--Advertisement--

एग्जाम फोबिया न हो इसके लिए स्टूडेंट्स को ये करना चाहिए

बोर्ड एग्जाम से पहले डर लगना एक स्वभाविक बिहेवियर है लेकिन जब डर इतना बढ़ जाए की पढ़ाई करने, याद करने और अपना नार्मल...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 02:55 AM IST
बोर्ड एग्जाम से पहले डर लगना एक स्वभाविक बिहेवियर है लेकिन जब डर इतना बढ़ जाए की पढ़ाई करने, याद करने और अपना नार्मल काम करने में परेशानी महसूस हो तो इसे एग्जाम फोबिया कहते हैं।

ये लक्षण हैं

 हर समय महसूस होना की एग्जाम बहुत ख़राब होगा, नींद ठीक से ना आना, रोने का मन करना,

 खाना-पीना कम हो जाना, पेट ख़राब रहना और अधिक पसीना आना, बुखार, पढ़ा हुआ भूलना।

बचाव के तरीके

 अपने बारे में पॉजिटिव स्टेटमेंट लिखे जैसे - मैं पढ़ने में अच्छा हूं। इस तरह के स्टेटमेंट लिखकर अपनी स्टडी टेबल पर लगाए और रोज पढ़े।

 अपनी एवरेज स्लीप टाइम का पता लगाएं और कोशिश करें की एग्जाम के समय अपनी स्लीप पैटर्न में कोई बड़ा परिवर्तन न करें।

 पिछले सालो के एग्जाम पेपर सीरियस होकर हल करे और अपनी टीचर से उसे चेक कराएं

 सब्जेट पढ़ने के बाद शार्ट नोट्स बनाए जिससे दोबारा पढ़ने पर केवल शार्ट नोट्स से आप को बेसिक चीजें याद आ जाए। नोट्स बनाने मंे कई कलर के पेन और मार्कर इस्तेमाल करें।

 लगातार बैठकर पढाई करने की बजाये हर एक घंटे के बाद 15 मिनट का ब्रेक लें।

 ग्रुप स्टडी जरूर करे इससे हम जो पढ़ते है वो ज्यादा याद होता है और हमारे अंदर डर की भावना भी कम हो जाती है।

 टाइम मैनेजमेंट बहुत जरुरी होता है इसलिए अपने पढ़ने का टाइम रोज लिखकर बनाए और उसे रोज फॉलो करने की कोशिश करे।

 खाने-पीने में पानी और जूस की मात्रा बढ़ाएं।

 ब्रेन गेम जैसे सुडोकु और क्रॉसवर्ड खेले।

 ब्रेन रिलैक्स करने के लिए और कॉन्सेंट्रेशन बढ़ाने के लिए लंबी गहरी सांसे लें और योग जरूर करंे।

पेरेंटिंग

नम्रता सिंह

पेरेंटिंग एक्सपर्ट, लखनऊ

बोर्ड एग्जाम से पहले डर लगना एक स्वभाविक बिहेवियर है लेकिन जब डर इतना बढ़ जाए की पढ़ाई करने, याद करने और अपना नार्मल काम करने में परेशानी महसूस हो तो इसे एग्जाम फोबिया कहते हैं।

ये लक्षण हैं

 हर समय महसूस होना की एग्जाम बहुत ख़राब होगा, नींद ठीक से ना आना, रोने का मन करना,

 खाना-पीना कम हो जाना, पेट ख़राब रहना और अधिक पसीना आना, बुखार, पढ़ा हुआ भूलना।

बचाव के तरीके

 अपने बारे में पॉजिटिव स्टेटमेंट लिखे जैसे - मैं पढ़ने में अच्छा हूं। इस तरह के स्टेटमेंट लिखकर अपनी स्टडी टेबल पर लगाए और रोज पढ़े।

 अपनी एवरेज स्लीप टाइम का पता लगाएं और कोशिश करें की एग्जाम के समय अपनी स्लीप पैटर्न में कोई बड़ा परिवर्तन न करें।

 पिछले सालो के एग्जाम पेपर सीरियस होकर हल करे और अपनी टीचर से उसे चेक कराएं

 सब्जेट पढ़ने के बाद शार्ट नोट्स बनाए जिससे दोबारा पढ़ने पर केवल शार्ट नोट्स से आप को बेसिक चीजें याद आ जाए। नोट्स बनाने मंे कई कलर के पेन और मार्कर इस्तेमाल करें।

 लगातार बैठकर पढाई करने की बजाये हर एक घंटे के बाद 15 मिनट का ब्रेक लें।

 ग्रुप स्टडी जरूर करे इससे हम जो पढ़ते है वो ज्यादा याद होता है और हमारे अंदर डर की भावना भी कम हो जाती है।

 टाइम मैनेजमेंट बहुत जरुरी होता है इसलिए अपने पढ़ने का टाइम रोज लिखकर बनाए और उसे रोज फॉलो करने की कोशिश करे।

 खाने-पीने में पानी और जूस की मात्रा बढ़ाएं।

 ब्रेन गेम जैसे सुडोकु और क्रॉसवर्ड खेले।

 ब्रेन रिलैक्स करने के लिए और कॉन्सेंट्रेशन बढ़ाने के लिए लंबी गहरी सांसे लें और योग जरूर करंे।