• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Khandwa
  • News
  • बैंक के पास ऋण व उपज भुगतान के लिए नहीं है रुपए, 5 घंटे इंतजार, किसी को नींद लग गई तो कोई बैठ गया
--Advertisement--

बैंक के पास ऋण व उपज भुगतान के लिए नहीं है रुपए, 5 घंटे इंतजार, किसी को नींद लग गई तो कोई बैठ गया

भुगतान के इंतजार में बैंक के बाहर गेट पर महिला व अंदर बुजुर्ग किसान सो गए। थोड़ी देर बाद कुछ जमीन पर बैठ गए। हर दिन...

Dainik Bhaskar

May 18, 2018, 05:00 AM IST
बैंक के पास ऋण व उपज भुगतान के लिए नहीं है रुपए, 5 घंटे इंतजार, किसी को नींद लग गई तो कोई बैठ गया
भुगतान के इंतजार में बैंक के बाहर गेट पर महिला व अंदर बुजुर्ग किसान सो गए। थोड़ी देर बाद कुछ जमीन पर बैठ गए।

हर दिन 1.25 करोड़ रुपए का भुगतान

बैंक शाखा प्रबंधक तुलसीराम मुकाती ने बताया पहली बार यह स्थिति बनी है। जबकि शाखा द्वारा किसानों को हर दिन 1.25 करोड़ तक चना-गेहूं की भावांतर राशि का भुगतान किया जा रहा है। बुधवार देर शाम तक 95 लाख का भुगतान हुआ था, गुरुवार को पांच लाख रुपए थे, जिसमें से हमने कुछ किसानों को भुगतान कर दिया।

बैंक के पास ऋण व उपज भुगतान के लिए नहीं है रुपए, 5 घंटे इंतजार, किसी को नींद लग गई तो कोई बैठ गया
X
बैंक के पास ऋण व उपज भुगतान के लिए नहीं है रुपए, 5 घंटे इंतजार, किसी को नींद लग गई तो कोई बैठ गया
बैंक के पास ऋण व उपज भुगतान के लिए नहीं है रुपए, 5 घंटे इंतजार, किसी को नींद लग गई तो कोई बैठ गया
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..