचे। नतीजतन कई कुर्सियां खाली पड़ी थी।

बच्चे रो रहे थे तो कहा- प्रमाण पत्र पहले बंटवा दो, भाषण तो होते रहेंगे

मेले में अतिथियों के हाथों से प्रतीकात्मक कुछ हितग्राहियों को योजनाओं के प्रमाण पत्र दिए जाने थे। जिसमें महिला बाल विकास विभाग द्वारा लाडली लक्ष्मी योजना की हितग्राही महिलाओं को भी प्रमाण पत्र दिए जाने थे, परंतु मुख्य अतिथि विधायक दिलीपसिंह शेखावत के दो घंटे देरी से आने के कारण हितग्राही महिलाएं परेशान होती रही। क्योंकि उनके बच्चे गर्मी के कारण रोना बंद ही नहीं कर रहे थे। परेशान होकर कार्यक्रम स्थल पर मौजूद मीडियाकर्मियों के पास विभाग की एक कार्यकर्ता एक हितग्राही महिला रोते बच्चे को लेकर आई और कहा कि आप तो मीडिया वाले हैं कृपया हितग्राहियों को प्रमाण पत्र बंटवा दीजिए, बच्चे परेशान हो रहे हैं, अतिथियों के भाषण तो होते रहेंगे। हालांकि 10 मिनट बाद भाषण खत्म हुए और हितग्राहियों को योजनाओं के प्रमाण-पत्र आदि बांटना शुरू किया गया।

इधर, लोग परेशान तो कांग्रेस जनपद सदस्यों ने मेले का किया बहिष्कार

कांग्रेस जनपद सदस्यों द्वारा मेले का बहिष्कार किया गया। जनपद सदस्य प्रतिनिधि भीमराज मालवीय ने बताया मेले में शामिल होने के लिए वह पहुंचे थे, उन्होंने पीएचई को उनके क्षेत्र की जल समस्या से अवगत कराकर समाधान की मांग भी की। जब मेले में पहुंचे तो आगे जो निर्वाचित नहीं हैं, वह बैठे हुए थे, अधिकारी भी पीछे कुर्सियों पर बैठे थे। अधिकारी स्टॉल पर समस्या सुनने की बजाए भाषण सुन रहे थे। मेले में ग्रामीण परेशान हो रहे थे, जबकि मेले का उद्देश्य से ग्रामीणों की समस्या का समाधान करना होता है। इस वजह से कांग्रेस जनपद सदस्य कला भीमराज मालवीय, भरतलाल पाटीदार, भारत परमार, ईश्वर गुर्जर, बाबूलाल चौहान आदि ने कार्यक्रम का बहिष्कार कर दिया।

अंत्योदय मेला :व्यापक प्रचार प्रसार नहीं होने और हनुमान जन्मोत्सव की वजह से कम आए हितग्राही

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Khachrodh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×