--Advertisement--

400 से ज्यादा बसों में नहीं लगे कैमरे और जीपीएस

स्कूलों में नया सत्र शुरू हो चुका है, लेकिन एक बार फिर स्कूल बसें नियमों का पालन नहीं कर पा रही है। शहर सहित जिले में...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:55 AM IST
स्कूलों में नया सत्र शुरू हो चुका है, लेकिन एक बार फिर स्कूल बसें नियमों का पालन नहीं कर पा रही है। शहर सहित जिले में 500 से ज्यादा संचालित बसों में 100 से ज्यादा ही बसें सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन का पालन कर रहीं हैं। बसों में सीसीटीवी कैमरे व जीपीएस नहीं लगे हैं। 31 मार्च तक हर हाल में नियमों का पालन करना जरूरी था।

सुप्रीम कोर्ट की गाइड लाइन का स्कूल संचालक पालन नहीं कर रहे हैं। बसों में स्पीड गर्वनर व सीसीटीवी कैमरे, जीपीएस लगाने की तारीखें बढ़ाने के बावजूद संचालकों ने नियमों का पालन नहीं किया है। सोमवार से ऐसी बसों पर आरटीओ विभाग की टीमें कार्रवाई करेंगी। एआरटीए एचएल सिमरिया ने कहा कि गृह मंत्री के आदेशानुसार कार्रवाई होगी। क्योंकि स्कूल संचालकों को 31 मार्च तक बसों में सीसीटीवी कैमरे, जीपीएस व स्पीड गवर्नर लगाने का अल्टीमेटम दिया था। अब तारीख नहीं बढ़ाई है।

बसों में छात्राओं की देखरेख के लिए एक महिला पर्यवेक्षक भी नियुक्त करना अनिवार्य किया गया है। इसके लिए अब तक कई बार आरटीओ और स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारी निजी स्कूल संचालकों को पत्र भेज चुके हैं। औचक निरीक्षण कर कार्रवाई भी कर चुके हैं, इसके बावजूद व्यवस्था नहीं हो रही है।