--Advertisement--

सुबह तहसीलदार को कांग्रेसियों ने घेरा, शाम तक लोगों ने हटाए टपरे

चीरा खदान क्षेत्र में बुधवार सुबह कांग्रेसियों ने विरोध प्रदर्शन कर तहसीलदार प्रताप अगासिया को घेर लिया। दो घंटे...

Danik Bhaskar | Feb 01, 2018, 02:35 PM IST
चीरा खदान क्षेत्र में बुधवार सुबह कांग्रेसियों ने विरोध प्रदर्शन कर तहसीलदार प्रताप अगासिया को घेर लिया। दो घंटे तक यहां टपरे तोड़े जाने पर विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने मकान तोड़ रहे मजदूरों को धमकाते हुए काम रुकवा दिया। नेताओं के जाने के बाद लोगों को तहसीलदार और निगम अफसरों ने समझाइश दी। इसके बाद लोगों ने स्वेच्छा से अपने टपरे तोड़ लिए। शाम तक सभी 25 परिवारों को अस्थायी टीन शेड में विस्थापित किया। मल्टी बनने के बाद संबंधित लोगों को प्राथमिकता से पक्का आवास दिया जाएगा।

जिन लोगों के टपरे हटाए जा रहे थे वहां आवासहीन लोगों के लिए प्रधान मंत्री आवास योजना के तहत तीन मंजिला मल्टी निगम बनवा रहा है। लोगों को हटाने पर कांग्रेसियों ने मौके पर पहुंचकर कहा कोई भी व्यक्ति बिना नोटिस के अपना मकान नहीं तोड़े। इस दौरान जिन लोगों के टपरे हटाए जा रहे थे वे भी कांग्रेस नेताओं के साथ विरोध प्रदर्शन करने लगे। शहर कांग्रेस अध्यक्ष इंदल सिंह पवार, श्याम यादव सहित अन्य कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया।

विवाद बढ़ने पर बुलाई डायल 100

विवाद बढ़ने पर निगम के सहायक यंत्री अंतरसिंह तंवर ने डायल 100 को फोन किया। मौके पर आए पुलिस बल ने प्राथमिक सूचना लिखी।

तहसीलदार बोले : मैं केवल अपना काम कर रहा हू

कांग्रेसियों ने चारों तरफ से तहसीलदार को घेर लिया।

अफसर बेघर कर रहे हैं




लोगों से बात करते हुए कलेक्टर अभिषेक सिंह।

स्वेच्छा से हट रहे हैं लोग

लोगों ने कहा किश्त माफ कर दो, कलेक्टर ने हाथ जोड़कर कहा ये नहीं हो सकता

चीरा खदान क्षेत्र में निगम द्वारा लोगों को आवंटित एकीकृत आवास देखने बुधवार शाम कलेक्टर अभिषेक सिंह गए। यहां उन्होंने लोगों की समस्याएं सुनी। इस दौरान लोगों ने कलेक्टर से कहा साहब बैंक की किश्त माफ कर दो। बहुत परेशान कर रहे हैं। यह सुन कलेक्टर ने हाथ जोड़ते हुए कहा यह नहीं हो सकता।

ऐसे चला विरोध प्रदर्शन





सारी सुिवधाएं दी है