घाटों पर मछुआरे सक्रिय, लोहे के नुकीले तार में आटा लगाकर पकड़ रहे मछलियां

Khargon News - नर्मदा तट पर प्रशासन ने मछली पकड़ने पर प्रतिबंध लगा रखा है। इसके बाद भी यहां चोरी-छिपे मछलियां पकड़ी जा रही है। मुख्य...

Dec 04, 2019, 09:31 AM IST
Maheshvar News - mp news fishermen active on ghats catching fish by putting flour in iron pointed wire
नर्मदा तट पर प्रशासन ने मछली पकड़ने पर प्रतिबंध लगा रखा है। इसके बाद भी यहां चोरी-छिपे मछलियां पकड़ी जा रही है। मुख्य घाटों पर पुलिस व गोताखोर तैनात रहते है। यहां सीसीटीवी कैमरे से भी नजर रहती है। इससे अब इन लोगों ने सूनसान घाटाें को अपना ठिकाना बना लिया है। रात के अंधेरे और अलसुबह भी मछली पकड़ने वाले सक्रिय है। कुछ समय पहले नर्मदा से बड़ी जाल पकड़ी जा चुकी है। मंगलवार दोपहर मातंगेश्वर घाट के पास मगर घाट पर कुछ लोग मछलियां पकड़ते नजर आए। एक युवक ने इसका फोटो व विडियो बनाया। नर्मदा तट पर पहुंचने वाले श्रद्धालु व नगर से प्रतिदिन स्नान करने जाने वाले लोग मछलियाें को आटे की गोली, नमकीन व अन्य सामग्री खिलाकर पुण्य अर्जित करते हैं। मछलियां भी नमकीन डालने के साथ किनारे तक आ जाती है। नर्मदा नदी में 10 किलो वजन तक की मछलियां हो चुकी है। प्रतिबंध व सख्ती के बाद भी इस पर रोक नहीं लगने से लोगों की आस्था आहत हो रही है। जबकि निमाड़ उत्सव कार्यक्रम के दौरान कलेक्टर गोपालचंद्र डॉड व एसपी सुनील पांडे ने मछली पकड़ने पर प्रतिबंध की बात दोहराते हुए स्थानीय प्रशासन को निर्देश दिए थे कि नर्मदा घाट किनारे कोई भी व्यक्ति मछली पकड़ते पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाए।

प्रशासन ने मछली पकड़ने पर लगा रखा है प्रतिबंध

मगर घाट पर नुकीले तार में आटा लगाकर मछली पकड़ रहे।

श्रद्धालु बोले- मछली पकड़ने का क्रम ऐसा ही चला तो जलीय संतुलन बिगड़ेगा

मछली पकड़ने वाले लोग नर्मदा नदी में तैर रही मछलियाें को नुकीले तार में आटा लगाकर आकर्षित करते हैं। मछली के फंसते ही उसे बाहर खींच लेते हैं। मछलियों के वजन के हिसाब से महंगे दाम पर बेचा जाता है। श्रद्धालुओं ने कहा मछली पकड़ने का क्रम ऐसा ही चला तो जलीय संतुलन भी बिगड़ेगा। कुछ समय पहले नर्मदा से बड़ी जाल भी पकड़ी गई थी।

6 माह पहले संत कंप्यूटर बाबा ने भी जताई थी नाराजी

6 माह पहले क्षेत्र के प्रवास पर आए संत कंप्यूटर बाबा ने भी नौका विहार के दौरान नर्मदा में मछली पकड़ने लगाई जाल को देखकर नाराजगी जताई थी। बोट से उतरने के बाद घाट पर ही नर्मदा नदी में मछली पकड़ने की जाल लगाने की अनुमति को लेकर प्रशासनिक अधिकारियों से सवाल किया था।

ऐसे रख सकते हैं निगरानी

नगर परिषद ने घाट पर 10 गोताखोरों को तैनात किया है। नप अध्यक्ष अमिता हेमंत जैन व सीएमओ राजेंद्र मिश्रा गोताखोरों काे अपनी ड्यूटी के साथ मछली पकड़ने वालों पर भी नजर रखने के निर्देश करें तो इसमें कमी लाई जा सकती है। नर्मदा मार्ग पर पर्यटन पुलिस चौकी भी बनी है। यहां आरक्षक, प्रधान आरक्षक व सहायक उपनिरीक्षक की ड्यूटी रहती है। यहां स्टॉफ बढ़ाकर दो से तीन आरक्षक लगातार नर्मदा तट पर निगरानी रखे तो भी इन गतिविधियों पर अंकुश लग सकता है। रात के समय पुलिस की बोट से नर्मदा नदी में पेट्रोलिंग चालू करवाने से भी मछली पकड़ने वालों में भय बनेगा। मातंगेश्वर क्षेत्र जैसे सूनसान घाटों पर भी अत्याधुनिक सीसीटीवी कैमरे लगवाने से वहां की गतिविधियों पर नजर रखी जा सकती है।

पुलिस व नप को देंगे निर्देश


X
Maheshvar News - mp news fishermen active on ghats catching fish by putting flour in iron pointed wire
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना