आत्महत्या का मामला / स्केल टूटने तक पीटते थे शिक्षक, इसलिए मेरे भाई ने लगाई फांसी

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2019, 01:48 PM IST



अमन की बहन सुषमा अमन की बहन सुषमा
X
अमन की बहन सुषमाअमन की बहन सुषमा

  • अमन की स्कूल में ही 10वीं में पढ़ रही बहन ने दिया बयान, बहन के बयान के बाद संचालक गिरफ्तार 
     

करोली/पुनासा. शिक्षक व संचालक कादिर मलिक अमन को बहुत मारते थे। वे तब तक पिटाई करते थे जब तक स्केल नहीं टूट जाती। मैंने एक बार उनसे भाई की पिटाई को लेकर बात भी की थी। शुक्रवार दोपहर 2 बजे छुट्टी के बाद घर पहुंचकर मैंने ऊपरी मंजिल पर कमरे में जाकर दरवाजा खटखटाया। कोई जवाब और हलचल नहीं होने पर खेत जाकर माता-पिता को बताया। पिता सीढ़ी लगाकर कमरे में पहुंचे तो भाई फांसी पर लटका मिला। कमरे में मिले सुसाइड नोट व परिजन के बयान के आधार पर पुलिस ने कादिर मलिक के खिलाफ केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया।  


सुलगांव के एमएच पब्लिक स्कूल में कक्षा आठवीं में पढ़ने वाले अमन ने शुक्रवार को फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली थी। उसी की स्कूल में कक्षा 10वीं में पढ़ने वाली बड़ी बहन सुषमा ने शनिवार को चौंकाने वाला बयान देकर मामले को साफ कर दिया। पिटाई करने वाले शिक्षक कादिर मलिक स्कूल के संचालक भी हैं।

 

मृतक छात्र के पिता विजय राठौड़ ने बताया बार-बार पिटाई से आहत अमन ने कादिर मलिक से स्कूल में नहीं पढ़ने की बात कह टीसी मांग ली थी। इसी बात पर उसकी जमकर पिटाई की। उन्होंने मुझे भी स्कूल बुलाया। शिक्षक ने कहा अमन बहुत जिद्दी है। मेरे समझाने पर वह मान गया और माफी भी मांग ली, लेकिन मेरा बच्चा जिद्दी नहीं था। वह कभी आत्महत्या जैसा कदम नहीं उठा सकता। 

 

स्कूल से आकर मैं पत्नी के साथ खेत चला गया। बेटी सुषमा ने स्कूल से आकर दरवाजा नहीं खोलने की बात खेत पहुंचकर बताई तो हम दौड़कर घर पहुंचे, लेकिन हमारा इकलौता चिराग बुझ चुका था।

 

उधर स्कूल के एक अन्य संचालक जाकिर मलिक का कहना है अमन जिद्दी व उद्दंड छात्र था। टीसी मांगने पर उसके पिता को बुलाकर समझाया था। घटना की सूचना मिलने पर एएसपी महेंद्र तारणेकर ने सुलगांव पहुंचकर जांच की। अमन की बहन व माता-पिता के बयान लिए। 

 

घटनास्थल पर मिले सुसाइड नोट, मोबाइल व परिजन के बयान के आधार पर स्कूल संचालक कादिर मलिक के खिलाफ धारा 306 के तहत केस दर्ज किया है। उसे राउंडअप भी कर लिया है। रविवार को उसे न्यायालय में पेश किया जाएगा। मोबाइल और सुसाइड नोट रजिस्टर के साथ जांच के लिए भोपाल भेज रहे हैं। अमन की हैंडराइटिंग मिलाई जाएगी। रिपोर्ट आने के बाद अगली कार्रवाई की जाएगी।

एचएल रावत, थाना प्रभारी, धनगांव

 

COMMENT