Hindi News »Madhya Pradesh »Khandwa »News» शिक्षा का उद्देश्य पढ़ने-लिखने तक सीमित न रखकर चरित्र निर्माण का हो

शिक्षा का उद्देश्य पढ़ने-लिखने तक सीमित न रखकर चरित्र निर्माण का हो

व्याख्यान में शामिल विद्यार्थी।

Bhaskar News Network | Last Modified - May 18, 2018, 05:15 AM IST

शिक्षा का उद्देश्य पढ़ने-लिखने तक सीमित न रखकर चरित्र निर्माण का हो
व्याख्यान में शामिल विद्यार्थी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×