--Advertisement--

बैंक लोन / कर्जमाफी के लिए खाते से आधार लिंक जरूरी, कल से पंचायत व शाखा में चस्पा होंगी सूचियां

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 11:17 AM IST


किसानों के कर्जमाफी पर भोपाल पहुंचकर जिला पंचायत सदस्य कैलाश यावतकर और महामंत्री शैली कीर ज्योतिरादित्य सिंधिया से मिले। किसानों के कर्जमाफी पर भोपाल पहुंचकर जिला पंचायत सदस्य कैलाश यावतकर और महामंत्री शैली कीर ज्योतिरादित्य सिंधिया से मिले।
X
किसानों के कर्जमाफी पर भोपाल पहुंचकर जिला पंचायत सदस्य कैलाश यावतकर और महामंत्री शैली कीर ज्योतिरादित्य सिंधिया से मिले।किसानों के कर्जमाफी पर भोपाल पहुंचकर जिला पंचायत सदस्य कैलाश यावतकर और महामंत्री शैली कीर ज्योतिरादित्य सिंधिया से मिले।

  • कांग्रेस का वचन पत्र 52 सोसायटियों के 23493 किसानों के 215 करोड़ होगा माफ

बुरहानपुर. जिले में कर्जमाफी के लिए किसानों की सूची तैयार हो गई है। मंगलवार को पंचायत कार्यालय और सभी संबंधित बैंकों में सूचियां लगा दी जाएंगी। कर्जमाफी के लिए किसान के खाते को आधार लिंक करना जरूरी है। आधार लिंक होने पर ही कर्जमाफी का लाभ मिल सकेगा। जिले में 52 सोसायटियों के 23 हजार 493 किसानों को कर्जमाफी के लिए चिह्नित किया है। इनका मूलधन-ब्याज 215 करोड़ रुपए के लगभग है। कर्जमाफी अल्पकालीन फसल ऋण लेने वाले किसान की ही होगी।

 

सरकार कर्जमाफी योजना को प्रमुखता दे रही है। प्रशासन ने भी किसानों के आधार सीडिंग के लिए तैयारी शुरू कर दी है। पंचायत व बैंक को यह कार्य तेजी से करने को कहा है। किसानों के आधार सीडिंग वाले नाम की सूची हरी और सीडिंग नहीं किए नाम की सूची सफेद होगी। आपत्ति दर्ज कराने के लिए गुलाबी फाॅर्म भरना होगा। जिसका 31 मार्च 2019 तक निराकरण भेजा जाएगा। बिना फाॅर्म भरे या आधार सीडिंग नहीं होने पर योजना का लाभ नहीं मिलेगा। आधार कार्ड या बैंक खाता नंबर की पूर्ति 5 फरवरी तक करना होगी। 2 हजार से अधिक राशि वाले ऋणी को ऋण मुक्ति प्रमाण पत्र दिए जाएंगे। 26 जनवरी से आवेदन पोर्टल पर ऑनलाइन होंगे और अपलोड होते ही किसान को मैसेज मिलेगा। प्रत्येक भुगतान के समय किसान को रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर मैसेज आएगा।


गुलाबी फाॅर्म भरकर किसान ले सकेंगे आपत्ति : जिन किसानों के खाते आधार से लिंक है, उन्हें हरा फाॅर्म भरना है। जिन किसानों के आधार लिंक नहीं, उन्हें सफेद फाॅर्म जमा करना है। किसानों को यदि कोई आपत्ति हो तो वे गुलाबी फाॅर्म भरकर जमा कर सकते हैं।
 
यहां जमा कर सकेंगे आवेदन : जिस ग्राम पंचायत या निकाय में कृषि भूमि है, उस पंचायत या निकाय में फाॅर्म जमा करना है। यदि विभिन्न पंचायतों में कृषि भूमि है तो अपनी पंचायत में ही आवेदन कर सकेंगे। बदले में रसीद मिलेगी। राष्ट्रीय या क्षेत्रिय ग्रामीण बैंक के ऋणी आधार कार्ड व ऋण खाता पासबुक की छायाप्रति साथ लगाए। सहकारी बैंक या प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति के ऋणी को पासबुक देना अनिवार्य नहीं है।

संयुक्त खाते में कितने भी पात्र हो, 2 लाख तक ही मिलेंगे : संयुक्त खाते में जो-जो किसान ऋणी है, उसे खाते से आधार लिंक करना होगा। एक ऋण खाते में एक से अधिक संयुक्त ऋणी होने पर योजना की पात्रता अनुसार अधिकतम 2 लाख रुपए तक राशि का लाभ मिलेगा।


ये कर्जमाफी के हकदार : राष्ट्रीयकृत, क्षेत्रिय के 31 मार्च 2018 तक मूलधन व ब्याज की गणना कर जो कुल बकाया राशि है, उसे आधार जिनके नियमित ऋण खाते में बकाया राशि रेगुलर आउट स्टेंडिंग लोन दर्ज हो, रेगुलर आउट स्टेंडिंग लोन था, 12 दिसंबर 2018 तक पूरा/आंशिक रूप से पटा, सहकारी बैंक के कालातीत या अन्य ऋणदाता बैंकों के लिए डिफाल्टर को लाभ मिलेगा।


राजनीतिक, आयकरदाता, जीएसटी पंजीकृत अपात्र : वर्तमान या पूर्व सांसद, विधायक, जिपं अध्यक्ष, नगर पालिका, नगर पंचायत नगर निगम अध्यक्ष/महापौर, कृषि उपज मंडी अध्यक्ष, सहकारी बैंकों के अध्यक्ष, केंद्र व राज्य सरकार की गठित निगम, मंडल या बोर्ड के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, आयकर दाता, संविदा कर्मी वर्ग-1, 2, 3 व 12 दिसंबर तक जीएसटी पंजीकृत या फर्म में भागीदार, अपात्र माने जाएंगे।


वर्तमान, पूर्व पदाधिकारी के परिवार के सदस्य होंगे पात्र : ग्राम रोजगार सहायक, डाटा इंट्री ऑपरेटर, आंगनवाड़ी, आशा कार्यकर्ता, आउटसोर्स कर्मचारी, शासकीय या अर्द्ध शासकीय निगम, मंडल कर्मचारी, चतुर्थ श्रेणी कर्मी, पूर्व सैनिक, वर्तमान या पूर्व पदाधिकारी के परिवार के अन्य वयस्क सदस्य के नाम से फसल ऋण लिया हो तो मापदंड की पूर्ति करने पर लाभ मिलेगा। एेसे किसान जिनकी कर्ज लेने के बाद मृत्यु हो गई, उनके वारिस को संयुक्त रुप से लाभ मिलेगा। जिसके लिए उन्हें गुलाबी आवेदन पत्र भरना होगा।

सभी बैंकों ने किसानों की सूची अपलोड की है। ये एमपी ऑनलाइन पर पहुंचेगी। जहां से सोमवार को सूची डाउनलोड की जाएगी। पंचायत व शाखा में चस्पा करेंगे।

उमेशकुमार, कलेक्टर

 

Astrology
Click to listen..