पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नारी सुरक्षा के लिए बनाए कानूनांे का हो रहा दुरुपयोग, उसमें हो संशोधन

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

महिला उत्थान मंडल ने सौंपा कलेक्टर को ज्ञापन, बोले- संतों को जेल से रिहा करो

महिला उत्थान मंडल की महिलाओं ने शनिवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के नाम एसडीएम अभिषेक गहलोत को दोपहर को ज्ञापन सौंपा। महिलाओं ने नारी सुरक्षा के लिए बनाए गए कानूनांे में संशोधन कराने की मांग करते हुए कहा कि इनका दुरुपयोग ज्यादा हो रहा है। इन कानूनांे का दुुरुपयोग कर देश के कई संतांे को फंसाया गया है।

मंडल अध्यक्ष शारदा गुप्ता ने बताया कई घटनाओं की पृष्ठभूमि में किन्हीं षड्यंत्रांे के तहत सनातन संस्कृति को तोड़ने का प्रयास किया। इसी के तहत संतांे पर झूठे प्रकरण दर्ज कराकर उनका चरित्र को बदनाम किया। कांची कामकोटी पीठ के शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती जी, साध्वी प्रज्ञा को झूठा फंसाया और उन्हें कारावास सहना पड़ा। संत आशाराम को भी षड्यंत्र के तहत फंसाया गया है। इस मौके पर कृष्णा सिसोदिया, विमला घोड़के, गीतांजली तिवारी, गायत्री पाटीदार, नलिनी पटेल, नर्मदा पटेल अादि मौजूद थीं।

खबरें और भी हैं...