--Advertisement--

राज्य शासन से सहायता राशि हुई बंद, सात सालों से भारत माता मंदिर में नहीं लग रहा शहीद मेला

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 04:31 AM IST

Khargon News - भास्कर संवाददाता | बांगरदा/सनावद शहीदों की याद और देश भक्ति की भावना को जागृत करने के उद्देश्य से बड़वाह...

Sanavad News - mp news help funded by state government shaheed fair not seen in bharat mata temple for seven years
भास्कर संवाददाता | बांगरदा/सनावद

शहीदों की याद और देश भक्ति की भावना को जागृत करने के उद्देश्य से बड़वाह विधानसभा क्षेत्र के ग्राम बांगरदा में भारत माता का मंदिर स्थापित किया गया था। साथ ही यहां पर शहीदों की याद में मेला शुरू किया गया था लेकिन करीब 7 सालों से निरंतर उपेक्षा के कारण भारत माता मंदिर मप्र स्तर पर अपना स्थान नहीं बना पाया है। साथ ही यहां लगने वाला मेला भी राज्य शासन से सहायता राशि बंद होने के कारण बंद कर दिया गया है। इस मेले को दोबारा शुरू करने के उद्देश्य को लेकर ग्रामीणों ने विधायक सचिन बिरला व संस्कृति मंत्री डॉ. विजयालक्ष्मी साधौ को आवेदन भी सौंपा है।

खरगोन जिला मुख्यालय से 90 किमी दूर विकासखंड की ग्राम पंचायत बांगरदा, ग्राम बांगरदा के ग्राम पंचायत भवन से कुछ दूर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के पास राष्ट्रीय देवी भारत माता का मंदिर है। मंदिर के गर्भगृह में भारत माता की आदमकद प्रतिमा स्थापित है। प्रतिमा की पीछे की दीवार पर राष्ट्र ध्वज के रंगों से भारत की पृष्ठभूमि बनी हुई है। प्रतिमा के ठीक सामने अमर क्रांतिकारी शहीद भगतसिंह की सैनिक वेशभूषा में प्रतिमा स्थापित है। जो भारत माता को अपना सिर बलिदान कर पूजा की थाली में समर्पित कर रही है। मंदिर में प्रवेश करते ही भविष्य की प्रतिमा देश भक्ति व मातृभूमि के प्रति समर्पण का भाव पैदा करता है। मंदिर की बाहरी दीवारों पर शहीद चंद्रशेखर आजाद, वीर शिवाजी, महाराणा प्रताप व खरगोन जिले के अमर शहीद राजेंद्र यादव के रंगीन चित्र बने हुए हैं। इस मंदिर के प्रांगण में 30 जनवरी 1969 से अमर शहीदों की याद में प्रतिवर्ष शहीद दिवस पर 30 जनवरी से 15 फरवरी तक मेले का आयोजन जनपद पंचायत द्वारा किया जाता था लेकिन राज्य शासन द्वारा वित्तीय सहयोग नहीं मिलने से करीब 7 साल से जनपद पंचायत द्वारा मेले के आयोजन में रुचि नहीं ली जा रही है। 3 साल से तो जनपद पंचायत बड़वाह द्वारा शहीद मेला आयोजन की औपचरिकता मात्र एक दिन में शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित कर पूरी की जा रही है।

विधायक बिरला को आवेदन देकर मेला शुरू कराने की मांग करते ग्रामीण।

ग्रामीणों ने कहा- देशभक्ति का संदेश लेकर जाएंगे यहां आने वाले पर्यटक

ग्राम पंचायत बांगरदा के सरपंच कल्याणी पंवार ने विधायक सचिन बिरला को प्रस्तुत ज्ञापन में बताया कि ग्राम पंचायत द्वारा भारत माता मंदिर के निर्माण व शहीद मेले के आयोजन में राज्य शासन की भागीदारी के लिए प्रस्ताव राज्य शासन को भेजे गए लेकिन शासन की ओर से आज तक सकारात्मक पहल नहीं हुई। ग्राम पंचायत द्वारा पिछले 47 सालों की परंपरा का निर्वहन करने के लिए जन सहयोग से शहीद मेले के आयोजन को जारी रखने का प्रयास किया जाता है। आप ने मांग की है कि राज्य सरकार द्वारा समिति नर्मदा तट पर हनुमंतिया टापू पर जल महोत्सव आयोजन कर व पर्यटन स्थल विकसित कर करोड़ों रुपए खर्च किए जा रहे हैं। इसी कड़ी में बांगरदा के भारत माता मंदिर प्रांगण का विकास कर पर्यटन में जोड़ दिया जाए तो दूर-दूर से आने वाले पर्यटक हनुमंतिया टापू के बाद भारत माता मंदिर प्रांगण में पहुंचकर राष्ट्रभक्ति का संदेश लेकर जाएंगे।

कई मंत्रियों और जनप्रतिनिधियों ने की घोषणा, आज तक नहीं मिली राशि

मप्र के एकमात्र इस भारत माता मंदिर प्रांगण में 31 जनवरी 1979 को तत्कालीन मुख्यमंत्री वीरेंद्र कुमार सकलेचा ने शहीद स्मारक भवन निर्माण की आधारशिला रखी थी। उसके बाद 21 जनवरी 1999 को तत्कालीन मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह ने भारत माता मंदिर प्रांगण में आयोजित पंच सरपंच सम्मेलन में भारत माता मंदिर का जीर्णोद्धार कर भव्य मंदिर निर्माण की घोषणा की थी। इसके परिपालन में जिला प्रशासन खरगोन द्वारा 11 लाख रुपए का प्राक्कलन बनाकर तकनीकी स्वीकृति प्रदान कर प्रस्ताव की स्वीकृति के लिए मुख्यमंत्री सचिवालय भोपाल भेजा गया था। मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह द्वारा स्वेच्छानुदान कोष से एक लाख रुपए की राशि स्वीकृत कर किसी जिला स्तरीय योजना से स्वीकृत करने के लिए जिला प्रशासन खरगोन को दिए थे लेकिन तत्कालीन कलेक्टर खरगोन अनिरुद्ध मुखर्जी ने राशि की स्वीकृति नहीं दी।

मुख्यमंत्री सचिवालय ने ग्रामीण यांत्रिकी विभाग खरगोन को दिए थे एक लाख रुपए

भारत माता मंदिर निर्माण का प्रस्ताव मात्र कागजी फाइल बनकर रह गया। मुख्यमंत्री सचिवालय द्वारा स्वेच्छानुदान कोष से एक लाख रुपए की राशि ग्रामीण यांत्रिकी विभाग खरगोन को दी थी, जिसका आज तक उपयोग नहीं हो पाया। खंडवा लोकसभा सांसद व भाजपा पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमारसिंह चौहान ने विकास यात्रा के दौरान भारत माता मंदिर में श्रद्धा सुमन अर्पित कर 5 लाख रुपए की घोषणा की थी लेकिन घोषणा मात्र तालियां बजाने तक सीमित हो गई।

X
Sanavad News - mp news help funded by state government shaheed fair not seen in bharat mata temple for seven years
Astrology

Recommended

Click to listen..