अपराध / ग्रामीणों के दबाव में पकड़े लकड़ी चोर, रेंजर के सामने आरोपी बोले- हर वनकर्मी को देते हैं रुपए



Arrested for illegal logging of tree in harsood
X
Arrested for illegal logging of tree in harsood

  • बलड़ी रेंज में सागौन की अवैध कटाई
  • दो बैलगाड़ी, सागौन सहित आरोपी पकड़े 

Jul 14, 2019, 01:03 PM IST

हरसूद. बलड़ी वन परिक्षेत्र (किल्लौद) में वन कर्मियों की मिलीभगत से सागौन माफिया सालों से सक्रिय है। कई बार ग्रामीणों के आगे आने पर वन अफसरों को मजबूरी में केस बनाना पड़ता है।

 

गुरुवार की रात भी दरकली बीट में दो बैलगाड़ी पर दर्जनभर से अधिक सागौन पेड़ काट कर ले जाए जा रहे थे। नगावां के ग्रामीणों की सूचना पर रेंजर ने टीम के साथ जाकर जब्ती बनाई। आरोपियों ने ग्रामीणों की मौजूदगी में ही रेंजर से कहा कि डिप्टी रेंजर, बीट प्रभारी से लेकर हर वनकर्मी को 1500 से 3000 हजार रुपए देते हैं। वे आपके नाम पर भी हमसे रुपए लेते हैं। इस आरोप पर रेंजर कुछ जवाब नहीं दे सके। 


पकड़े गए आरोपी विजय सिंह पिता भूरा तथा रामसिंह पिता मांगीलाल निवासी नगांवा ने बताया हम तो दोपहर 3 बजे भी सागौन काटकर ले गए थे। 15 दिन पहले रात में भी सागौन काटे थे। जब रुपए दे रहे हैं तो कभी भी काट सकते हैं। हमने डिप्टी रेंजर भगवान पटेल, नाकेदार कृष्ण कुमार मिश्रा, रामरथ प्रजापति को 1500-1500 रुपए नकद दिए। 


दो-दो हजार रुपए अगले दिन देने की बात हुई थी। रेंजर के सामने बेखौफ आरोपियों के इस बयान का ग्रामीणों ने वीडियो भी बनाया है। सागौन जब्त कराने में गांव के मुकुल सारन, नंदू पंवार, बलराम भुसारे, बलीराम पंवार की सक्रियता रही। 


केस दर्ज कर जमानत भी दे दी
जंगल से कीमती सागौन काटने के आरोपी विजय पिता भूरा से 11 नग (0.299 घनमीटर) तथा राम सिंह पिता मांगीलाल निवासी नगांवा से 12 नग सागौन (0.338 घनमीटर) सागौन लट्‌ठे जब्त कर केस बनाया। इनके साथी फूलसिंह पिता किशोर निवासी सुकल्या तलाई को भी गिरफ्तार किया है। डिप्टी रेंजर भगवान पटेल ने बताया तीनों आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर जमानत पर छोड़ दिया है। बैलगाड़ी भी सुुपुर्दनामे पर आरोपियों को दे दी गई। 


मामला दबाने की कोशिश करते रहे रेंजर 
जंगल से एक ही दिन और रात में 23 नग सागौन काटने और आरोपियों द्वारा रुपए देने के आरोप के बावजूद रेंजर डीपी बरकड़े मामले को दबाने की कोशिश करते रहे। लकड़ी चोरों ने जब्ती के दौरान नाकेदार राम प्रसाद साक्य से मारपीट भी की। नाकेदार की नाक पर चोट भी लगी। लेकिन रेंजर ने इस मामले की पुलिस को शिकायत तो दूर सूचना तक नहीं दी। इतना ही नहीं आरोपियों को भी तत्काल छोड़ दिया गया। 

 

आरोपियों ने वनकर्मियों को रुपए देने के आरोप लगाए हैं। उन्हें नोटिस देकर जांच की जाएगी। मामले से वरिष्ठ अफसरों को अवगत करा रहा हूं।

डीपी बरकड़े, रेंजर बलड़ी 


 

मामले की जानकारी मिली है। रेंजर के प्रतिवेदन का इंतजार है। मिलते ही जांच शुरू करेंगे। जो भी दोषी पाया जाएगा उस पर कार्रवाई की जाएगी।

केएस रंधावा, एसडीओ वन हरसूद 

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना