विरोध / भाजपा की चिमनी यात्रा : हेलोजन के उजाले में जलाई 7 चिमनियां, दुकानों पर बांटी

Dainik Bhaskar

Jun 13, 2019, 10:37 AM IST



हेलाेजन के उजाले में भाजपा पदाधिकारियाें ने चिमनियां जलाई व कांग्रेस सरकार में बिजली कटौती का विरोध किया। हेलाेजन के उजाले में भाजपा पदाधिकारियाें ने चिमनियां जलाई व कांग्रेस सरकार में बिजली कटौती का विरोध किया।
X
हेलाेजन के उजाले में भाजपा पदाधिकारियाें ने चिमनियां जलाई व कांग्रेस सरकार में बिजली कटौती का विरोध किया।हेलाेजन के उजाले में भाजपा पदाधिकारियाें ने चिमनियां जलाई व कांग्रेस सरकार में बिजली कटौती का विरोध किया।

  • पावरलूम फेडरेशन अध्यक्ष बोले- शिवराज सरकार में 24-24 घंटे बिजली मिलती थी, अब कोई समय नहीं कब बंद हो जाए 

बुरहानपुर. 15 साल बाद मप्र की सत्ता में लौटी कांग्रेस सरकार के खिलाफ भाजपा ने बिजली कटौती को लेकर बुधवार रात को धरना प्रदर्शन किया। चिमनी यात्रा के तहत हेलोजन के उजाले मेें सात चिमनियां जलाईं और दुकानों पर बांटी। प्रदर्शन चिमनी के नाम पर था, लेकिन धरने के लिए कमल टॉकीज से बिजली कनेक्शन लिया। सभी पदाधिकारियों ने एक ही बात कही कि शिवराज सरकार में 24 घंटे बिजली मिलती थी। 

 

बुधवार शाम 7 बजे से शुरू हुए धरना प्रदर्शन में शहरभर के पदाधिकारी और कार्यकर्ता पहुंचे। इस दौरान राजस्थान में भाजपा के राजू जोशी की बेटी का विवाह था। इस कारण महापौर अनिल भोसले, जिलाध्यक्ष विजय गुप्ता सहित अन्य जनप्रतिनिधि और पदाधिकारी प्रदर्शन में शामिल नहीं हो सके। 

धरना प्रदर्शन के अंत में आए मप्र पावरलूम फेडरेशन अध्यक्ष ज्ञानेश्वर पाटील ने कहा- शिवराज सरकार में शहर और गांवों में 24 घंटे बिजली मिलती थी। कमलनाथ सरकार ने जनता को धोखा दिया। अब बिजली कब गुल हो जाती है उसका कोई समय तय नहीं है। कर्ज माफ करने का बोले सरकार को छह महीने बीत गए लेकिन अब तक किसानों के खाते कर्ज मुक्त नहीं हुए हैं। सरकार ने अभी ट्रांसफर उद्योग शुरू किया है। इससे कांग्रेस के नेता सिर्फ पैसा कमाने में जुटे हुए हैं। उनको गरीबों की परेशानी से कोई लेना-देना नहीं है। 

 

जनता उनके बहकावे में आकर गुमराह हो गई 
महामंत्री मनोज लधवे ने कहा- 300 रुपए में कमलनाथ ने राशन देने का वादा किया। जनता उनके बहकावे में आकर गुमराह हो गई लेकिन मोदीजी को जीता कर उनके झूठे वादों का जवाब दे दिया। हम सरकार गिराने के पक्ष में नहीं हैं। क्योंकि यह खुद ही अपने कर्मों से गिर जाएगी। मंडल अध्यक्ष संभाजी सगरे ने कहा- शहर में पानी प्रदाय के समय बिजली गुल हो रही है। इससे लोग परेशान हो रहे हैं। वरिष्ठ नेता जगदीश कपूर ने कहा प्रदेश के मुख्यमंत्री का नाम कमलनाथ नहीं बल्कि कड़कनाथ होना चाहिए, क्योंकि उनकी तरह खून भी काला है। युवा मोर्चा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य गजेंद्र पाटील, पार्षद विनोद पाटील, महिला मंडल अध्यक्ष कविता मोरे सहित अन्य पदाधिकारियों ने भी धरने को संबोधित किया। रात करीब 8.15 बजे चिमनियां जलाकर दुकानों पर बांटी गईं। बिजली गुल होने पर इन्हें जलाने का अनुरोध किया गया।

COMMENT