जल संकट / 38 घंटे में फिर फूटी नर्मदा लाइन, दोपहर में सुधार, रात में चालू किया फिल्टर प्लांट



mp news khandwa water crises narmada water supply interrupted in 38 hours of repair
X
mp news khandwa water crises narmada water supply interrupted in 38 hours of repair

  • चार महीने में पांच बार अाैर पांच साल में 72 बार फूट चुकी हैं मुख्य पाइप लाइन 

Dainik Bhaskar

Apr 16, 2019, 10:43 AM IST

खंडवा. नर्मदा जल याेजना की मुख्य पाइप लाइन 38 घंटे बाद फिर से साेमवार दाेपहर फूट गई। इस कारण चारखेड़ा फिल्टर प्लांट से शहर में की जा रही पानी सप्लाय दाेपहर में राेक दी गई। जाेगीबेड़ा के नाले में जिस स्थान पर सुधार किया था वहीं पाइप लाइन फूटना अाश्चर्यजनक है। पाइप सुधारने के लिए कंपनी ने जहां पर हाेल किया था। उसी का जाेड़ पानी के प्रेशर से उखड़ गया। हालांकि विश्वा कंपनी के इंजीनियर लाइन लीकेज का कारण पाइप लाइन से छेड़छाड़ किया जाना बता रहे हैं।

 

जनवरी से अब तक चार महीने में पांच बार नर्मदा याेजना की पाइप लाइन फूट चुकी है। वहीं पांच साल में लगभग 72 बार यह लाइन फूटी है। इससे लाेगाें काे समस्या का सामना करना पड़ा। सुधार के बाद फिर से पाइप लाइन फूटने के कारण शहर की व्यवस्था बिगड़ गई। साेमवार काे निगम ने एक 12 हजार लीटर अाैर दाे पांच हजार लीटर क्षमता के टैंकर भी किराए से लगाकर पानी बांटा। इसके अलावा निगम द्वारा 4 छाेटे टैंकराें से करीब 80 ट्रीप पानी सप्लाय सुबह से रात तक किया। 

 

नाले को खाली किया, स्कोर वॉल भी खोला : पाइप लाइन सुधारने के लिए साेमवार दाेपहर से काम की शुरुआत विश्वा कंपनी ने की। नाले का पानी खाली किया। साथ ही स्काेर वाॅल से पाइप लाइन का पानी भी बहाया। रात 10.40 बजे फिल्टर प्लांट चालू किया। इससे मंगलवार दाेपहर बाद शहर में पानी आने की उम्मीद है। इसके बाद संभवत: शाम काे ही शहर में नर्मदा का पानी बंट सकेगा। 

 

सड़क पर बैठकर टैंकर आने का इंतजार करते रहे लाेग : भवानी माता वार्ड, पंजाब काॅलाेनी, आनंद नगर, संत रैदास वार्ड सहित शहर के बाहरी हिस्साें वाले क्षेत्राें में लाेगाें काे पानी नहीं मिलने से समस्या का सामना करना पड़ा। अंजनी टाॅकिज के पास लाेग करीब एक घंटे तक सड़क पर बर्तन रखकर टैंकर आने का इंतजार करते रहे। ऐसी ही स्थिति अन्य क्षेत्राें में भी रही। 
 
यह किया निगम ने 

  •  रात में भरी टंकियाें से दाेपहर तक बांटा पानी। 
  •  14 अप्रैल की रात में नर्मदा याेजना से शहर की 9 टंकियाें काे भरा। इनसे दाेपहर तक शहर के अलग-अलग क्षेत्राें में पानी बांटा। जिन क्षेत्राें में लाेगाें काे नल से पानी नहीं मिल पाया वहां टैंकर से पानी भेजने के प्रयास किए। इसके लिए तत्काल तीन टैंकर किराए पर लगाए। 
  •  सुक्ता फिल्टर प्लांट से भी शहर में कम प्रेशर से पानी सप्लाय किया। 

...और इधर, सुक्ता फिल्टर प्लांट में 100 एचपी की माेटर जली : वैकल्पिक रूप से सुक्ता फिल्टर प्लांट से शहर तक पानी पहुंचाने के लिए भी निगम काे मशक्कत करना पड़ रही है। साेमवार काे यहां लगी 100 एचपी की एक माेटर भी जल गई। इसकी मरम्मत कराई जा रही है। अब यहां से एक ही माेटर पंप से शहर काे पानी सप्लाय किया जा रहा है। वहीं भगवंत सागर बांध से जसवाड़ी तक पानी लाने के लिए बाधाएं हटाई जा रही है। सिंचाई कर रहे किसानाें की माेटरें भी जब्त की जा रही है। मंगलवार काे तीन माेटर खिड़गांव से जब्त की। अब नदी में बहाव बढ़ा है। इससे फिल्टर प्लांट के इंटकवेल में जल स्तर बढ़ने की संभवना बढ़ गई है। 

 

शायद किसी ने पाइप लाइन से छेड़खानी की है। इस कारण सुधार करने के लिए पाइप में लगाया जाेड़ खुल गया। वैकल्पिक व्यवस्था के लिए टैंकर से जगह-जगह पानी सप्लाई किया जा रहा है। किए जा रहे खर्च की कटाैती विश्व कंपनी के बिल में की जाएगी। -हिमांशु सिंह, निगम आयुक्त 


 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना