• Hindi News
  • Mp
  • Khandwa
  • Three people stabbed with a knife to talk about dancing in Durga idol immersion ceremony

चाकूबाजी / दुर्गा प्रतिमा विसर्जन चल समारोह में नाचने की बात पर तीन काे चाकू से गाेदा, एक की माैत



X

  • घंटाघर के पास बीच बाजार में हुई चाकूबाजी में दो गंभीर घायल, भर्ती
  • कई दिनों से दोनों पक्षों में चल रहा था विवाद, पवन ने मनीष को धमकी दी थी
  • एक घंटे पहले मामूली विवाद होने पर पुलिस ने छुड़ाया था, युवक फिर भिड़ गए

Dainik Bhaskar

Oct 10, 2019, 11:41 AM IST

खंडवा. दुर्गा प्रतिमा विसर्जन चल समारोह में बुधवार शाम घंटाघर क्षेत्र में नाचते समय चाकूबाजी की घटना हुई। इसमें कंचननगर निवासी मनीष कनाडे की हत्या कर दी। डाॅक्टराें के मुताबिक चाकू लगने से फेफड़े फट गए और उसकी माैत हो गई। किसी बात को लेकर दोनों ही पक्षों में विवाद कई दिनों से चल रहा था। आरोपी ने मृतक को उसके घर जाकर भी धमकी दी थी। मामले में प्रेम प्रसंग की बात भी सामने आई है। पुलिस इस बिंदू पर भी जांच कर रही है।

 

इंदिरा चौक की प्रतिमा विसर्जन के लिए ले जाते समय शाम 4 बजे केवलराम पंप चौराहा पर नाचने की बात पर विवाद हुअा। भाजयुमो नगर उपाध्यक्ष बादल शर्मा, पवन केशनिया, अज्जू और उसके साथियों का विवाद मनीष कनाड़े, गौरव पाठक, विकास जायसवाल और साथियों से हाे गया। यहां मामूली कहासुनी के बाद पुलिस ने दोनों पक्षों को अलग कर दिया। शाम 4.50 घंटाघर स्थित ऑटो स्टैंड के पास युवकों के बीच फिर मारपीट हुई। बादल शर्मा और उसके साथी लात-घूसों से पीटते हुए मनीष को ले गए। आरोपी पवन ने गौरव व विकास को चाकू मारे। तभी उसके साथियाें ने मनीष कनाड़े को वाहनों पर फेंका। उस पर पवन ने तीन-चार चाकुओं के वार कर दिए। 

 

मनीष को साथी बाइक पर जिला अस्पताल ले गए। मनीष की हालत गंभीर होने के कारण उसे सीधे ट्रॉमा सेंटर में भर्ती किया। जहां पर शाम 5.15 बजे उसकी मौत हो गई। ड्यूटी डॉक्टर व नर्स ने मनीष को बचाने के काफी प्रयास किए। शाम 5.25 बजे डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। मनीष की मौत की खबर लगते ही अस्पताल में लोगों भीड़ लग गई। पुलिस को अतिरिक्त बल तैनात करना पड़ा। मौके पर एएसपी, सीएसपी, डीएसपी व टीआई सूबेदार ने व्यवस्था संभाली। अस्पताल का मुख्य गेट बंद कर लोगों को सड़क से ही वापस किया। युवक की मौत के बाद शहर में अफवाहों का दौर शुरू हो गया।

 

घायल बाेले- लाेग वीडियाे बनाते रहे, छुड़ाने की हिम्मत नहीं की
घटना के बाद जिला अस्पताल पहुंचे कोतवाली टीआई बीएल मंडलोई ने घायल गौरव व विकास से बात की। युवकों ने बताया कि मनीष और हम लोग नाच रहे थे। केवलराम के पास आप ही ने झगड़ा छुड़ाया और हम अलग हो गए। इसके बाद जब हम घंटाघर पर दिखाई दिए तो बादल शर्मा और उसके साथी देखते ही हम पर टूट पड़े। करीब पांच-छह युवक थे। इनमें से पीला शर्ट पहने हुए पवन ने चाकुओं से गोद दिया। मारपीट करने वालों का वीडियो भी कुछ लोग बना रहे थे, लेकिन किसी ने छुड़ाने की हिम्मत नहीं की। हम अपने मनीष को लेकर अस्पताल आए।

 

विधायक सहित भाजपा व कांग्रेस नेता घायलाें काे देखने अस्पताल पहुंचे
दुर्गा प्रतिमा विसर्जन चल समारोह में चाकूबाजी की घटना के बाद विधायक देवेंद्र वर्मा जिला अस्पताल पहुंचे। विधायक ने ट्रामा सेंटर में भर्ती घायल गौरव पाठक और विकास जायसवाल के स्वास्थ्य की जानकारी डॉक्टरों से ली। विधायक के साथ भाजपा जिलाध्यक्ष हरीश कोटवाले, राजेश डाेंगरे सहित अन्य नेता थे। इसी तरह कांग्रेस नेता कुंदन मालवीय और कार्यकारी अध्यक्ष शहर कांग्रेस अर्ष पाठक भी घायलों को देखने अस्पताल पहुंचे।

 

विवादित है बादल शर्मा, मनीष कनाडे के दोस्त से थी रंजिश
आरोपी बादल शर्मा भाजयुमो का नगर उपाध्यक्ष है। कुछ दिन पहले माता चौक पर हुई चाकूबाजी में भी आरोपी का नाम सामने आया था। दो साल पहले माताजी विसर्जन के चल समारोह में इंदौर रोड पर हाथ में तलवार लेकर नाच रहे बादल को पुलिस ने रोका था। तब वह पुलिस से भी उलझ गया था। बुधवार शाम मनीष की हत्या के मामले में अचानक कुछ भी नहीं हुआ। सूत्र बताते हैं कि मनीष का दोस्त और बादल के बीच किसी युवती को लेकर कुछ दिन से मामला गर्मा रहा था। चल समारोह में पवन नशे में चूर था। मारपीट व गुंडागर्दी में पवन और उसके साथी अकसर साथ रहते थे।

 

मनीष के आखिरी शब्द... दोस्तों से बोला- बता मारा किसने
कमर के ऊपर चाकू घुसने से मनीष के मुंह से खून की उल्टी हो रही थी। कंधे व कमर से भी काफी मात्रा में खून बह रहा था। वायरल वीडियो में मनीष अपने साथियों से कह रहा है कि बता मारा किसने, घंटाघर की बाउंड्री वाॅल पर खून से लथपथ बैठा मनीष हिम्मत कर अस्पताल जाने के लिए उठा। चंद कदम चलते ही वह लड़खड़ाकर गिर गया। इसके बाद वह बात भी नहीं कर सका।

 

घायलों को लेकर भागे तो बंद हुई दुकानें
घायल युवकों को उनके साथी बाइक से अस्पताल ले गए। इस दौरान घंटाघर से अस्पताल के बीच व्यवसायी कुछ समझ नहीं पाए। भीड़ भरे बाजार के बीच 10-15 युवक अस्पताल की ओर भाग रहे थे। जिन्हें देख दुकानदारों में अनहोनी की अाशंका हुई। गिदवानी मार्केट, टाउनहाल व जलेबी चौक क्षेत्र में कुछ लोगों ने दुकानों की शटर गिरा दिए।

 

मृतक के साथियों के बयान व वीडियो फुटेज के आधार पर आरोपी बादल शर्मा, पवन केशनिया, अज्जू, राहुल व अन्य के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

 

डॉ. शिवदयाल सिंह, एसपी
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना