Hindi News »Madhya Pradesh »Khandwa »News» 700 युवतियों को बताएंगे मित्रता में सतर्कता व आत्मरक्षा के तरीके

700 युवतियों को बताएंगे मित्रता में सतर्कता व आत्मरक्षा के तरीके

जीने में आ रहीं दिक्कतों को दूर करने व सामाजिक व्यवहार को बेहतर बनाने के तरीके 22 अप्रैल से सिखाए जाएंगे। युवतियों...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 05:30 AM IST

जीने में आ रहीं दिक्कतों को दूर करने व सामाजिक व्यवहार को बेहतर बनाने के तरीके 22 अप्रैल से सिखाए जाएंगे। युवतियों को दिए जाने वाले इस प्रशिक्षण में माता पिता से संवाद व मित्र बनाने में जरूरी सतर्कता के संबंध में बताया जाएगा। इसमें अभिभावक भी शामिल होंगे। तीन प्रदेशों के 15 मास्टर ट्रेनर 700 युवतियों को नि:शुल्क देंगे।

युवतियों का आत्मनिर्भर व मजबूत बनाने एवं 21वीं सदी की सामाजिक चुनौतियों का सामना करने के लिए भंडारी स्कूल में 22 व 23 अप्रैल को प्रशिक्षण होगा। सुबह 9 से शाम 5 बजे तक दो दिवसीय युवती सशक्तीकरण कार्यशाला होगी। जिसमें मप्र, महाराष्ट्र व छत्तीसगढ़ के 15 मास्टर ट्रेनर 40-40 की संख्या में 13 से 22 साल तक की 550 शहरी एवं 150 ग्रामीण क्षेत्र की बालिकाओं व युवतियों को प्रशिक्षण देंगे। दो दिन तक इनके आवागमन, नाश्ते, खाने यहां तक की रहने की व्यवस्था स्कूल के ही होस्टल में की जाएगी।

अभिभावक भी होंगे शामिल

स्कूल संचालक नीरज भंडारी व आरती भंडारी ने बताया प्रशिक्षण के अंतिम दिन मास्टर ट्रेनर अभिभावकों से भी चर्चा करेंगे। ट्रेनिंग में बताया जाएगा कि बच्चे का जन्मदिन बचपन में मनाते हैं तो बड़ा होने पर क्यों नहीं। बेटी कॉलेज या ट्यूशन के बाहर छेड़छाड़ की शिकायत करती है तो वे उसकी मदद करने के बजाए उसकी पढ़ाई क्यों छुड़वा देते हैं। ऐसे कई सवाल जो युवतियां ट्रेनर से पूछेंगी उनका जवाब पैरेंट्स से पूछा जाएगा।

यह सिखाया जाएगा शिविर में

कार्यशाला में युवतियों को मानसिक रूप से मजबूत बनाया जाएगा

कार्यशाला में युवतियों को मानसिक और शारीरिक रूप से मजबूत बनाया जाएगा। बढ़ती उम्र के साथ माता-पिता से कैसा संवाद करें, मित्रों का चयन कैसे हों, आत्मविश्वास व आत्म सम्मान को कायम कैसा रखा जाए। सोशल मीडिया का किस तरह उपयोग, आत्मरक्षा कैसे करें। मौजूदा चुनौतियों के बीच युवतियां सुरक्षा पूर्ण जीवन कैसे जी सकती हैं। यह सब बताया जाएगा।

40 से की थी शुरुआत, 2 हजार युवतियों को बनाना है आत्मनिर्भर

नीरज भंडारी ने बताया चार साल पहले प|ी आरती ने स्कूल में ही 40 छात्राओं से स्मार्ट गर्ल मिशन की शुरुआत की। इसके बाद 2016 में 350 बालिका व युवतियों को प्रशिक्षण दिया। भारतीय जैन संघटना व भंडारी स्कूल का लक्ष्य 2 हजार युवतियों को प्रशिक्षण देकर उन्हें आत्मनिर्भर एवं आत्मरक्षा करना सिखाना है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×