बदलाव / एमबीबीएस के विद्यार्थी अब पहले साल से ही जिला अस्पताल में सीखेंगे मरीजों के इलाज की प्रक्रिया

Students of MBBS will learn the process of treatment of patients from the first year
X
Students of MBBS will learn the process of treatment of patients from the first year

  • विद्यार्थियों को नया कोर्स को पढ़ाने के लिए प्राध्यापकों का हुआ प्रशिक्षण
  • मेडिकल कॉलेज में तीन-तीन दिन के दो प्रशिक्षण सत्रों में प्राध्यापकों को नए पैटर्न के बारे में बताया 
  • मेडिकल कॉलेज में इसी सत्र से शुरू हो जाएंगे सभी बदलाव 

दैनिक भास्कर

Aug 01, 2019, 12:02 PM IST

खंडवा. मेडिकल कांउसिल ऑफ इंडिया एमसीआई के शैक्षणिक विभाग ने 27 साल बाद एमबीबीएस कोर्स को रिवाइज किया है। एमसीआई ने देश व प्रदेश के मेडिकल पाठ्यक्रम और पढ़ने-पढ़ाने के तौर-तरीकों में काफी बदलाव किया है। अब पहले साल से ही विद्यार्थी अस्पताल में मरीजों के इलाज की प्रक्रिया को सीखने के लिए जाएंगे। 

 

एमबीबीएस के छात्र-छात्राओं को सैद्धांतिक पढ़ाई के बजाय प्रयोगात्मक पढ़ाई पर जोर दिया जा रहा है। साथ ही छात्रों को स्थानीय भाषाओं पर पकड़ बनाने और मरीजों से बेहतर संवाद भी अब कॉलेज में सिखाए जाएंगे। कोर्स में कंटेंट के साथ कोई बदलाव नहीं करते हुए एमसीआई ने कुछ नए विषय मेडिकल के विद्यार्थियों के लिए जोड़ दिए हैं। दक्षता आधारित एमबीबीएस की पढ़ाई, प्रेक्टिकल और परीक्षा के पैटर्न को भी बदला है। नवीन शैक्षणिक सत्र 2019-20 में एमसीआई ने इसे लागू किया है। नए सत्र में एमबीबीएस की कक्षाओं की शुरूआत फाउंडेशन कोर्स से होगी। 

 

मेडिकल एजुकेशन यूनिट प्रभारी व फिजियोलॉजी विभाग के प्रमुख डॉ नज़ीम सिद्दीकी ने बताया दुनिया भर के मेडिकल कॉलेज में कंपीटेंसी आधारित पढ़ाई हो रही है। खंडवा कॉलेज में एमसीआई ने तीन-तीन दिनों के दो प्रशिक्षण सत्र के एमसीआई ने पहली बार अनुमति दी। पहले तीन दिन प्राध्यापकों को रिवाइज बेसिक कोर्स का प्रशिक्षण दिया। 

 

 

एमसीआई ने एमबीबीएस कोर्स के पैटर्न में बदलाव किया है। रिवाइज कोर्स नवीन शैक्षणिक सत्र 2019-20 में लागू होगा।

डॉ.एसके दादू, डीन, मेडिकल कॉलेज 

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना