--Advertisement--

तकिए से मुंह दबाकर की थी पत्नी की हत्या, पुलिस को बताया था दुपट्‌टे से लगाई फांसी, खुद ने ही लिखा था सुसाइट नाेट

पानवाड़ी में महिला की संदिग्ध मौत का मामला, 4 साल की बेटी बोली- मम्मी को पापा ने मारा

Danik Bhaskar | Sep 10, 2018, 04:25 PM IST

बड़वानी. पानवाड़ी मोहल्ले में महिला की संदिग्ध मौत के मामले में उसका पति ही हत्यारा निकला। चार साल की बेटी ने पुलिस को बताया कि मम्मी को पापा ने मारा है, जबकि आरोपी ने शनिवार को बताया था कि उसकी पत्नी ने दुपट्टे से फांसी लगाई है। इशरत मंसूरी मोहल्ले में रहने वाले बाबू हुसैन से अकसर बात करती थी, जो उसके पति मोहम्मद शाहीद मंसूरी को पसंद नहीं था। उसने बाबू हुसैन से बात करने के लिए मना भी किया था, लेकिन वह नहीं मानी।

इस बात को लेकर ही शुक्रवार रात को दोनों के बीच विवाद भी हुआ था। इसके बाद आरोपी ने तकिए से महिला का मुंह दबाकर हत्या कर दी थी। सजा से बचने के लिए पति ने ही स्लेट पर सुसाइड नोट लिखा था। इसमें बाबू हुसैन व उसके परिवार को फंसाने की साजिश रची थी लेकिन घर के पिछले हिस्से में मिले संघर्ष के निशान, पुलिस की सख्ती और हैंडराइटिंग से वह फंस गया। पुलिस कंट्रोल रूम पर एसपी विजय खत्री और एएसपी ओंकार सिंह कलेश ने इसका खुलासा किया। आरोपी को सोमवार को न्यायालय में पेश किया गया।

कमरे में मिली थी टूटी चूड़ी व मंगलसूत्र
शनिवार सुबह पुलिस को महिला का शव घर के पलंग पर पड़ा होने की सूचना मिली थी। इसके बाद पुलिस टीम व एफएसएल अधिकारी बीएस बघेल ने मौके की बारीकी से जांच की थी। मृतका की जुबान मुंह के अंदर थी। वहीं पुलिस को शव के आसपास यूरीन व सलाइवा भी मिला था। घर के पिछले हिस्से में टूटी हुई चूड़ियां और टूटा मंगलसूत्र मिला था। इससे स्पष्ट था कि महिला के साथ संघर्ष हुआ। आरोपी के कंधे व सीने पर नाखून के निशान थे। पुलिस ने मृतका के नाखून भी जांच के लिए बतौर सैंपल लिए थे। वहीं डॉक्टर्स की रिपोर्ट ने भी तकिए से मृतका का मुंह व नाक दबाकर हत्या करने की पुष्टि की थी।

यह था मामला
पानवाड़ी मोहल्ले में शनिवार सुबह घर में पलंग पर इशरत मंसूरी का शव मिला था। पति मोहम्मद शाहीद ने महिला द्वारा पलंग पर ही दुपट्टे से फांसी लगाना बताया था। वहीं महिला के परिजनों ने दामाद पर बेटी की हत्या के आरोप लगाया था, क्योंकि आठ दिन पहले भी दोनों के बीच विवाद हुआ था। इस दौरान दामाद ने बेटी पर केरोसिन डाल दिया था।