आईएसओ टीम को सुरक्षा में मिली कई कमियां / आईएसओ टीम को सुरक्षा में मिली कई कमियां

Bhaskar News Network

Dec 09, 2018, 03:46 AM IST

Khandwa News - इंटरनेशनल आर्गनाइजेशन फार स्टैंडर्डनाइजेशन (आईएसओ) के प्रमाण पत्र के लिए दो सदस्यीय दल ने दो दिन तक कलेक्टोरेट का...

Khandwa News - many deficiencies found in the security of the iso team
इंटरनेशनल आर्गनाइजेशन फार स्टैंडर्डनाइजेशन (आईएसओ) के प्रमाण पत्र के लिए दो सदस्यीय दल ने दो दिन तक कलेक्टोरेट का निरीक्षण किया। टीम के सदस्यों ने कलेक्टोरेट की सुरक्षा में चूक सहित कर्मचारियों को मिलने वाली प्राथमिक उपचार की व्यवस्थाओं पर सवाल खड़े किए। इसके साथ ही कलेक्टोरेट भवन के गलियारों में पर्याप्त प्रकाश व्यवस्था नहीं होने पर टीम के सदस्यों ने कलेक्टर सहित स्टाफ को इसे ठीक करने की नसीहत दी।

जानकारी के मुताबिक आईएसओ प्रमाणीकरण के लिए टीम का विधिवत निरीक्षण कार्यक्रम 15 दिसंबर के बाद आएगा। शुक्रवार और शनिवार को आईएसओ टीम के दो सदस्यों ने कलेक्टोरेट का प्राथमिक निरीक्षण कर मूलभूत सुविधाओं की कमियों को चिन्हित कर कलेक्टर को बताया। टीम के सदस्यों ने कार्यालय की प्रमुख कमियों की नोटशीट भी बनाई। शनिवार को टीम के सदस्यों के जाने के बाद एडीएम बीएस इवने जिला नाजिर को साथ में लेकर कलेक्टोरेट भवन का निरीक्षण किया। एडीएम इवने ने जिला नाजिर भरत मार्कंडेय को आईएसओ टीम द्वारा बताई गई कमियों को पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कलेक्टर कार्यालय के सामने भवन के आर्च में लकड़ी की जाली, ग्रिल के ऊपर लोहे की जाली, कलेक्टर कार्यालय के बैक डोर के गलियारों में एलईडी लाइट्स लगाने की बात कही। इसके साथ कर्मचारियों के उपयोग एवं प्राथमिक इलाज के लिए सभी प्रकार की दवाओं को जिला नाजिर कार्यालय में उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिए।

कमियों को पूरा करने के लिए जिला नाजिर को निरीक्षण के बाद निर्देश देते एडीएम।

1919 में बेहतरीन नक्काशी के साथ तैयार हुआ था कलेक्टोरेट भवन

ब्रिटिश गवर्नमेंट ने राजस्व वसूली के लिए 1919 में कलेक्टोरेट भवन का निर्माण कराया था। बेहतरीन नक्काशी और पत्थरों की सजावट कलेक्टोरेट भवन का विशेष आकर्षण है। इसके भवन के प्रत्येक प्रवेश द्वारा पर नौ फन वाले नाग की मुकुट वाली आकृति और रेशम के कीड़े की छवि स्थापत्य कला का बेजोड़ नमूना है। बिना किसी रंगरोगन के स्थानीय स्तर पर निकले पत्थरों को तराशकर कलेक्टोरेट भवन का निर्माण किया गया। स्थानीय लोगों के मुताबिक जिला अस्पताल परिसर में से पत्थरों से कलेक्टोरेट भवन का निर्माण हुआ है। अपने निर्माण के 100 साल पूरे कर रहे कलेक्टोरेट भवन की चमक अभी भी बरकरार है।

X
Khandwa News - many deficiencies found in the security of the iso team
COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543