अपराध / आरटीजीएस के बहाने बैठे बदमाशों ने मैनेजर की गर्दन पर चाकू अड़ाकर 15 लाख लूट



Looted at Bank of India branch of Bodarli, robbed 15 lakh rupees
X
Looted at Bank of India branch of Bodarli, robbed 15 lakh rupees

  • बोदरली की बैंक ऑफ इंडिया शाखा में लूट, दो बदमाशों के चेहरे पर था नकाब
  • विरोध करने पर चाकू लगने से मैनेजर के हाथों में आई चोट

Dainik Bhaskar

Oct 10, 2019, 10:43 AM IST

बुरहानपुर/नेपानगर/डोईफोड़िया. बुधवार शाम करीब 4 बजे होंगे। बोदरली स्थित बैंक ऑफ इंडिया की पीपलगांव रैयत शाखा में बैंक के कामकाज का समय खत्म हो चुका था। दो युवक बैंक में बैठे थे। मुझे उन पर संदेह हुआ। युवकों से पूछा- आपको क्या काम है। युवक बोले- हमें रुपए जमा कराने हैं। मैंने कहा- समय खत्म हो गया है। युवकों ने कहा- हमें अारटीजीएस करना है।

 

हमारे साथी चेक और रुपए ला रहे हैं। कुछ ही देर बाद दो युवक बैग लेकर बैंक में आए। वह बैग में रुपए और चेक के बजाय पिस्टल और चाकू लाए थे। इन्होंने चेहरे पर रूमाल बांध रखा था। बैंक में पहले से ही मौजूद एक बदमाश ने बैग से चाकू निकाला और मेरी गर्दन पर रख दिया। बैंक में स्टाफ भी कम था। बीचबचाव करने में मेरे हाथों पर चाकू लग गया। खून देखकर मैं और अन्य साथी भी सहम गए। बदमाशों ने कैश केबिन से बैग में रुपए भरे और हमें लॉकर रूम में बंद करके चले गए। मोबाइल भी ले गए। हम अंदर चिल्लाते रहे। सायरन भी बजाया। आखिर गांव के एक दादा ने हमारी आवाज सुनी और हमें बाहर निकाला। बाजार का दिन था। इसलिए बैंक में अच्छा लेन-देन हुआ था।

 

बदमाश करीब 15 लाख रुपए लूट कर ले गए हैं। लूट की वारदात की यह कहानी बयां करते हुए बोदरली की बैंक शाखा के मैनेजर विजय पाटीदार के चेहरे पर दहशत साफ नजर आई। उन्होंने पुलिस को विस्तार से पूरी घटना बताई। दो बाइक पर आए बदमाश वारदात के बाद इन्हीं बाइक से जसौंदी के पास जंगल के रास्ते महाराष्ट्र के जलगांव-जामोद की ओर भाग निकले। पुलिस ने नाकाबंदी की। एसपी अजय सिंह और शाहपुर थाना प्रभारी गिरवरसिंह जिलोदिया सहित अन्य अफसरों ने भी बैंक पहुंचकर पूछताछ की।

 

रोज 30-40 लाख रुपए का लेन-देन
बैंक की इस शाखा से बोदरली सहित जसौंदी, तारापाटी, चिल्लारा, संग्रामपुर, बड़झिरी और आठ-नौ गांव जुड़े हुए हैं। सूत्रों के अनुसार बैंक से रोजाना करीब 30 से 40 लाख रुपए का लेन-देन होता है। बावजूद इसके यहां गार्ड नहीं रखा गया है। बुधवार को बाजार का दिन होने के कारण बैंक में नकदी 15 लाख रुपए थे। बदमाशों ने इसी का फायदा उठाया। सबसे बड़ी बात यह कि हाट बाजार का भीड़ भरा दिन होने के बावजूद बदमाश वारदात को अंजाम देकर यहां से निकल गए। इससे बैंक प्रबंधन के सुरक्षा इंतजामों पर भी सवाल उठ रहे हैं।

 

नाकाबंदी के बाद भी कोई सुराग नहीं
एसपी अजय सिंह के निर्देश पर पुलिस टीमें जगह-जगह सर्चिंग में जुट गईं। नेपानगर थाना पुलिस ने अंबाड़ा की हिंगना नदी के पास नाकाबंदी की। जवानों ने यहां हर आते-जाते वाहनों की जांच की। हालांकि देर रात तक पुलिस को बदमाशों का सुराग नहीं लग सका।

 

बैंक में था सन्नाटा, आ रही थी चिल्लाने की आवाज
मैनेजर सहित अन्य स्टाफ को लॉकर रूम से बाहर निकलाने वाले गांव के ही रामा भाईराम ने बताया मैं बैंक के पास से अपने बेटे के यहां जा रहा था। बैंक का शटर खुला हुआ था। अंदर सन्नाटा था, लेकिन रविंद्र-रविंद्र चिल्लाने की आवाज आ रही थी। कोई जोर-जोर से दरवाजा ठोंक रहा था। मुझे संदेह हुआ। बैंक के अंदर गया तो कोई नजर नहीं आया। अंदर एक कमरे का दरवाजा ठोंकने की आवाज आई। यहां जाकर दरवाजा खोला तो मैनेजर सहित अन्य लोग अंदर बंद थे। उन्होंने बताया कि बदमाश 15 लाख रुपए लूट कर ले गए हैं।

 

गेट बंद कर देर रात तक अफसरों ने की पूछताछ
बैंक ऑफ इंडिया की इस शाखा में गार्ड नहीं है। बदमाशों ने इसी का फायदा उठाकर वारदात की। सूचना मिलने के बाद एसपी अजय सिंह भी मौके पर पहुंचे। बैंक के बाहर भीड़ जमा हो गई। एसपी सहित अन्य अफसरों ने बैंक के गेट बंद करवाकर अंदर मैनेजर सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारियों से वारदात को लेकर पूछताछ की। दिनदहाड़े हुई वारदात के बाद गांव में भी दहशत फैल गई। बैंक के बाहर जमा लोग भी सहमे नजर आए। हालांकि उन्होंने लाखों का कारोबार करने वाली बैंक में गार्ड नहीं होने पर आक्रोश भी जताया।

 

करीब चार बदमाशों द्वारा वारदात को अंजाम दिया गया है। लूटी गई रकम 15 लाख रुपए बताई जा रही है। वरिष्ठ अधिकारियों सहित पुलिस मामले की जांच-पड़ताल में जुटी है।

अजय सिंह, एसपी बुरहानपुर

 

DBApp
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना