--Advertisement--

9वीं में 54% विद्यार्थी उत्तीर्ण, 10% सुधार, 11वीं में 82% सफल, 2% कम हुआ

9वीं एवं ग्यारहवीं के परीक्षा परिणाम शनिवार को घोषित किए गए। इनमें 9वीं के परिणामों में 10 प्रतिशत का सुधार हुआ,...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:50 AM IST
9वीं एवं ग्यारहवीं के परीक्षा परिणाम शनिवार को घोषित किए गए। इनमें 9वीं के परिणामों में 10 प्रतिशत का सुधार हुआ, बावजूद इसके करीब 54 प्रतिशत विद्यार्थी ही परीक्षा उत्तीर्ण करने में सफल हो पाए। 46 प्रतिशत विद्यार्थी असफल हुए हैं। 11वीं के परिणाम पिछली साल की अपेक्षा 2 प्रतिशत की गिरावट रही। बावजूद इसके 82 प्रतिशत विद्यार्थी अगली कक्षा में जाने में सफल हुए।

9वीं में 54.16% विद्यार्थी सफल हुए। 8 हजार 400 विद्यार्थी फेल हो गए। रिजल्ट कम रहने के बावजूद पिछले साल की अपेक्षा इस बार 10% का सुधार आया। हर साल की तरह इस बार भी 9वीं के परिणाम 60 प्रतिशत से नीचे ही रहे जबकि 11वीं के नतीजे 80 प्रतिशत से आगे निकल गए। परीक्षा परिणाम 82.40 प्रतिशत रहा।

यह देखिए जिले के परीक्षा परिणाम ऐसे रहे

9वीं में किल्लौद व 11वीं में पंधाना विकासखंड आगे

नवमी के परीक्षा परिणाम में किल्लौद विकासखंड व ग्यारहवीं में पंधाना विकासखंड के विद्यार्थियों ने सबसे अच्छा प्रदर्शन किया है। नवमी में किल्लौद के 64.39 प्रतिशत विद्यार्थी सफल हुए हैं। यह जिले में सबसे अधिक हैं। ग्यारहवीं पंधाना विकासखंड के 93.57 प्रतिशत विद्यार्थी सफल हुए। यह जिले के औसत से करीब 10 प्रतिशत अधिक हैं।

अंकसूचियां बांटी

इस साल कंप्यूटर साफ्टवेयर से रिजल्ट तैयार होने से अंकसूचियों का वितरण भी विद्यार्थियों को किया गया। डीईओ पीएस सोलंकी ने बताया नतीजे घोषित होने के बाद यदि छात्र या छात्रा किसी विषय के अंकों की पुनर्गणना करवाना चाहते हैं तो वे अपने प्राचार्य को निर्धारित शुल्क के साथ आवेदन कर सकते हैं। डीईओ ने सभी प्राचार्यों को इस संबंध के निर्देश जारी किए हैं।

यह रहे परिणाम

विकासखंड 9वीं (%) 11वीं (%)

खंडवा 54.89 91.67

पंधाना 55.73 93.57

पुनासा 52.72 75.21

किल्लौद 64.39 80.38

छैगांवमाखन 54.98 87.03

हरसूद 43.99 76.26

कुल योग 54.16 82.40

10 साल के परिणाम

साल 9वीं (%) 11वीं (%)

2008-09 55.08 89.48

2009-10 44.04 75.04

2010-11 55.02 68.00

2011-12 57.43 80.23

2012-13 54.75 83.62

2013-14 41.02 81.02

2014-15 48.78 78.01

2015-16 38.00 79.52

2016-17 45.12 84.02

2017-18 54.16 82.40

इंतजार करते रहे विद्यार्थी

डीईओ के निर्देश के अनुसार स्कूलों में दोपहर 12 बजे से परीक्षा परिणाम आने के बाद रिजल्ट का वितरण किया जाना था। लेकिन उत्कृष्ट विद्यालय में 11वीं के विद्यार्थियों को दोपहर 2 बजे तक बैठाए रखा। बच्चों से पूछा तो बताया प्राचार्य के हस्ताक्षर नहीं हुए हैं।