• ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
अंतिम अपडेट : 20-06-2018 04:11AM
बहुजन हिताय-बहुजन सुखाय हो सृजन

बहुजन हिताय-बहुजन सुखाय हो सृजन

अखिल भारतीय साहित्य परिषद की तहसील इकाई का गठन हुआ। इस मौके पर काव्य गोष्ठी भी हुई। पं. पंकज मेहता ने कहा रचनाधर्मियों के रचनाकार होने से शब्दों के प्रभाव में कमी आई है। सृजन कर्म सर्वश्रेष्ठ कहा गया है। किंतु सृजन बहुजन हिताय-बहुजन सुखाय होना...

महेश्वर के ताज़ा समाचार

कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
Allow पर क्लिक करें।