• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Khandwa News
  • News
  • जेल में समय का सदुपयोग कर कुछ सीखें, यहां से निकलने पर अपना रोजगार स्थापित करें
--Advertisement--

जेल में समय का सदुपयोग कर कुछ सीखें, यहां से निकलने पर अपना रोजगार स्थापित करें

जिला जेल में महिला बंदियों और उनके साथ रह रहे बच्चों के लिए 10 दिनी विशेष विधिक सेवा अभियान शुरू भास्कर संवाददाता...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 05:00 AM IST
जिला जेल में महिला बंदियों और उनके साथ रह रहे बच्चों के लिए 10 दिनी विशेष विधिक सेवा अभियान शुरू

भास्कर संवाददाता | खंडवा

राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली, मप्र राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देश तथा जिला एवं सत्र न्यायाधीश और जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अध्यक्ष संजय शुक्ला के मार्गदर्शन में गुरुवार से जिला जेल में महिला बंदियों और उनके साथ रह रहे बच्चों के लिए 10 दिनी विधिक सेवा अभियान की शुरुआत हुई। शुभारंभ प्राधिकरण सचिव बीएल प्रजापति ने किया। उन्होंने महिला बंदियों से कहा इस अभियान का उद्देश्य आपको समाज की मुख्य धारा में शामिल कराना है। यहां समय का सदुपयोग कर कुछ सीखें और यहां से निकलने के बाद स्वयं का रोजगार स्थापित कर रोजी-रोटी कमाएं।

श्री प्रजापति ने कहा 26 मई तक चलने वाले इस अभियान के तहत महिला बंदियों का स्वास्थ्य परीक्षण, शिक्षा, रोजागारोन्मुखी प्रशिक्षण कराया जाएगा। ऐसी महिला बंदी जिनके पास प्रकरण में पैरवी के लिए अधिवक्ता नहीं है, उन्हें जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से निशुल्क विधिक सहायता के लिए अधिवक्ता उपलब्ध कराया जाएगा। जिला विधिक सहायता अधिकारी चंद्रेश मंडलोई ने अभियान के तहत होने वाली गतिविधियों की जानकारी दी।

महिला बंदियों और बच्चों की प्रोफाइल तैयार की - जेल अधीक्षक प्रभात चतुर्वेदी ने कहा बंदियों में सुधार करना ही हमारा प्रमुख कार्य है। महिला एवं बाल विकास विभाग के राजकुमार साहू ने कहा शिविर के दौरान रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण जीविकोपार्जन के लिए अच्छा माध्यम बन सकता है। इसके बाद पैरालीगल वालिंटियर निकिता नागोरी, अब्बास अली, दीपक लाड़ और विधि की छात्रा निवेदिता तिवारी ने महिला बंदियों और बच्चों के प्रोफाइल तैयार किए। ताकि उन्हें विधिक सलाह और सहायता दी जा सके। जिला अस्पताल के डॉ. भूषण बांडे ने महिलाओं और बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण कर दवा दी। इस दौरान सिविल सर्जन डाॅ. ओपी जुगतावत मौजूद थे। संचालन जिला विधिक सहायता अधिकारी चंद्रेश मंडलोई ने किया। आभार उप जेल अधीक्षक वीपी प्रसाद ने माना।