--Advertisement--

बाबा की दरगाह पर मुरादियों ने माथा टेका

सैलानी बाबा दरगाह पर गुरुवार से पांच दिनी मेला शुरू हुआ। पहले दिन दरगाह पर हजारों मुरादियों ने माथा टेका। सोमवार 5...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 03:45 AM IST
सैलानी बाबा दरगाह पर गुरुवार से पांच दिनी मेला शुरू हुआ। पहले दिन दरगाह पर हजारों मुरादियों ने माथा टेका। सोमवार 5 मार्च को मेले के मुख्य दिवस पर दरगाह पर चादर चढ़ाई जाएगी। गौरतलब है सैलानी बाबा की दरगाह पर बाहरी बाधाओं से पीड़ित व्यक्ति पहुंचते हैं। चादर चढ़ाने के लिए खंडवा जिले के अलावा प्रदेश के अन्य जिलों से भी जायरीन आते हैं।

स्थानीय निवासी अनवर खान, अब्दुल खान और मेहबूब खान ने बताया करीब 55 वर्ष पूर्व सैलानी बाबा की दरगाह की स्थापना की गई थी। लोग अपनी दुख-तकलीफ में बाबा की दरगाह पर आकर मन्नत मानते हैं। ग्राम जामली मूंदी में स्थित सैलानी बाबा की दरगाह हिंदू-मुस्लिम एकता की मिसाल है। मेले में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर मेला प्रभारी एएसआई महेंद्र कराहे ने निरीक्षण किया। उन्होंने बताया मेले के आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए 4 जवान तैनात किए गए हैं। ग्राम पंचायत जामली के सरपंच दिनेश सोलंकी ने बताया सांस्कृतिक मेले में कुछ बाहरी लोगों द्वारा खुलेआम जुआ चलाया जाता है। जिससे मेले की फिजा बिगड़ती है। उन्होंने मेले में अवैध गतिविधियों पर रोक लगाने की मांग की।

जावर के पास सैलानी बाबा दरगाह पर बाहरी बाधाओं से पीड़ित व्यक्ति पहुंचते हैं

सैलानी बाबा दरगाह पर बड़ी संख्या में मुरादी पहुंचे।

अपने भीतर के अहंकार का करे अंत

बोरगांवबुजुर्ग |
सांई मंदिर में गुरुवार को संत सिंगाजी की परचरी पुराण कथा का समापन हुआ। कथा वाचक रमेश महाराज ने कहा अपने भीतर के अहंकार का अंत करने से जीवन सुखी हो जाएगा। जीवन में झुकना सीखें। संत सिंगाजी महाराज आज भी हमारे बीच ज्योति पुंज के रूप में विद्यमान हैं। जो हमारे जीवन को प्रकाशवान बना रहे हैं। कथा के समापन पर आसपास के 20 गांवों के पांच हजार से ज्यादा भक्तों ने प्रसादी ग्रहण की।