--Advertisement--

बाबा रामदेव खंडवा आएंगे, सिखाएंगे योग

योग गुरु बाबा रामदेव मई में खंडवा के लोगों को योग सिखाएंगे। 5 दिनी योग शिविर के लिए गुरु गोविंदसिंह स्टेडियम तय...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 03:45 AM IST
योग गुरु बाबा रामदेव मई में खंडवा के लोगों को योग सिखाएंगे। 5 दिनी योग शिविर के लिए गुरु गोविंदसिंह स्टेडियम तय किया जा रहा है।

भारत स्वाभिमान न्यास हरिद्वार के पदाधिकारियों से मिले निर्देश के बाद आए राज्य के पदाधिकारियों ने कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण किया और इसे कार्यक्रम कराने के लिए अनुकूल भी बताया। उन्होंने बताया खंडवा में बाबा रामदेव का कार्यक्रम कराने के लिए आदर्श स्थितियां हैं। इससे पहले भी बाबा रामदेव एक दिन के लिए खंडवा आ चुके हैं। तब नार्मल स्कूल मैदान पर कार्यक्रम हुआ था। मप्र राज्य कार्यकारिणी सदस्य प्रेमनारायण सोरठिया ने बताया 5 दिनी योग का कार्यक्रम मई में कराया जाना है। फिलहाल तारीख तय नहीं है। इस कार्यक्रम में बाबा रामदेव खंडवा के लोगों को योग सिखाएंगे। हालांकि इसके लिए बाबा से समय मांगा गया है। इसके बाद तय होगा। इससे पहले 4 सदस्यीय दल ने गुरु गोविंदसिंह स्टेडियम का निरीक्षण किया और यहां शिविर कराए जाने के लिए उपयुक्त स्थान बताया।

ये सदस्य आए थे निरीक्षण करने - राज्य पतंजलि योग समिति के राजेन्द्र आर्य द्वारा प्रेमनारायण सोरठिया एवं सेवाराम बछानिया, अशोक शर्मा एवं महेश मालवीय को शिविर संभावना तलाशने भेजा गया था। इसके तहत स्थानीय पतंजलि समिति एवं योग प्रचारकों की बैठक भी हुई। निरीक्षण के बाद पतंजलि योग समिति मप्र के सदस्यों द्वारा खंडवा में योग शिविर की अनुकूलता का प्रस्ताव बनाकर भेजा गया है। राज्य स्तरीय प्रभारियों के सम्मुख स्व. कैलाशचंद बंसल की स्मृति में योग शिविर के लिए अपेक्षित सहयोग प्रदान करने सहमति दी गई। इंडोर स्टेडियम में हुई बैठक में जिला पतंजलि समिति के दारासिंग, आशा उपाध्याय, धीरेंद्र सिंह, निकिता मालाकार, मोना दफ्तरी, अनुराग बंसल, कौशल मेहरा, सौरभ कुशवाह, चंद्रकुमार सांड, घनश्याम गोलकर, विजय मसानी, संदीप सैनी आदि उपस्थित थे।

गुरु गोविंदसिंह स्टेडियम पर मई में होगा आयोजन, फिलहाल तारीख तय नहीं

बाबा रामदेव के खंडवा आने को लेकर रणनीति बनाते पदाधिकारी।

सभी के लिए निशुल्क रहेगा प्रवेश

अनुराग बंसल ने बताया योग शिविर में सभी के लिए प्रवेश निशुल्क रहेगा। यहां होने वाले शिविर के लिए तमाम व्यवस्थाएं की जा रही है, ताकि भाग लेने वालों को असुविधा का सामना न करना पड़े।