--Advertisement--

मॉडल व उत्कृष्ट स्कूल में नहीं हुई योग्य शिक्षकों की नियुक्ति

शिक्षा की गु‡णवत्ता बढ़ाने के लिए शिक्षा विभाग द्वारा जुलाई 2017 में शिक्षकों की ऑन लाइन परीक्षा आयोजित की गई थी।...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:55 AM IST
शिक्षा की गु‡णवत्ता बढ़ाने के लिए शिक्षा विभाग द्वारा जुलाई 2017 में शिक्षकों की ऑन लाइन परीक्षा आयोजित की गई थी। इसमें प्रदेश भर के 10 हजार शिक्षकों ने भाग लिया था। िजले में करीब एक दर्जन से अधिक मॉडल व उत्कृष्ट स्कूलों के लिए 200 शिक्षकों ने परीक्षा दी थी। इन स्कूलों में योग्य शिक्षकों की नियुक्ति होना था, लेकिन पूरा सत्र बीतने तक नहीं हो सकी। योग्य शिक्षकों की कमी के चलते बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। परीक्षा को 8 माह हो चुके हैं लेकिन नियुक्ति प्रक्रिया अधर में है। विभाग अब मंत्रालय की स्वीकृति की राह देख रहा है।

मॉडल में नहीं हैं शिक्षक : किल्लौद के मॉडल स्कूल में एक भी स्थायी शिक्षक नहीं है। पूरी पढ़ाई अतिथि शिक्षकों के जिम्मे है। विद्यार्थियों को उम्मीद थी कि ऑन लाइन परीक्षा के बाद उन्हें योग्य शिक्षकों से पढ़ने का मौका मिलेगा। शिक्षकों की कमी के चलते ही मॉडल में 11वीं-12वीं की कक्षाएं प्रारंभ नहीं हो पा रही हैं। परीक्षा देने वाले शिक्षक भी भर्ती का इंतजार कर रहे हैं। वे जल्द ही स्कूल शिक्षा मंत्री से भेंट करेंगे। इसके विपरीत आदिम जाति कल्याण विभाग ने जुलाई 2017 में परीक्षा आयोजित कर अगस्त में नियुक्ति भी कर दी है।


10 हजार शिक्षकों ने दी थी परीक्षा

201 मॉडल स्कूल हैं प्रदेश में

235 उˆकृष्ट स्कूल हैं प्रदेश में