• Hindi News
  • Mp
  • Khargon
  • KASRAWAD News mp news leopard returned near the cage because it was not covered by leaves and bushes fear persisted

पिंजरे के पास आकर लौट गया तेंदुआ क्योंकि इसे पत्तों व झाड़ियों से नहीं ढंका, भय बरकरार

Khargon News - नर्मदा पट्‌टी के गांव लेपा व उसके आसपास के क्षेत्र में पिछले एक माह से तेंदुए को लेकर भय बरकरार है। क्षेत्र में...

Jan 16, 2020, 08:11 AM IST
KASRAWAD News - mp news leopard returned near the cage because it was not covered by leaves and bushes fear persisted
नर्मदा पट्‌टी के गांव लेपा व उसके आसपास के क्षेत्र में पिछले एक माह से तेंदुए को लेकर भय बरकरार है। क्षेत्र में पगमार्क मिलने व तेंदुए के गांव तक पहुंचने के बाद विभाग ने जंगल में पिंजरा लगाया। लेकिन इसे पत्तों व झाड़ियों से ढंका नहीं गया है। इस कारण मंगलवार की रात पिंजरे के पास तक आने के बाद भी तेंदुआ वहां से लौट गया। बुधवार की सुबह पिंजरे से कुछ ही दूरी पर इसके पगमार्क देखे गए। रेंजर का कहना है पिंजरे को व्यवस्थित रूप से ढंकवाया जाएगा।

करीब एक माह से लेपा गांव व उसके आसपास तेंदुए के पगमार्क देखे जा रहे हैं। यह गांव के चरवाहे की बकरी और क्षेत्र में आए भेड़ पालकों के कुत्ते पर हमला कर चुका है। एक सप्ताह पहले तेंदुआ गांव तक पहुंचा और दो कुत्तों को अपना शिकार बनाया। ग्रामीणों की लगातार सूचना के बाद वनकर्मी पहुंचे। सर्चिंग में तेंदुए के साथ शावक के पगमार्क भी पाए गए। इसके बाद विभाग ने गांव के पास पिंजरा रखवाया। लेकिन तेंदुए को ललचाने के लिए इसमें एक दिन ही शिकार रखा। वनकर्मी सर्चिंग के लिए भी नहीं पहुंचे। ग्रामीणों की शिकायत के बाद विभाग ने इसकी सुध ली।

वन्य प्राणी
1 माह से लेपा क्षेत्र में तेंदुए के पगमार्क देखे जा रहे हैं

लेपा क्षेत्र में रखे पिंजरे से 4 फीट दूरी पर तेंदुए के पगमार्क देखे गए।

इधर... जंगली सूअर ने मजदूर पर किया हमला, आए 10 टांके

कसरावद |
तेंदुए के साथ क्षेत्र के किसान जंगली सुअरों से भी परेशान है। माकड़खेड़ा के किसान प्रदीप पटेल ने बताया 3 दिन पहले सोमवार को खेत में गन्ना काट रहे मजदूर प्रकाश (48) पर फसल के बीच बैठे जंगली सूअर ने हमला कर दिया। वह खुद को संभालता उससे पहले सूअर ने उसके पैर को पकड़ा और घसीटने लगा। प्रकाश के चिल्लाने पर कुछ ही दूरी पर खेत में काम करने वाले मजदूर पहुंचे। इन्हें देख जंगली सूअर भाग निकला। सूअर ने प्रकाश के हाथ व पैर को नोंच दिया। 10 टांके आए। कसरावद अस्पताल में प्राथमिक इलाज के बाद इसे सोमवार की दोपहर खरगोन रैफर किया गया। रैबीज के इंजेक्शन लगाए गए। 3 दिन तक भर्ती रहने के बाद प्रकाश बुधवार को गांव लौटा। विभाग को आर्थिक सहायता देना चाहिए। रेंजर सचिन सयदे का कहना है मजदूर ने वन विभाग को सूचना नहीं दी। वन्य प्राणी के हमले से घायल होने पर प्रारंभिक तौर पर 1000 से 2000 रुपए तक इलाज के लिए देने का नियम है। इसके बाद वन्य प्राणी अधिनियम के तहत अस्पताल का खर्च भी वहन किया जाता है। लेकिन वन विभाग को सूचना नहीं दी गई।

शावक की उम्र पता करने नहीं लगाए नाइट विजन कैमरे

तेंदुए के साथ शावक के भी होने से वन विभाग ने इसका रेस्क्यू करने में असमर्थता जताई थी। विभाग का कहना है तेंदुए के पकड़े जाने पर शावक की जान जा सकती है। इसलिए पहले नाइट विजन कैमरे लगाकर शावक की उम्र का पता लगाया जाएगा। जानकारी के अनुसार विभाग के पास दो नाइट विजन कैमरे है। लेकिन यह खराब है। लेकिन एक सप्ताह बाद भी विभाग ने इनकी मरम्मत नहीं करवाई। ग्रामीणों का कहना है विभाग तेंदुए को लेकर गंभीर नहीं है। किसानों को रात में सिंचाई करने जाने के दौरान हर समय खतरा बना हुआ है। विभाग को रेस्क्यू को लेकर प्रयास करना चाहिए।

पिंजरे से 4 फीट दूर मिले पगमार्क

गांव के संतोष यादव व नानूराम ने कहा मंगलवार-बुधवार की रात तेंदुआ जंगल में रखे पिंजरे तक पहुंचा। लेकिन इसे पूरी तरह नहीं ढंकने से वह शिकार रखा होने के बाद भी वापस लौट गया। सुबह पिंजरे से 4 फीट दूर तेंदुए के पगमार्क देखे गए। दो दिन पहले भी पिंजरे के पास तक तेंदुआ आया था। विभाग को पिंजरे को चारों से ढंकवाना चाहिए।

कैमरे दुरुस्त करवाएंगे


KASRAWAD News - mp news leopard returned near the cage because it was not covered by leaves and bushes fear persisted
X
KASRAWAD News - mp news leopard returned near the cage because it was not covered by leaves and bushes fear persisted
KASRAWAD News - mp news leopard returned near the cage because it was not covered by leaves and bushes fear persisted
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना