राखड़ से बार-बार पाइप लाइन हो रही है जाम, सात माह में ही बंद हो गई 3 नंबर यूनिट, 1 नंबर पहले से ही बंद

Khandwa News - संत सिंगाजी ताप परियोजना में एमपीपीजीसीएल के अफसरों की लापरवाही व मेंटेनेंस ठेकेदार कंपनी की मनमानी से बार-बार...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:30 AM IST
moondi News - mp news repeated pipeline is being repaired it has stopped in seven months 3 number units 1 number already closed
संत सिंगाजी ताप परियोजना में एमपीपीजीसीएल के अफसरों की लापरवाही व मेंटेनेंस ठेकेदार कंपनी की मनमानी से बार-बार यूनिटें बंद करना पड़ रहा हैं। इससे बिजली उत्पादन भी प्रभावित हुआ है। एक नंबर यूनिट पहले से ही डेढ़ माह के लिए बंद है। अब 7 माह पहले ही तैयार हुई 3 नंबर यूनिट को भी बंद करना पड़ा है। इस यूनिट की पाइप लाइन राखड़ से बार-बार जाम होकर फूट रही है। यही स्थिति एश हैंडलिंग के हापरों की भी है। मेंटेनेंस कंपनी की लापरवाही से एश हैंडलिंग में राखड़ उड़ती रहती है। इससे मजदूरों व कर्मचारियों को भी काम करने में परेशानी हो रही है।

परियोजना में फेस-2 की तीसरी यूनिट 7 माह और चौथी यूनिट से 3 माह पहले ही बिजली उत्पादन शुरू किया गया है। एमपीपीजीसीएल के लापरवाह मेंटेनेंस अफसर का कुछ ही दिन पहले तबादला हो चुका है। लेकिन वे मेंटेनेंस कंपनी मेलको से मिलीभगत कर यूनिटों को पलीता लगा चुके थे। इतने कम समय में ही इन यूनिटों की दोनों राखड़ पाइप लाइन जाम हो चुकी हैं। इन यूनिटों के एश हैंडलिंग में राखड़ पड़ी है और हापर भी राखड़ से भरे पड़े हैं। यह जाम होने से बिजली यूनिटों को बंद करना पड़ा है। मेलको कंपनी एश हैंडलिंग से राखड़ नहीं उठा पा रही है। चार नंबर यूनिट तो जैसे-तैसे चालू कर दी गई लेकिन 3 नंबर यूनिट में पाइप लाइन सफाई में काफी समय लगेगा। फिलहाल परियोजना की दो यूनिट (1 व 3 नंबर) बंद हैं और दो से बिजली उत्पादन किया जा रहा है।

जाम हो रही पाइप लाइन व एश हैंडलिंग के हापर भी राखड़ से भरे, चिमनी से उड़ा रहे 4 नंबर यूनिट की राखड़

पाइप लाइन फूटने से दिनभर परियोजना में राखड़ उड़ती रहती है।

लापरवाही के बावजूद मेलको कंपनी को फिर दिया ठेका

फेस-1 के एश हैंडलिंग के मेंटेनेंस का ठेका पहले मेलको कंपनी को दिया गया था। कंपनी की लापरवाही से यहां का सारे उपकरण खराब हो गए। सैकड़ों हापर राखड़ से भर गए। साइलो के वाल लीक हो गए। यह महीनों तक नहीं सुधारे जा सके। एमपीपीजीसीेल ने मेलको को यह काम छीन लिया। लेकिन कुछ ही माह बाद फेस-2 के मेंटेनेंस का पुन: ठेका दे दिया गया। यहां भी कंपनी की लापरवाही जारी रही। फेस-2 की दोनों यूनिटें भी जाम हो गई। पाइप लाइन फूट रही है और हापर राखड़ से जाम हैं।

3 नंबर यूनिट के एश हैंडलिंग में बड़ी मात्रा में राखड़ के ढेर लगे हैं।

अफसरों के निर्देश के बावजूद चिमनी से उड़ा रहे राखड़

पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड इंदौर के अफसरों के निर्देश के बावजूद परियोजना की चिमनी से राखड़ उड़ाई जा रही है। 4 नंबर यूनिट की पाइप लाइन फूट गई है और हापर जाम हैं। ऐसे में राखड़ निकालने का कोई रास्ता नहीं है। बिजली उत्पादन भी बंद नहीं किया जा सकता। ऐसी स्थिति में अफसर बेखौफ चिमनी से राखड़ उड़ा रहे हैं।

एलएंडटी को पैनल्टी से बचाने काम पूरा किए बगैर हैंडओवर कर ली यूनिट

सिंगाजी ताप परियोजना के फेस-2 के निर्माण का ठेका एलएंडटी पॉवर को दिया गया था। विभिन्न ठेकेदारों की मनमानी और मजदूरों द्वारा मजदूरी की मांग को लेकर बार-बार काम बंद रखने से कंपनी समय पर काम नहीं कर सकी। एलएंडटी पर पैनल्टी का खतरा मंडरा रहा था। इसे देख एमपीपीजीसीएल अफसरों ने कुछ काम शेष रहते ही यूनिटें हैंडओवर कर ली। एेसा कर एलएंडटी को करोड़ों रुपए का फायदा पहुंचाया गया।

जल्द ही सुधार कर लाइट अप किया जाएगा


...और इधर, बिना अनुमति भर रहे थे राखड़, केमिस्ट अधिकारी ने रोका

बीड़ | राखड़ तालाब से कुछ लोग कमीशन के लालच में बगैर अनुमति ट्रकों में लोड करा रहे हैं। मशीनों से राखड़ भरने पर बड़ी मात्रा में उड़ती है। बुधवार को कलेक्टर ने बगैर पानी छिड़काव के राखड़ नहीं भरने देने के निर्देश दिए थे। इसके बावजूद गुरुवार को यह खेल चल रहा था। निरीक्षण पर पहुंचे केमिस्ट अधिकारी प्रशांत नामजोशी ने दलाल को बिना अनुमित राखड़ नहीं भरने के निर्देश दिए। उनके लौटते ही मूंदी के दलाल शरद जायसवाल फिर राखड़ की लोडिंग कराने लगा। सूचना मिलने पर नामजोशी शाम 6 बजे पुन: पहुंचे और मशीन जब्त करने व एफआईआर दर्ज कराने की चेतावनी दी। एमपीपीजीसीएल ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि राखड़ पर पानी का छिड़काव किए बगैर वाहन लोड नहीं किया जाए। मुख्य सुरक्षा अधिकारी एसके कुशराम ने बताया तालाब से राखड़ भरने के लिए अनुमति जरूरी है। हमारे इनकार के बावजूद शरद जायसवाल ट्रक लोड करा रहा था। मैंने सुरक्षा कर्मी भेजकर वाहन की चाबी निकालने को कहा है। नहीं सुनेगा तो एफआईआर कराई जाएगी।

moondi News - mp news repeated pipeline is being repaired it has stopped in seven months 3 number units 1 number already closed
X
moondi News - mp news repeated pipeline is being repaired it has stopped in seven months 3 number units 1 number already closed
moondi News - mp news repeated pipeline is being repaired it has stopped in seven months 3 number units 1 number already closed
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना