• Hindi News
  • Mp
  • Khandwa
  • When one was caught, the other started running, when searched, it was found that he had hidden a gold biscuit by tying a cloth on his waist.

खंडवा / एक को पकड़ा तो दूसरा भागने लगा, तलाशी ली तो पता चला कमर पर कपड़ा बांधकर छिपा रखे थे सोने के बिस्किट

ट्रेन से भागने की कोशिश कर रहे एक आरोपी को पुलिस के जवान पकड़कर प्लेटफार्म पर बिठाने लगे। ट्रेन से भागने की कोशिश कर रहे एक आरोपी को पुलिस के जवान पकड़कर प्लेटफार्म पर बिठाने लगे।
ट्रेन से उतरने पर अारोपी भागने लगा तो उसे इस तरह पकड़कर रखा। ट्रेन से उतरने पर अारोपी भागने लगा तो उसे इस तरह पकड़कर रखा।
X
ट्रेन से भागने की कोशिश कर रहे एक आरोपी को पुलिस के जवान पकड़कर प्लेटफार्म पर बिठाने लगे।ट्रेन से भागने की कोशिश कर रहे एक आरोपी को पुलिस के जवान पकड़कर प्लेटफार्म पर बिठाने लगे।
ट्रेन से उतरने पर अारोपी भागने लगा तो उसे इस तरह पकड़कर रखा।ट्रेन से उतरने पर अारोपी भागने लगा तो उसे इस तरह पकड़कर रखा।

  • अंतरराज्यीय ईरानी गिरोह उप्र, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश की क्राइम ब्रांच और सीबीआई अफसर बनकर करते थे लूट
  • दिल्ली, वाराणसी, चैन्नई, बैंगलोर, हैदराबाद, जयपुर, गोवा सहित अन्य कई शहरों में चार दर्जन से भी वारदातें करना कबूली
  • 100 से 400 ग्राम के सोने के बिस्किट, हीरा-पन्ना, नीलम, मूंगा, शरबती, मोती, लाॅरेट, ब्लैक टाइगर को देख व्यापारी बोले-हम अभी नहीं कर सकते आकलन

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2020, 10:40 AM IST

खंडवा. गाेवा एक्सप्रेस से पकड़े गए लूट, चोरी व ठगी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह के आरोपी माल खपाने और छुपाने में शातिर थे। पकड़े गए सभी आरोपी भोपाल के निवासी है। उनके पास अन्य प्रमाण पत्रों के साथ प्रेस का कार्ड भी मिला है। पकड़े गए आरोपियों में अबू हैदर पिता हाजी अली संजय नगर भोपाल, मेंहदी हसन इमामबाड़ा भोपाल, सादिक पिता रफीक खान संजय नगर भोपाल, और हसन पिता आजम सैयद रेलवे स्टेशन भोपाल शामिल हैं। पुलिस ने बुधवार को इन आरोपियों को रेलवे स्टेशन से पकड़ा था।


स्टेशन पर जब उन्हें पुलिस ने उतारकर तलाशी ली तो पेंट के भीतर कमर से लिपटे कपड़े में सोने के बिस्किट मिले। आरोपियों ने सोने को छुपाने के लिए ऊपर से पेंट पहन रखी थी। उनकी हेल्थ के कारण कमर में लिपटे हुए कपड़े ऊपर से दिखाई नहीं दे रहे थे। इधर, जब खंडवा स्टेशन पर ट्रेन रूकी तो गोवा एक्सप्रेस के एसी ए-1 कोच के सीट नंबर-4, 6,9 व 10 पर बैठे आरोपियों को पकड़ा। कोच की निचली सीट पर बैठे आरोपी को जैसे ही पुलिस ने पकड़ा वैसे ही उपर की सीट पर बैठा आरोपी कूदकर भागने लगा। जिसे कोच में ही जवानों ने दबोचकर ट्रेन से उतारा।


स्टेशन पर ही आरोपियों के एक-एक बैग का वीडियो से किया मिलान
पुलिस ने स्टेशन पर ही एक-एक बैग को कर्नाटक पुलिस द्वारा भेजे फुटेज से मिलान किया अाैर खोलकर देखा। इधर, बुधवार को क्राइम ब्रांच का अधिकारी बनकर प्रदेश व देश के प्रमुख शहरों में लूट, चोरी व ठगी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह को पकड़ने के लिए एक घंटे पहले स्टेशन पर पुलिस पहुंची। गोवा एक्सप्रेस दोपहर 3.27 बजे पर प्लेटफार्म नंबर-2 पर जैसे पहुंची सादी वर्दी में तैनात पुलिस के जवान और अधिकारी एसी ए-1 कोच के दोनों दरवाजों से चढ़ गए।


एसपी बोले- सटीक नहीं हो सकी जब्त माल के रकम की गणना
डॉ.शिवदयाल सिंह ने कहा आरोपियों ने पूछताछ में दिल्ली, वाराणसी, चेन्नई, बैंगलौर, हैदराबाद, जयपुर, गोवा सहित अन्य शहरों में चार दर्जन से ज्यादा मामले दर्ज होने की बात कबूली है। पूछताछ में और मामले सामने आएंगे। आरोपियों से लगभग दो करोड़ रुपए कीमत का सोना, नग व अमेरिकन डायमंड, सोने व चांदी की अंगूठियों सहित 1.5 लाख नगद बरामद किया। हालांकि अभी तक हमारे पास जो लोग थे वे नग व अमेरिकन डायमंड सहित सोने-चांदी के अंगूठियों की कीमत का आंकलन नहीं कर पाए।


सिविल पुलिस, आरपीएफ और जीआरपी ने की कार्रवाई
सिविल पुलिस के आरआई राहुल देवलिया, टीआई पदमनगर पुष्पेंद्रसिंह राठौर, आरपीएफ के एसआई प्रवीण मालवीय, एएसआई गणेश कुमरावत, हमीद तड़वी, हेड कांस्टेबल नागेश राव, रितेश कुशवाहा, दीपेंद्र सोलंकी, जीआरपी के एएसआई भोलासिंह बघेल, विनोद त्रिपाठी, आरक्षक राम अवतार, पुष्पेंद्र सहित अन्य जवान शामिल रहे।


भुसावल से अनुमति लेने के बाद रूकी ट्रेन, 11 मिनट बाद रवाना
गोवा एक्स. को स्टेशन पर निर्धारित समय से ज्यादा रोकने के लिए स्टेशन मैनेजर तैयार नहीं हुए। इसके बाद सेंट्रल रेलवे भुसावल मंडल से पदमनगर थाना टीआई ने आवेदन देकर समय मांगा। ट्रेन स्टेशन पर 5 मिनट की जगह 6 मिनट ज्यादा कुल 11 मिनट तक खड़ी रही।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना