खरगोन

--Advertisement--

बस स्टैंड पर देखा शौचालय, लोगों से की बात

स्वच्छता सर्वेक्षण करने आई दिल्ली की टीम ने दस्तावेजों का बुधवार को सत्यापन करने निकली। दोपहर 12.45 बजे दिल्ली से बस...

Danik Bhaskar

Mar 01, 2018, 03:45 AM IST
स्वच्छता सर्वेक्षण करने आई दिल्ली की टीम ने दस्तावेजों का बुधवार को सत्यापन करने निकली। दोपहर 12.45 बजे दिल्ली से बस स्टैंड क्षेत्र की लोकेशन मिली। एसबीएम मैन टीम का पहला सर्वेक्षण करने अतुल पटेल दो सदस्यों के साथ बस स्टैंड पहुंचे। यहां पहुंचकर टीम ने खुद की लोकेशन मॉनीटरिंग टीम को भेजी।

दल ने 20 मिनट तक सार्वजनिक शौचालय की व्यवस्थाएं देखी। बच्चों का टॉयलेट देखा। वेंटीलेशन लगाने को कहा। क्षेत्र में 15 मिनट तक कारोबारियों से फीडबैक लिए। शाम को 5.30 बजे अन्नपूर्णानगर, मांगरूल रोड, विजयलक्ष्मी हॉस्पिटल के पास लोगों के फीडबैक लिए। एक जगह शिकायत का क्रास वेरिफिकेशन किया तो झूठ निकला। टीम लाेगों को कचरा पेटी में डालने की सलाह दी। अभी टीम शहर में ही है। ट्रेचिंग ग्राउंड की क्यूरी नहीं आई। गुरुवार को चौथे दिन भी सर्वेक्षण चलेगा। सीएमओ निशीकांत शुक्ला ने बताया दस्तावेजों का फील्ड में टीम ने सत्यापन किया है। शहरवासियों ने अच्छे फीडबैक दिए। सकारात्मक परिणाम की उम्मीद है।

सदस्य बोले- सार्वजनिक शौचालय के दरवाजे पर लगाए वेंटिलेटर - टीम सबसे पहले सार्वजनिक शौचालय पहुंची। कर्मचारी राजू श्रीवास का कार्ड चेक किया। उसे फोटो लगाकर खुद साइन करने को कहा। यहां रजिस्टर जांचा। पिछले व चालू माह की इंट्री देखी। शौचालय के गेट के वेंटिलेशन को ठीक करने की सलाह दी। कटलरी व कास्मेटिक संचालक पवन शर्मा से पूछा- ग्राहक बाहर कचरा फेंकते हैं तो क्या करते हैं? जवाब मिला- तब डस्टबिन में खुद डालते हैं। उनके ड्राइविंग लाइसेंस की आईडी का फोटो भेजकर ऑनलाइन फीडबैक भेजा। मोबाइल शॉप पर संतोष बड़ोले से सफाई होने की जानकारी ली। उन्होंने बताया 12 महीने से रात में भी सफाई हो रही है।

12.45 बजे दिल्ली से मिली खरगोन बस स्टैंड की लोकेशन, चौथे दिन आज भी जांचेंगे

दल ने 20 मिनट तक शौचालय की स्थिति देखी।

लोगों के आईडी प्रूफ भेजे

टीम जहां भी गई, खुद की लोकेशन मॉनीटरिंग टीम को भेजी। जिन लोगों से फीडबैक लिए उनके फोटो आईडी प्रूफ के लिए ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड आदि के फोटो खींचकर दस्तावेज के साथ भेजे। सारी प्रक्रिया ऑनलाइन हुई। दिल्ली से मॉनीटरिंग होती रही, सवाल व लोकेशन पर काम होता गया।

Click to listen..