• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Khandwa News
  • News
  • कर्ज के 2.67 लाख लेने बैंक जा रहे किसान को दलाल ने रोका, बैंक ले गया, 50 हजार छुड़ाए, पुिलस ने दिलाए
--Advertisement--

कर्ज के 2.67 लाख लेने बैंक जा रहे किसान को दलाल ने रोका, बैंक ले गया, 50 हजार छुड़ाए, पुिलस ने दिलाए

क्रॉप लोन के 2.67 लाख रुपए लेने बैंक जा रहे किसान को रास्ते में बैंक का दलाल मिला। वह उसे अपने साथ ले गया और शराब पिलाई।...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 03:50 AM IST
क्रॉप लोन के 2.67 लाख रुपए लेने बैंक जा रहे किसान को रास्ते में बैंक का दलाल मिला। वह उसे अपने साथ ले गया और शराब पिलाई। इसके बाद वह किसान को बैंक ले गया और 50 हजार रुपए निकलवाकर रुपए लेकर चलते बना। किसान थाने पहुंचा तो सीएसपी ने उन्हें अपने पास बुला लिया। साथ ही दलाल सहित उसके साथी को भी बुलाया। यहां पर सीएसपी की फटकार के बाद बाद दलाल ने उसे रुपए लौटा दिए।

अशोक पिता जबरिया निवासी गजवाड़ा ने बताया खेती के लिए उसने खंडवा स्थित विजया बैंक में क्रॉप लोन के लिए आवेदन दिया था। 2.67 लाख रुपए स्वीकृत हो गए तो गुरुवार 1 मार्च को वह अपने बड़े भाई भारत के साथ बाइक पर बैंक से रुपए निकालने के लिए निकला। दोपहर 12 बजे ग्राम नागचून के पास उसे आनंद पिता प्रेमलाल मिला और बहाने से साथ ले गया। इसके बाद आनंद ने उसे शराब पिलाई और महेश नामक व्यक्ति के पास ले गया। जहां से दोनों उसे बैंक ले गए। मैंने बैंक से 50 हजार रुपए निकाले तो आनंद और महेश ने उससे रुपए ले लिए। कुछ देर बाद घटना की जानकारी अशोक ने बड़े भाई भारत को दी। भारत उसे मोघट थाने ले गया। इससे पहले कि वे शिकायत करते उन्हें नगर पुलिस अधीक्षक कार्यालय बुलाया गया। यहां आनंद और महेश पहले से मौजूद थे। मामला आपसी लेनदेन का होने से वहीं समझौता हो गया और किसान रुपए लेकर लौट गया।

किसान ने थाने में की शिकायत, सीएसपी ने दलाल को फटकार लगाई और रुपए वापस करवाए

किसान को दलाल से रुपए वापस दिलाए।

बैंक दलाल है आनंद, पहले भी कर चुका धोखाधड़ी

भारत ने बताया 2016 में उसका 4 लाख रुपए का क्रॉप लोन स्वीकृत हुआ था। आनंद पटेल ने बैंक से साठगांठ कर उसके दस्तावेज लगाकर 3 लाख रुपए निकाले थे। उस समय उसके साथ प्रेमलाल नामक दलाल भी था। भारत ने बताया उसके पास 10 एकड़ जमीन थी जो दलालों की वजह से खत्म हो गई। खेत मालिक होते हुए भी वह मजदूरी करने को मजबूर है।

लेनदेन का था मामला