पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Khandwa News Mp News The Loss Of 55 Villagers Who Were Killed By The Floods Even The Standing Crops In The Field Were Swept Away Impressed Said Soon Survey

बाढ़ से 55 गांवाें के किसानाें काे नुकसान, खेत में खड़ी फसलें तक बह गई; प्रभावित बोले- जल्द हो सर्वे

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बाढ़ से पीड़ित किसानाें ने कलेक्टर से सर्वे अाैर मुअावजे की मांग की।

...और इधर, खंडवा नगर निगम के 26 कर्मचारियाें ने साफ किया आशापुर के साप्ताहिक बाजार का मलबा

आशापुर | 29 जुलाई को आशापुर की अग्नि नदी में आई बाढ़ से पूरे गांव में मलबा भर गया था। साप्ताहिक बाजार क्षेत्र भी तबाह हो गया। यहां शनिवार को बाजार लगना है। मलबे व कचरे से उठती दुर्गंध से ग्रामीण व व्यापारी परेशान हैं। भास्कर ने यह मुद्दा उठाया था। हरसूद एसडीएम से भी सफाई का आग्रह किया था। बुधवार को खंडवा नगर निगम के 26 कर्मचारियों ने गांव व बाजार में सफाई अभियान चलाया। नाके व खालवा रोड पर कचरे के ढेर भी हटाए गए। एसडीएम अशोक जाधव के आग्रह पर खंडवा नगर निगम से जोन प्रभारी धीरज दवे के नेतृत्व में 26 कर्मचारी आशापुर पहुंचे। बाजार क्षेत्र से कचरा एकत्रित कर मलबा ट्रॉली में भरा गया। कीटनाशक पावडर का छिड़काव भी कराया। सफाई अमले के साथ पंचायत सचिव जयराम परते व अनमोल शर्मा भी पूरे समय मौजूद रहे। गंदगी को लेकर ग्रामीणों ने सीएम हेल्प लाइन पर भी शिकायत की थी। व्यापारी आकाश विधाणी ने कहा बाजार क्षेत्र का कचरा तो साफ कर दिया है लेकिन दुकानों व घरों के सामने फैला कीचड़ जेसीबी से नहीं हटाया गया है।

खालवा-पटाजन के रास्ते होशंगाबाद-बैतूल जा रही बसें

अग्नि नदी का पुल टूटने के बाद से होशंगाबाद व बैतूल मार्ग बंद है। खंडवा से भी बसें आशापुर-खालवा तक ही चल रही हैं। कुछ बसें खालवा-पटाजन के रास्ते होशंगाबाद व बैतूल निकल रही हैं। लेकिन इसमें समय व डीजल खर्च अधिक हो रहा है। यात्रियों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। आसपास के गांवों के स्कूलों पदस्थ शिक्षक भी पुल पैदल पार कर ऑटो-टेम्पो से पहुंच रहे हैं। उधर कई ट्रेनें रद्द होने से भी यात्रियों की फजीहत बढ़ गई है। कुछ बसें अग्नि नदी पुल पर सवारियों का आदान-प्रदान कर रही हैं।

कन्या हाईस्कूल में लग रही माध्यमिक शाला

अग्नि नदी का बाढ़ में बाजार क्षेत्र स्थित कन्या माध्यमिक शाला भवन भी डूब गया था। स्कूल का सारा रिकार्ड व फर्नीचर खराब हो गए। स्कूल में मलबा होने के कारण माध्यमिक शाला की छात्राओं को कन्या हाईस्कूल में बैठाया जा रहा है। तीनों कक्षाओं की 130 छात्राएं एक ही कमरे में बैठकर पढ़ाई कर रही हैं। माध्यमिक शाला प्रधान पाठक रुक्मिणी नीलकंठ ने बताया स्कूल भवन की सफाई चल रही है। संभवत: शनिवार तक पूर्ण हो जाएगी। सोमवार से माध्यमिक की तीनों कक्षाएं अपने भवन में लगने लगेंगी।

नगर निगम के सफाई कर्मियों ने बुधवार को आशापुर में अभियान चलाया।

खबरें और भी हैं...